छाती में दर्द का घरेलू उपचार। Home Remedies for Chest Pain in Hindi.

Login to Health अक्टूबर 19, 2020 Chest Diseases 1255 Views

हिन्दी

छाती में दर्द (सीने) का मतलब हिंदी में ।   (Chest Pain Meaning in Hindi)

छाती में दर्द होने की समस्या अक्सर छाती में किसी तरह की समस्या के कारण हो सकता है। छाती में दर्द होने पर व्यक्ति को कई तरह के लक्षण महसूस होने लगते है। इन लक्षणो में छाती में भारीपन, छाती में तेज या कम दर्द और चुभन आदि शामिल है। कुछ लोगो को छाती में दर्द होने से प्रभाव जबड़ो और गर्दन पर पड़ सकता है। कुछ अध्ययन के अनुसार व्यक्ति में पित्त, कफ या वात जैसी समस्या से सीने में दर्द उत्पन्न होने लगता है। बहुत से लोगो में किसी बड़ी बीमारी के कारण छाती में दर्द हो सकता है। ऐसे में लोगो को चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए। यदि शुरुवाती छाती में दर्द हो रहा है तो आप कुछ निम्न घरेलू उपचार का उपयोग कर सकते है। चलिए आज के लेख के माध्यम से छाती में दर्द के घरेलू उपचार के बारे में बताने वाले हैं।

  • छाती में दर्द क्यों होता हैं ? (Causes of Chest Pain in Hindi)
  • छाती में दर्द (सीने) का घरेलू उपचार क्या हैं ? (Home Remedies for Chest Pain in Hindi)

छाती में दर्द क्यों होता हैं ? (Causes of Chest Pain in Hindi)

छाती यानि सीने में दर्द अनेको कारण से हो सकता है। किसी व्यक्ति को सीने में दर्द एक साइड से होता है तो किसी आधे भाग में दर्द होता है। इसके अलावा किसी को अधिक दर्द या कम दर्द हो सकता है। हालांकि छाती में दर्द होने के कई कारण होते है, चलिए आगे बताते है। 

  • फेफड़े से जुडी समस्या जैसे निमोनिया, फेफड़ो से हवा का रिसाव व फेफड़ो के आस-पास सूजन आदि के कारण सीने में दर्द की समस्या हो सकती है। 
  • हृदय के समीप थैली में सूजन होने की समस्या व हृदय रोग के कारण सीने में दर्द हो सकता है। 
  • किसी तरह का फ्रैक्चर या चोट के कारण सीने में दर्द की समस्या हो सकती है। (और पढ़े – हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी क्या है)

छाती में दर्द (सीने) का घरेलू उपचार क्या हैं ? (Home Remedies for Chest Pain in Hindi)

छाती में दर्द होने की समस्या को दूर करने के निम्नलिखित घरेलू उपचार है। 

  • तुलसी तुलसी में बहुत से औषधीय गुण है जो कई तरह की स्वास्थ्य समस्या को ठीक करने में मदद करता है। तुलसी के पत्ते में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम होता है और कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकता है जो छाती के दर्द से बचाव करने में मदद करता है। तुलसी ह्रदय की समस्या के साथ छाती की समस्या को कम करता है। तुलसी का उपयोग करने के लिए ताजी पत्तियों के रस निकाल कर स्वाद के लिए शहद मिलाकर पी सकते है। इस प्रक्रिया से छाती के दर्द से आराम मिलता है। 
  • एलोवेरा एलोवेरा एक प्रसिद्ध जड़ीबूटी में से एक है। इसका उपयोग त्वचा व अन्य समस्या के लिए किया जाता है। एलोवेरा में कुछ ऐसे औषधीय गुण मौजूद होते है जो हृदय संबंधित समस्या को दूर कर छाती के दर्द से आराम दिलाता है। एलोवेरा का उपयोग करने के लिए एक चम्मच एलोवेरा के रस को एक ग्लास गुनगुने पानी में डालकर सेवन कर सकते है। यदि पहली बार उपयोग कर रहे है तो चिकिस्तक से परामर्श करें। (और पढ़े – एलोवेरा के फायदे)
  • अनार  कुछ शोध के अनुसार अनार हृदय से जुडी समस्या के जोखिम को कम करता है, इसलिए छाती के दर्द से राहत दिलाता है। अनार में बहुत से विटामिन और खनिज मौजूद है जो तनाव को कम करने में मददगार साबित होती है। अनार के रस का सेवन रोजाना करने से शरीर को पौष्टिक तत्व प्राप्त होते है जो छाती के दर्द को दूर करते है। 
  • अदरक अदरक मानव स्वास्थ्य के लिए बहुत गुणकारी मानी जाती है। यह एक तरह की जड़ीबूटी है जो स्वास्थ्य समस्या को दूर करने में मदद करती है। अदरक में अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में फायदेमंद होता है। अदरक का उपयोग अनेक तरह से कर सकते है। जैसे अदरक का उपयोग भोजन में कर सकते है या अदरक की चाय बना सकते है। इसके अलावा अदरक के टुकड़े को कच्चा खा सकते है। 
  • हल्दी हल्दी एक बहुत अच्छा घरेलु उपचार है जो शरीर के बहुत से समस्या को कम करने में मदद करते है। हल्दी में बहुत से औषधीय गुण मौजूद होते है जो धमनी में प्लाक बनने से रोकता है और सूजन को कम करता है। इन समस्या के कम होने से छाती में दर्द की समस्या कम होने लगती है। छाती में दर्द को कम करने के लिए आप रोजाना एक ग्लास गर्म दूध में हल्दी मिलाकर सेवन कर सकते है। (और पढ़े – हल्दी के स्वास्थ्य लाभ)
  • लहसुन लहसुन भोजन का स्वाद बढ़ाने में उपयोगी होती है उसी तरह स्वास्थ्य की समस्या को ठीक करने में फायदेमंद मानी जाती है। छाती में दर्द को ठीक करने में लहसुन अच्छा घरेलू उपचार होता है। कुछ शोध के अनुसार लहसुन का सेवन करने से हृदय रोग की समस्या कम होने लगती है और साथ ही छाती के दर्द को ठीक करने में मदद करता है। लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम कर प्लाक से धमनियों तक पहुंचने से रोकता है। इसके अलावा रक्त प्रवाह में सुधार करता है। लहसुन का उपयोग करने के लिए एक ग्लास गर्म पानी के साथ दो लहसुन की कालिया खा सकते है। (और पढ़े – लहसुन के फायदे)

हमे आशा है की आपके प्रश्न छाती में दर्द का घरेलू उपचार का उतर इस लेख के माध्यम से दे पाएं है। 

छाती में दर्द की समस्या होने पर आप किसी अच्छे पुलमोनोलॉजिस्ट  ( Pulmonologist ) से संपर्क कर सकते है। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Pulmonologist in Delhi

Best Pulmonologist in Chennai

Best Pulmonologist in Mumbai

Best Pulmonologist in Bangalore