चमकी बुखार क्या है। Encephalitis in Hindi.

Login to Health जून 22, 2019 Brain Diseases 2357 Views

Encephalitis Meaning in Hindi.

एन्सेफलाइटिस को चम्की बुखार, तीव्र वायरल एन्सेफलाइटिस या एसिप्टिक एन्सेफलाइटिस के रूप में भी जाना जाता है। इसे मस्तिष्क में सूजन के रूप में परिभाषित किया गया है जो मस्तिष्क में सूजन या जलन हो सकती है। इंसेफेलाइटिस के कारण बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के जिलों में 100 से अधिक बच्चों की मौत हो गई। यह एक दुर्लभ लेकिन गंभीर बीमारी है और अधिकांश दुर्घटनाएँ 1-10 आयु वर्ग के बीच होती हैं। एन्सेफलाइटिस (चमकी बुखार), इसके कारणों, लक्षणों और उपचार के बारे मे इस लेख में जानकारी प्राप्त करेंगे।

  • चमकी बुखार क्या है ? (What is Encephalitis in Hindi)
  •  चमकी बुखार के कारण क्या है ? (What are the Causes of Encephalitis inHindi)
  • चमकी बुखार के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Encephalitis inHindi)
  • चमकी बुखार का इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Encephalitisin Hindi)
  •  चमकी बुखार से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Encephalitis in Hindi)

चमकी बुखार क्या है ? (What is Encephalitis in Hindi)

चमकी बुखार को चिकिस्तक भाषा में एक्यूट एन्सेफलाइटिस के नाम से जाना जाता है। यह अधिकांश मामले बच्चों, बुजुर्गों और एचआईवी / एड्स, कैंसर आदि से कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में होते हैं। यह भी कहा जाता है कि इंसेफेलाइटिस में मस्तिष्क की सूजन एक संक्रमण के कारण होती है या प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा मस्तिष्क पर हमला करती है। एन्सेफलाइटिस या एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) ज्यादातर बच्चों और युवा वयस्कों के केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है। यह बुखार की तीव्र शुरुआत की विशेषता है, फिर मानसिक विकृति, दौरे, भ्रम आदि पैदा करने वाले स्नायविक कार्यों को बाधित करता है।

चमकी बुखार के कारण क्या है ? (What are the Causes of Encephalitis in Hindi)

मस्तिष्क की कोशिकाओं में सूजन आने के कारण हो सकता है।

  • एक्यूट इंसेफलाइटिस का मुख्य कारण वायरस को माना जाता है। इनमें से कुछ वायरस के नाम हर्प्स वायरस, इंट्रोवायरस, वेस्ट नाइल, जापानी इंसेफलाइटिस, इस्टर्न इक्विन वायरस, टिक-बोर्न वायरस हैं।
  •  इंसेफलाइटिस बैक्टीरिया, फुंगी, परजीवी, रसायन, टॉक्सिन से भी फैलता है।
  • भारत में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम का मुख्य कारण जापानी वायरस को माना जाता है। इसके अलावा निपाह और जिका वायरस भी इंसेफलाइटिस की वजह बन सकते हैं।

चमकी बुखार के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Encephalitis in Hindi)

चमकी बुखार के निम्निलिखित लक्षण है।

  • बच्चों के व्यवहार में परिवर्तन।
  • बोलने एवं सुनने में परेशानी होना।
  •  बुरे सपने देखना।
  •  सुस्तीपन।
  • याददाश्त कमजोर होना
  • अत्यधिक बुखार
  • उलटी
  • सिर दर्द (और पढ़े – माइग्रेन क्या है)
  • प्रकाश से चिड़चिड़ापन
  • भ्रम
  • गर्दन एवं पीठ में दर्द
  • उबकाई
  • गंभीर हालत में लकवा मार जाना और कोमा की स्थिति

चमकी बुखार का इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Encephalitis in Hindi)

चमकी बुखार का उपचार करने के लिए चिकिस्तक अनेको सुझाव देते है। ताकि मरीज को राहत मिल सके।

  • जैसे :इंसेफेलाइटिस या एईएस से पीड़ित बच्चों को किसी भी प्रकार के हादसे से बचने के लिए गहन चिकित्सा इकाई यानी आईसीयू के एक अस्पताल में देखभाल की आवश्यकता है।
  •  डॉक्टर मस्तिष्क की आगे की सूजन को रोकने के लिए उनके रक्तचाप, हृदय गति, श्वास और शरीर के तरल पदार्थ को देखते हैं।
  • रोगी एंटीवायरल ड्रग्स देकर इंसेफेलाइटिस के कुछ रूप का भी इलाज कर सकते हैं।
  • मस्तिष्क में सूजन को कम करने के लिए कॉर्टिकोस्टेरॉइड भी दिया जाता है।
  •  दौरे पड़ने वाले बच्चे को एंटीकॉनवल्सेंट दिया जा सकता है।
  • एसिटामिनोफेन की तरह ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) दवाएं, बुखार और सिरदर्द में मदद कर सकती हैं।

चमकी बुखार से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Encephalitis in Hindi)

  • चमकी बुखार से बचने के लिए आपको बच्चो को हमेशा वैक्सीन दिल वाना चाहिए।
  • मच्छरों से बचाव करना चाहिए और हमेशा शरीर के किसी हिस्से को खुला नहीं छोड़ें।
  •  खाने से पहले और बाद में हाथों को अच्छी तरह धोएं।
  • खानेपीने का विशेष ध्यान रखें क्योंकि कुपोषित बच्चों को इसका सबसे अधिक खतरा होता है।
    इसलिए बच्चो को पौष्टिक आहार का सेवन करवाए।

अगर आपको चमकी बुखार के बारे में अधिक जानकारी एव इलाज करवाना हो तो जनरल
फिजिशियन (General Physician) से संपर्क करें।

चमकी बुखार के कारण, चमकी बुखार के लक्षण, चमकी बुखार का इलाज, व चमकी बुखार से
बचाव आदि है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

four + 19 =