लकवा के मरीजों का डाइट प्लान । Diet Plan for Paralysis Patients in Hindi

Login to Health मई 10, 2021 Brain Diseases 309 Views

हिन्दी

पैरालिसिस का मतलब हिंदी में,    (Paralysis Meaning in Hindi)

लकवा के मरीजों का डाइट प्लान

पैरालिसिस एक दुर्लभ बीमारी है जो शरीर के आधे भाग को सुन्न यानि काम करना बंद हो जाता है। इसके अलावा अन्य भाग में कुछ पता नहीं चलता हैं। इस बीमारी से पीड़ित लोगो के मुंह, होंठ या पैर टेढ़े हो जाते है। अक्सर लोग समझ नहीं पाते पैरालिसिस से जुड़े लोगो को आहार में क्या देना चाहिए जिससे उनके स्वास्थ्य सुधार हो सके साथ ही स्वास्थ्य स्वस्थ रहे। चिकिस्तक के अनुसार यदि जीवनशैली में थोड़ा परिवर्तन व भोजन में बदलाव किया जाये तो पैरालिसिस के प्रभाव को कम किया जा सकता है। चलिए आज के लेख के माध्यम से आपको पैरालिसिस मरीज के डाइट प्लान और जीवनशैली के बारे में बताने वाले हैं। 

  • पैरालिसिस क्या हैं ? (What is Paralysis in Hindi)
  • पैरालिसिस पेशेंट के लिए डाइट प्लान ? (Deit Plan for Paralysis Patient in Hindi)
  • पैरालिसिस पेशेंट को क्या खाना चाहिए ? (Foods for Paralysis Patient in Hindi)
  • पैरालिसिस पेशेंट को क्या नहीं खाना चाहिए ? (Foods to Avoid in Paralysis in Hindi)
  • पैरालिसिस पेशेंट की जीवनशैली ? (Lifestyle of Paralysis Patient in Hindi)

पैरालिसिस क्या हैं ? (What is Paralysis in Hindi)

पैरालिसिस को लकवा भी कहा जाता है यह वायु रोग की तरह होता है। इस बीमारी में व्यक्ति की शारीरिक क्रिया रुक जाती है। पैरालिसिस होने का कारण कोई बड़ा सदमा या दुर्घटना हो सकता है। इसमें शरीर की कुछ मांसपेशिया काम करना बंद कर देती है। पैरालिसिस शरीर के किसी भी भाग में हो सकता हैं। पैरालिसिस होने से हाथ व पैर काम करना बंद कर देते है। इसे एक तरह से न्यूरोजिकल बीमारी का भाग कह सकते है। 

(और पढ़े – सेरेब्रल पाल्सी रोग क्या हैं)

पैरालिसिस पेशेंट के लिए डाइट प्लान ? (Diet Plan for Paralysis Patient in Hindi)

पैरालिसिस पेशेंट के डाइट प्लान  नमूना के तौर पर बताने वाले है। हालांकि आपको किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी है तो इसका सेवन से परहेज कर सकते है। 

  • सुबह सुबह उठकर बिना मुंह धोये एक ग्लास गुनगुना पानी पीना चाहिए। 
  • सुबह 8 से 8. 30 के बीज नाश्ते में पैरालिसिस पेशेंट को एक कप दूध, दलिया, पोहा, उपमा, अंकुरित अनाज, एक कटोरी सब्जी, फलो का सलाद जैसे केला, सेब, पपीता, चेरी, तरबूज, आम, अनार आदि का सेवन कर सकते हैं। 
  • दिन का खाना 12.30 से 1. 30 बजे के बिच पैरालिसिस पेशेंट को एक कटोरी चावल, एक कटोरी हरी सब्जी, एक कटोरी दाल, एक प्लेट सलाद ले सकते है। 
  • शाम के नाश्ते 5 से 6 बजे के बिच में पैरालिसिस पेशेंट को एक कप हर्बल टी, सब्जियों का सुप पीना चाहिए। 
  • रात के भोजन 7 से 8 बजे के बिच में पैरालिसिस पेशेंट को एक कटोरी हरी सब्जी, एक कटोरी दाल, एक या दो पतली रोटियां ले सकते है। 
  • रात को सोने से पहले पैरालिसिस पेशेंट को एक ग्लास दूध के साथ अश्वगंधा चूर्ण ले सकते है। 

पैरालिसिस पेशेंट को क्या खाना चाहिए ? (Foods for Paralysis Patient in Hindi)

पैरालिसिस पेशेंट को अपने खान पान का विशेष ध्यान देने की जरूरत है। चलिए आगे बताते है पैरालिसिस पेशेंट को आहार में क्या लेना चाहिए। 

पैरालिसिस पेशेंट को क्या नहीं खाना चाहिए ? (Foods to Avoid in Paralysis in Hindi)

पैरालिसिस पेशेंट को निम्न चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। चलिए आगे बताते हैं। 

  • जैसे – नया अनाज। 
  • मैदा। 
  • अरहर। 
  • मैदा। 
  • चना। 
  • आलू। 
  • टमाटर। 
  • फूल गोभी। 
  • करेला। (और पढ़े – करेला के फायदे और नुकसान)
  • जामुन। 
  • तेल व घी अत्यधिक सेवन। 
  • सुपारी। 
  • चाट। 
  • पकोड़ा। 
  • आइसक्रीम। 
  • मक्खन। 
  • पूरी। 
  • अत्यधिक नमक। 
  • छोले। 
  • राजमा। 
  • कटहल। 
  • बैंगन। 
  • पनीर। 
  • चॉकलेट। 
  • तला हुआ भोजन। 
  • कठिनाई से पचने वाला। 
  • तैलीय भोजन। 
  • मसालेदार भोजन। 
  • अचार। 
  • अधिक नमक। 
  • कोल्ड ड्रिंक। 
  • बेकरी उत्पाद। 
  • शराब। 
  • फ़ास्ट फ़ूड। 
  • शीतल पेय। 
  • डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ। 
  • जंक फ़ूड। (और पढ़े – बवासीर रोग का इलाज क्या हैं

पैरालिसिस पेशेंट की जीवनशैली ? (Lifestyle of Paralysis Patient in Hindi)

पैरालिसिस पेशेंट की जीवनशैली की बात करे तो उपचार के दौरान निम्न चीजे कर सकते है। 

हमें आशा है की आपके प्रश्न लकवा के मरीजों का डाइट प्लान ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको लकवा (पैरालिसिस) के बारे में अधिक जानकारी व इलाज करवाना हो, तो (Neurologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Neurologist in Delhi

Best Neurologist in Mumbai

Best Neurologist in Chennai

Best Neurologist in Bangalore