ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी क्या हैं। What is Brain Aneurysm Surgery in Hindi

Dr Deepu Banerji

Dr Deepu Banerji

Neurosurgeon, Jaslok Hospital, 31 years of experience

अगस्त 11, 2021 Brain Diseases 154 Views

English हिन्दी Bengali العربية

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी क्या है?

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी एक ऐसी सर्जिकल प्रक्रिया है जिसका उपयोग मस्तिष्क की एक उभरी हुई रक्त वाहिका (ब्रेन एन्यूरिज्म) के इलाज के लिए किया जाता है, जो फट चुकी है या फटने वाली है। मस्तिष्क धमनीविस्फार के टूटने से सबराचनोइड रक्तस्राव होता है जिसका मतलब है मस्तिष्क और उसके आसपास के झिल्ली के बीच के क्षेत्र में रक्तस्राव। मस्तिष्क धमनीविस्फार जीवन के लिए खतरनाक स्थिति है जो बड़े मस्तिष्क क्षति और विकलांगता का कारण बन सकती है।

मस्तिष्क धमनीविस्फार का टूटना इस पर निर्भर करता है। 

  • जैसे – एन्यूरिज्म का आकार (7 मिमी से कम के फटने की संभावना कम होती है)
  • एन्यूरिज्म की जगह। 
  • आपकी उम्र। 
  • पारिवारिक इतिहास। 
  • अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियां। 

आइए आज के लेख में आपको ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

  • ब्रेन एन्यूरिज्म के लक्षण क्या हैं?  (What are the symptoms of Brain Aneurysm in Hindi)
  • मस्तिष्क धमनीविस्फार के जोखिम को बढ़ाने वाले कारक ? (Factors increasing the risk of Brain Aneurysm in Hindi)
  • ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी से पहले की तैयारी ? (Preparation before Brain Aneurysm Surgery in Hindi)
  • ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी कैसे की जाती हैं ? (What is the Procedure of Brain Aneurysm Surgery in Hindi)
  • ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के बाद की देखभाल ? (Care After Brain Aneurysm Surgery in Hindi)
  • ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के जोखिम क्या हैं? (What are the Risks of Brain Aneurysm Surgery in Hindi)
  • भारत में ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी की कीमत क्या है? (What is the Cost of Brain Aneurysm Surgery in India in Hindi)

ब्रेन एन्यूरिज्म के लक्षण क्या हैं?  (What are the symptoms of Brain Aneurysm in Hindi)

अधिकांश मस्तिष्क धमनीविस्फार टूटते नहीं हैं और लक्षण भी दिखाई नहीं देते हैं। इसलिए, यहा किसी का ध्यान नहीं जा सकता हैं। हालांकि अन्य स्थितियों के परीक्षण के दौरान अक्सर इन अनियंत्रित एन्यूरिज्म का पता लगाया जाता है।

अधिकांश मस्तिष्क धमनीविस्फार केवल एक बार फटने के बाद लक्षण उत्पन्न करते हैं। इसमे शामिल है। 

  • अचानक से गंभीर सिरदर्द जिसे किसी व्यक्ति द्वारा अनुभव किए गए सबसे खराब प्रकार के सिरदर्द के रूप में बताया गया है जिसे “थंडरक्लैप सिरदर्द” भी कहा जाता है। 
  • कड़ी गर्दन होना। 
  • मतली और उल्टी आना। 
  • आंखों के पास या पीछे दर्द होना। 
  • नजर धुंधली होना या दोहरी दृष्टि। 
  • सुन्न हो जाना। 

टूटा हुआ मस्तिष्क धमनीविस्फार सबराचोनोइड रक्तस्राव का कारण बन सकता है और इनमें से 5 में से लगभग 3 मरीज 2 सप्ताह के अंदर मर जाते जाते है और जो बच जाते हैं उनमें से आधे मस्तिष्क की गंभीर क्षति से पीड़ित होते हैं।

मस्तिष्क धमनीविस्फार के जोखिम को बढ़ाने वाले कारक ? (Factors increasing the risk of Brain Aneurysm in Hindi)

मस्तिष्क धमनीविस्फार के जोखिम को बढ़ाने वाले कारक में शामिल हैं। 

  • पारिवारिक इतिहास। 
  • उच्च रक्तचाप। 
  • सिर में गंभीर चोट। 
  • धूम्रपान की लत। 

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी से पहले की तैयारी ? (Preparation before Brain Aneurysm Surgery in Hindi)

सबसे पहले, चिकिस्तक एन्यूरिज्म के कारण का सटीक पता लगाने के लिए निदान हेतु  मरीज की शारीरिक जांच करते है। इसके अलावा चिकिस्तक को पिछले चिकित्सा इतिहास और दवाओं के बारे में बताना महत्वपूर्ण होता है।

  • सीटी स्कैन। 
  • एमआरआई स्कैन। 
  • सेरेब्रल एंजियोग्राम। 

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी कैसे की जाती हैं ? (What is the Procedure of Brain Aneurysm Surgery in Hindi)

ब्रेन एन्यूरिज्म का उपचार दो तरह से किया जा सकता है। इनमें एंडोवस्कुलर कोइलिंग और सर्जिकल क्लिपिंग शामिल हैं। इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक एन्यूरिज्म के आकार, स्थान और आकार पर निर्भर करती है।

  • एंडोवास्कुलर कॉइलिंग – इस प्रक्रिया में कैथेटर नामक एक पतली ट्यूब डाली जाती है, जो आमतौर पर, ग्रोइन क्षेत्र के माध्यम से मस्तिष्क में और अंत में एन्यूरिज्म में। कैथेटर के माध्यम से कंट्रास्ट सामग्री इंजेक्ट की जाती है जो धमनियों और एन्यूरिज्म को देखने में मदद करती है। छोटे प्लैटिनम कॉइल को कैथेटर के माध्यम से एन्यूरिज्म के अंदर घुमावदार यानि कुंडलित करने के लिए निर्देशित किया जाता है। एक बार एन्यूरिज्म कॉइल से भर जाने के बाद रक्त प्रवेश नहीं कर सकता है। यह रक्त के प्रवाह को बाधित करता है जिससे रक्त का थक्का बनता है। इस प्रकार धमनीविस्फार को मुख्य धमनी से सील करना होता है। कभी-कभी, कॉइल को जगह पर रखने के लिए स्टेंट भी डाले जाते हैं और यह निश्चित करते हैं कि रक्त वाहिका खुली रहे। एंडोवास्कुलर कोइलिंग कम आक्रामक होता है।
  • सर्जिकल क्लिपिंग – यह प्रक्रिया सामान्य एनेस्थीसिया के तहत किया जाता है। इस प्रक्रिया में, धमनीविस्फार और इसे आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिकाओं का पता लगाने के लिए खोपड़ी के एक छोटे से भाग को हटा दिया जाता है। फिर रक्त की आपूर्ति को रोकने के लिए धमनीविस्फार की गर्दन पर छोटी धातु की क्लिप लगाई जाती है। एन्यूरिज्म को स्थायी रूप से सील कर दिया जाता है। हालांकि शुरू में हटाए गए खोपड़ी के खंड को बदल देते है और खोपड़ी को एक साथ सिला दिया जाता है। रक्त वाहिका के स्तर अंततः उस रेखा के साथ ठीक हो जाएगी जहां धातु क्लिप रखी गई है, जिससे एन्यूरिज्म को स्थायी रूप से सील कर दिया जाएगा, ताकि भविष्य में इसके विकास या टूटने को रोका जा सके। 

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के बाद की देखभाल ? (Care After Brain Aneurysm Surgery in Hindi)

सर्जरी के बाद पूरी तरह से रिकवर होने में 3 से 6 हफ्ते लग सकते हैं। रक्तस्राव धमनीविस्फार में अधिक समय लग सकता है। क्लिपिंग की तुलना में कॉइलिंग से रिकवरी तुलनात्मक रूप से तेज होती है। ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के बाद, मरीज को रिकवरी रूम में शिफ्ट कर दिया जाता है, जहां चिकिस्तक नियमित रूप से मरीज की स्थिति की निगरानी करते है। आमतौर पर मरीज को 2 से 6 दिनों तक अस्पताल में रहना पड़ता हैं। 

इसके बाद चिकिस्तक कुछ निर्देशों के साथ मरीज को घर जाने की अनुमति इस प्रकार देते हैं। 

  • मरीज को अपना खास ध्यान रखना चाहिए और पर्याप्त मात्रा में नींद व आराम करना चाहिए। 
  • थकान एक सामान्य दुष्प्रभाव है इसलिए घर पर ही मदद करना सुनिश्चित करें।
  • चिकिस्तक द्वारा बताई गई दवाओं का सेवन सही समय पर करना चाहिए।
  • फॉलो अप के लिए नियमित रूप से भाग लेना सुनिश्चित करें। 
  • सीटी स्कैन और एमआरआई यह सुनिश्चित करने के लिए किया जा सकता है कि कोई अन्य चिंता न हो।
  • कुछ महीनों के लिए ज़ोरदार गतिविधि से बचना चाहिए। 
  • अगर आपको किसी तरह की समस्या होती है तो आपको तुरंत अपने चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए।

(और पढ़े –  काउंसलिंग के फायदे क्या हैं)

ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के जोखिम क्या हैं? (What are the Risks of Brain Aneurysm Surgery in Hindi)

सभी सर्जिकल प्रक्रियाओं में कम या अधिक जोखिम होने की संभावना बनी होती है। ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी में निम्न जोखिम जोखिम हैं। 

  • जैसे – सांस लेने में कठिनाई होना। 
  • रक्त का थक्का जमना। 
  • रक्तस्राव होना। 
  • संक्रमण का जोखिम। 
  • मस्तिष्क की सूजन होना। 
  • बरामदगी। 
  • .स्ट्रोक। 
  • भ्रम होना। 
  • दृष्टि में समस्या आना। 
  • बोलने में समस्या होना। 
  • समन्वय की हानि होना। 
  • व्यवहार परिवर्तन होना। 
  • कमजोरी होना। 

 (और पढ़े –  पार्किंसंस रोग क्या हैं)

भारत में ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी की कीमत क्या है? (What is the Cost of Brain Aneurysm Surgery in India in Hindi)

भारत में ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी की कीमत लगभग INR 4,00,000 से INR 6,00,000 तक लग सकता है। 

यदि आप विदेश से आ रहे हैं, तो ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी की लागत के अलावा, आवास और भोजन, स्थानीय यात्रा की लागत आदि की अतिरिक्त लागत होगी। सर्जरी के बाद, रोगी को एक अस्पताल में रहना पड़ता है। कुछ दिनों और उसके बाद रोगी को पूरी तरह से ठीक होने के लिए कुछ दिनों के लिए होटल में रहने की सलाह दी जाती है। तो, ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी की कुल लागत INR 7,00,000 से INR 8,00,000 के आसपास आती है।

हमें उम्मीद है कि हम इस लेख के माध्यम से ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी से संबंधित आपके सवालों के जवाब दे पाए हैं।

यदि आप ब्रेन एन्यूरिज्म सर्जरी के बारे में अधिक जानकारी और उपचार चाहते हैं, तो आप किसी Neurosurgeonसे संपर्क कर सकते हैं।

हमारा उद्देश्य केवल इस लेख के माध्यम से आपको जानकारी देना है। हम किसी भी तरह से दवा, इलाज की सलाह नहीं देते हैं। केवल एक डॉक्टर ही आपको सबसे अच्छी सलाह दे सकता है।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox