पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी क्या है। Pediatric Cardiac Surgery in Hindi

नवम्बर 11, 2020 Heart Diseases 1063 Views

हिन्दी

पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी क्या है ?

पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी एक सर्जिकल प्रक्रिया है जो उन बच्चों में की जाती है जिनके जन्मजात हृदय दोष हैं। यह सबसे सामान्य जन्म दोष हैं जो हृदय के वाल्व, दीवारों और रक्त वाहिकाओं से संबंधित विकारों के कारण हृदय के माध्यम से सामान्य रक्त प्रवाह को प्रभावित करते हैं। वाल्वों के अनुचित समापन, अटरिया या निलय में छिद्र और रक्त वाहिकाओं में खराब संबंध के कारण गलत दिशा में रक्त के प्रवाह के कारण बाल चिकित्सा हृदय शल्य चिकित्सा की आवश्यकता होती है। जन्मजात हृदय दोष (सीएचडी) गर्भावस्था की पहली तिमाही के दौरान मां में आनुवंशिक असामान्यताओं जैसे डाउन सिंड्रोम, नशीली दवाओं के दुरुपयोग या संक्रमण के परिणामस्वरूप होता है। चलिए आज के लेख के माध्यम से आपको बच्चों में पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी क्या है के बारे में बताने वाले है। 

  • बच्चों में कार्डियक सर्जरी क्यों किया जाता हैं ? ((What are the Purpose of Cardiac Surgery in children in Hindi)
  • बच्चों में कार्डियक सर्जरी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of  Cardiac Surgery in children in Hindi)
  • बच्चों में कार्डियक सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Cardiac Surgery in Children in Hindi)
  • बच्चों में कार्डियक सर्जरी की जटिलाएं ? (What are the Risks of Cardiac Surgery in Children in Hindi)
  • बच्चों में कार्डियक सर्जरी कराने का कितना खर्च लग सकता हैं ? (What is Cost of Pediatric Cardiac Surgery in India in Hindi)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी क्यों किया जाता हैं ? ((What are the Purpose of Cardiac Surgery in children in Hindi)

कार्डियक सर्जरी की आवश्यकता जन्मजात हृदय रोग के लक्षण के आधार पर किया जा सकता हैं। 

  • जैसे – सांस लेने में कठिनाई होना। 
  • सायनोसिस – होंठ, त्वचा और नाखून के बिस्तर नीले / भूरे हो जाते हैं। 
  • अतालता। 
  • बच्चे का गरीब विकास और विकास।  
  • थकान और कमजोरी होना। 
  • बच्चे का वजन नहीं बढ़ता है। 
  • व्यायाम करने में कठिनाई आना। 
  • फेफड़े में संक्रमण होना।  (और पढ़े – फेफड़े का कैंसर क्यों होता है)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of Cardiac Surgery in children in Hindi)

कार्डियक सर्जरी के पहले चिकिस्तक जन्म के समय या जन्म के बाद जन्मजात हृदय दोष का निदान हेतु परीक्षण कर सकते है। 

  • इकोकार्डियोग्राम एक अल्ट्रासाउंड है जो हृदय की छवियों को उत्पन्न करने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग करता है। 
  • हृदय तक पहुँचने के लिए रक्त वाहिका के माध्यम से कैथेटर डालकर हृदय की असामान्यताओं का निदान करने में कार्डिएक कैथीटेराइजेशन भी सहायक हो सकता है। 
  • हृदय की विद्युत गतिविधि को इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम द्वारा मापा जा सकता है ताकि यह देखा जा सके कि कोई अनियमितता तो नहीं है। 
  • दिल में विकार खोजने के लिए चेस्ट एक्स-रे भी किया जा सकता है।

जन्मजात बच्चों में हृदय दोष का उपचार कई तरीको से किया जा सकता है।

  • कैथेटर प्रक्रियाएं (Catheter procedures) कैथेटर प्रक्रियाएं जिसमें एक कैथेटर, एक छोटी लचीली ट्यूब, को बांह में रक्त वाहिका के माध्यम से डाला जाता है और इसे हृदय तक पहुंचने के लिए बनाया जाता है। यह दिल पर संचालित करने के लिए छाती में चीरा लगाने की आवश्यकता नहीं है और इसलिए यह एक बेहतर तरीका है। इससे मरीज के लिए रिकवरी का समय भी कम हो जाता है। इस प्रक्रिया को आमतौर पर सेप्टल दोष और वाल्व स्टेनोसिस के लिए उपयोग किया जाता है। इकोकार्डियोग्राफी की मदद से हृदय तक कैथेटर को निर्देशित किया जाता है।
  • ओपन हार्ट सर्जरी (Open heart surgery) इस प्रक्रिया में दोषों को संचालित करने के लिए छाती में एक बड़ा चीरा लगाना पड़ता है जिसे कैथेटर प्रक्रियाओं द्वारा इलाज नहीं किया जा सकता है। इस विधि का उपयोग अक्सर दिल में छेद, दिल की धड़कन के वाल्व और जटिल दोषों को ठीक करने के लिए किया जाता है। रोगी रक्त प्रवाह को विनियमित करने के लिए हृदय-फेफड़े की बाईपास मशीन से जुड़ा होता है, इस बीच हृदय का संचालन किया जा रहा है। (और पढ़े – हार्ट बाईपास सर्जरी क्यों किया जाता है)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Cardiac Surgery in Children in Hindi)

  • हृदय की सर्जरी के बाद बच्चे को रिकवरी के लिए कम से कम 2 से 4 दिनों के लिए अस्पताल में रखा जाता है। हालांकि खुली सर्जरी की तुलना में कैथेटर को शामिल करने वाली प्रक्रियाओं के लिए पुनर्प्राप्ति समय कम लगता है। 
  • लंबे समय में, जिन बच्चों की सर्जरी हुई है, उन्हें व्यायाम के प्रकार और मात्रा को सीमित करने की आवश्यकता होती है। 
  • एंडोकार्डिटिस जैसे संक्रमण को रोकने के लिए चिकिस्तक अन्य उपाय करते है क्योंकि जिन बच्चों की सर्जरी की गई है, उन्हें इनसे अधिक खतरा होता है। (और पढ़े – बच्चों में मिर्गी की समस्या)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी की जटिलाएं ? (What are the Risks of Cardiac Surgery in Children in Hindi)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी करने के कई जोखिम हो सकते है। 

  • जैसे – सर्जरी और संक्रमण की संभावनाओं के दौरान बहुत अधिक रक्तस्राव हो सकता है। 
  • सर्जिकल प्रक्रिया के दौरान रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के या वायु एम्बोली भी बन सकते हैं। 
  • सर्जरी में कुछ जटिलताओं के कारण अतालता हो सकती है और आगे चलकर स्ट्रोक या दिल का दौरा के जोखिम पैदा कर सकता है। (और पढ़े – हार्ट अटैक क्यों आता है)

बच्चों में कार्डियक सर्जरी कराने का कितना खर्च लग सकता हैं ? (What is Cost of Pediatric Cardiac Surgery in India in Hindi)

  • भारत में बच्चों में कार्डियक सर्जरी कराने का कुल खर्च लगभग INR 150000 से INR 225000 तक लग सकता है। हालांकि भारत में बहुत से बड़े अस्पताल के डॉक्टर है जो बच्चों में कार्डियक सर्जरी का इलाज करते है। लेकिन सभी अस्पतालों में बच्चों में कार्डियक सर्जरी का खर्च अलग-अलग है। अगर आप अच्छे अस्पतालों में बच्चों में कार्डियक सर्जरी  के खर्च व डॉक्टर के बारे में जानकारी के लिए (और पढ़े – बच्चों में कार्डियक सर्जरी का इलाज खर्च
  • अगर आप विदेश से आ रहे है तो आपकी बच्चों में कार्डियक सर्जरी के इलाज के खर्च के अलावा होटल में रहने का खर्चा होगा, रहने का खर्चा होगा, लोकल ट्रेवल का खर्चा होगा। इसके अलावा सर्जरी के बाद मरीज को 9  दिन अस्पताल और 14 दिन होटल में रिकवरी के लिए रखा जाता है, इसलिए सभी खर्चे मिलाकर INR 329,502  होते है जो एक साथ अस्पताल में लिये जाते है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए (और पढ़े – बच्चों में कार्डियक सर्जरी का इलाज खर्च

हमें आशा है की आपके प्रश्न पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी क्या है ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

बच्चों में हृदय से जुडी समस्या के बारे में अधिक जानकारी व इलाज के लिए ( Pediatric Surgeon/Child Specialist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Pediatric Surgeon/Child Surgeon in Delhi

Best Pediatric Surgeon/Child Surgeon in Mumbai

Best Pediatric Surgeon/Child Surgeon in Chennai

Best Pediatric Surgeon/Child Surgeon in Bangalore 


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox