गैस्ट्रिक कैंसर क्या हैं। Gastric cancer in Hindi

Login to Health नवम्बर 24, 2020 Cancer Hub 45 Views

हिन्दी

गैस्ट्रिक कैंसर क्या हैं ? What is Gastric Cancer

गैस्ट्रिक कैंसर क्या हैं? पेट के कैंसर को गैस्ट्रिक कैंसर भी कहा जाता है। गैस्ट्रिक कैंसर एक प्रकार का कैंसर है जो पेट में उत्पन्न होता है और पेट में असामान्य घातक द्रव्यमान या ट्यूमर के विकास को बढ़ाता है। यदि अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो कैंसर पेट के अस्तर के माध्यम से या रक्तप्रवाह के माध्यम से आस-पास के अंगों को मेटास्टेसाइज (फैला) कर सकता है। पेट के कैंसर का उपचार उसके प्रकार, आकर व स्तर के आधार पर सर्जरी, विकिरण या कीमोथेरेपी का उपयोग किया जाता है। हालांकि पेट या गैस्ट्रिक कैंसर के निम्न प्रकार हो सकते हैं। इनमे एडेनोकार्सिनोमा, लिम्फोमा, कार्सिनॉयड ट्यूमर शामिल है। 

  • एडेनोकार्सिनोमा (Adenocarcinoma) कैंसर को संदर्भित करता है जो कि श्लेष्मा नामक पेट के अंतरतम अस्तर में बनता है।
  • लिम्फोमा (Lymphoma) इस प्रकार में लिम्फ नोड्स का कैंसर है जो पेट की दीवारों पर पाया जाता है।
  • कार्सिनॉयड ट्यूमर (Carcinoid tumor) इस प्रकार में पेट की कोशिकाओं को बनाने वाले हार्मोन में पाया जाने वाला एक धीमी गति से बढ़ता कैंसर है। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार पूरी दुनिया में पेट या गैस्ट्रिक कैंसर के कारण 7000000 लोगो ने अपनी जान गवा दी है। अगर भारत की बात करे तो अन्य देशो के मुकाबले पेट के कैंसर के मरीज बहुत कम मिलते है। पेट या गैस्टिक कैंसर के शुरुवाती लक्षण नजर आने पर उपचार करवा लेना चाहिए ताकि जटिल समस्या से बचा जा सके। चलिए आज के लेख में आपको गैस्ट्रिक कैंसर के बारे में विस्तार से बतायेंगे। 

  • गैस्ट्रिक कैंसर के लक्षण क्या हैं ? (Symptoms of Gastric cancer in Hindi)
  • गैस्ट्रिक कैंसर के कारण क्या हैं ? (Causes of Gastric cancer in Hindi)
  • गैस्ट्रिक कैंसर का निदान कैसे होता हैं ? (Diagnoses of Gastric cancer in Hindi)
  • गैस्ट्रिक कैंसर का उपचार क्या हैं ? (Treatments for Gastric cancer in Hindi)
  • गैस्ट्रिक कैंसर से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Gastric cancer in Hindi)

गैस्ट्रिक कैंसर के लक्षण क्या हैं ? (Symptoms of Gastric cancer in Hindi)

पेट या गैस्ट्रिक कैंसर के निम्नलिखित लक्षण या संकेत हो सकता है। 

गैस्ट्रिक कैंसर के शुरुआती चरणों के लक्षण में – 

  • अपच और पेट की परेशानी।
  • खाने के बाद एक फूला हुआ एहसास।
  • हल्का मतली।
  • भूख में कमी।
  • पेट में जलन।

गैस्ट्रिक कैंसर के अधिक उन्नत चरणों के संकेत और लक्षण हो सकते हैं। 

  • मल में खून आना।
  • उल्टी।
  • बिना किसी कारण के वजन कम होना।
  • पेट दर्द।
  • पीलिया (आंखों और त्वचा का पीला पड़ना)। (और पढ़े – बच्चों में पीलिया की समस्या)
  • जलोदर (पेट में तरल पदार्थ का निर्माण)।
  • निगलने में परेशानी।

गैस्ट्रिक कैंसर के कारण क्या हैं ? (Causes of Gastric cancer in Hindi)

पेट या गैस्टिक कैंसर का सटीक कारण स्पष्ट नहीं है हालांकि कुछ अनुसंधान के अनुसार कुछ कारक हो सकते है जो कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते है। 

  • तंबाकू का अत्यधिक या सिगरेट पीने से पेट या गैस्टिक कैंसर का जोखिम बढ़ सकता है। 
  • अधिक मोटापा या वजन होने पर गैस्टिक कैंसर का जोखिम हो सकता है। 
  • कुछ अध्ययन के अनुसार शराब का अत्यधिक सेवन गैस्टिक कैंसर को बढ़ावा दे सकता है। 
  • आहार में अधिक नमक व स्मोक्ड खाद्य पदार्थ लेने व फलों और सब्जियों का बहुत कम सेवन करना पेट के कैंसर का जोखि पैदा कर सकता है।
  • कुछ मामलो में चार में से एक कैंसर में हेलिकोबैक्टर पाइलोरी संक्रमण के कारण पेट में सूजन या छाले व गैस्टिक कैंसर का जोखिम हो सकता है। (और पढ़े – मुंह का कैंसर क्या है)

गैस्ट्रिक कैंसर का निदान कैसे होता हैं ? (Diagnoses of Gastric cancer in Hindi)

गैस्ट्रिक कैंसर का निदान करने के लिए मरीज का शारीरिक परीक्षण किया जाता है। इसमें मरीज से लक्षणो के बारे में व पुरानी बीमारियों के बारे में पूछते है ताकि उचित निदान कर कैंसर की पहचान की जा सके। कुछ अन्य परीक्षण कर सकते है। 

  • जैसे – ब्लड टेस्ट अंग समूह को मापने के लिए रक्त परीक्षण से संकेत मिल सकता है कि आपके शरीर के अन्य अंग, जैसे कि आपका जिगर, कैंसर से प्रभावित हो सकता है या नहीं। 
  • अपर एंडोस्कोपी इस प्रक्रिया में एक छोटे से कैमरे वाली एक पतली ट्यूब आपके गले और आपके पेट के नीचे से गुज़री जाती है। चिकिस्तक इसका उपयोग कैंसर के लक्षणों को देखने के लिए कर सकता है।(और पढ़े – एंडोस्कोपी क्यों किया जाता है)
  • बायोप्सी यदि ऊपरी एंडोस्कोपी के दौरान कोई भी संदिग्ध क्षेत्र पाया जाता है, तो परीक्षण के लिए ऊतक का एक नमूना निकालने के लिए विशेष उपकरणों का उपयोग किया जा सकता है। नमूना को विश्लेषण के लिए एक प्रयोगशाला में भेजा जाता है। 
  • इमेजिंग टेस्ट पेट के कैंसर को देखने के लिए उपयोग किए जाने वाले इमेजिंग परीक्षणों में सीटी स्कैन और एक विशेष प्रकार की एक्स-रे परीक्षा शामिल है जिसे बेरियम निगल कहा जाता है।

गैस्ट्रिक कैंसर का उपचार क्या हैं ? (Treatments for Gastric cancer in Hindi)

  • पेट या गैस्ट्रिक कैंसर का इलाज सर्जरी, विकिरण, कीमोथेरेपी और दवाओं की मदद से किया जा सकता है। हालांकि, कीमोथेरेपी और विकिरण हमेशा कैंसर से पूरी तरह से छुटकारा नहीं देते हैं और केवल ट्यूमर के आकार को कम करने या लक्षणों से राहत देने में सहायक हो सकते हैं। इसलिए सर्जरी पूरी तरह से ट्यूमर को हटाने और शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने से रोकने के लिए आवश्यक है।(और पढ़े – कीमोथेरेपी क्या हैं)
  • ट्यूमर की वृद्धि और आकार के आधार पर, सर्जन पेट के एक हिस्से (सबटोटल गैस्ट्रेटोमी) या पूरे पेट (कुल गैस्ट्रेक्टोमी) को हटा सकता है। कीमोथेरेपी और विकिरण शायद सर्जरी के साथ प्रशासित।

गैस्ट्रिक कैंसर से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Gastric cancer in Hindi)

गैस्ट्रिक कैंसर का कोई सटीक कारण ज्ञात नहीं है लेकिन अपने जीवनशैली में कुछ बदलाव कर पेट के कैंसर के जोखिम को कम किया जा सकता हैं। 

  • रोजाना व्यायाम करना चाहिए ताकि अपने आप को फिट रख सके और  पेट के कैंसर से बचाव कर सके। 
  • अपने भोजन में फल और सब्जियों को अधिक शामिल करें। 
  • अधिक नमक वाले आहर व भुने स्नैक्स खाने से बचना चाहिए। 
  • यदि आप धूम्रपान या शराब पीते है तो इस आदत को बदल देना चाहिए ताकि पेट के कैंसर के जोखिम न हो। 
  • किसी भी तरह की दवा लेने से पहले अपने चिकिस्तक की सलाह लेना चाहिए। 
  • यदि किसी व्यक्ति गैस्ट्रिक कैंसर के लक्षण या संकेत का अनुभव होने पर चिकिस्तक से जांच करवाना चाहिए। 

हमें आशा है की आपके प्रश्न गैस्ट्रिक कैंसर क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको पेट या गैस्टिक कैंसर के बारे में अधिक जानकारी एव इलाज करवाना हो तो (Surgical Oncologist/Cancer Surgeon) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Oncologist/Cancer Surgeon in Delhi

Best Oncologist/Cancer Surgeon in Mumbai

Best Oncologist/Cancer Surgeon in Chennai

Best Oncologist/Cancer Surgeon in Bangalore