(सिरदर्द) लोगो में माइग्रेन की शिकायत होना। Migraine in Hindi

Login to Health मार्च 13, 2019 Brain Diseases 424 Views

एक दिन रिया ऑफीस में काम कर रही थी, अचानक उसे सिर के निचले हिस्से में तेज सिरदर्द हुआ. उल्टी भी हो गयी,लगातार उसको सिरदर्द हो रहा था। उसे समझ नहीं आ रहा था.कि उसे क्या हुआ,उसी समय उसने ”लॉगिन टू हेल्थ” कि वेबसाइट को खोलकर पढ़ा।

कभी कभी हमारे सिर में दर्द होने लगता है. जिसे हम नजरअंदाज़ कर देते है,और माइग्रेन की शिकायत होने लगती है।

दुनियाभर में सिरदर्द की बीमारी तेजी से बढ़ती जा रही है। हमारे देश के लोग भी  माइग्रेन की चपेट में आसानी से आ रहे है। कहा जाता है ज्यादा भाग दौड़ करने से माइग्रेन की शिकायत हो जाती है। लोग ज्यादा काम करते है और व्ययाम नहीं करते जिसकी वजह से सिरदर्द बढ़ने लगता है। माइग्रेन के कारण ब्लडप्रेशर बढ़ने लगता है, लगातार तनाव और ब्लडप्रेशर बढ़ने से आप समझ जाइए आप माइग्रेन के शिकार हो रहे है।

1 ) माइग्रेन क्या है ? (What is Migraine in Hindi)

माइग्रेन को दूसरे शब्दो में अधाकपारी भी कहते है। अमेरिका के नेशनल हैंडएक फाउंडेशन का कहना है उनके देश में चार करोड़ लोग माइग्रेन रोग से ग्रस्त है। यह भी कहना यह रोग पीढ़ी दर पीढ़ी फैलती रहती हैमाइग्रेन में सिर के निचले हिस्सों में बहुत दर्द होता है,ब्लडप्रेशर बढ़ने लगता है,सिरदर्द के दौरान खोपड़ी के निचे की धमनी बड़ी हो जाती है। जिसके कारण रासायनिक स्राव,जलन,उल्टी और रक्तवाहिनियों को फैलाने का काम करता है। यह भी कहना यह रोग पीढ़ी दर पीढ़ी फैलती रहती है, कुछ लोगो का कहना है की सिर के आधे भाग में दर्द होता है।

2 ) माइग्रेन के लक्षण क्या है ? (What is Migraine Symptoms in Hindi)

  • हमे कभी-कभी शरीर में दर्द होता है,तब हम समझ जाते है,यह थकावट के कारण दर्द हो रहा है,लेकिन सिर्फ आधे भाग में दर्द होना और आधे भाग में कुछ ना होना यह माइग्रेन के लक्षण होता है।जिसमे दिमाग का ध्यान केवल सिरदर्द पर होता है बाकी शरीर का दर्द हम भूल जाते है।
  • माइग्रेन को न्यूरोलॉजिकल की समस्या भी कहते है, इसमें व्यक्ति को रह-रह कर दर्द होते है,और यह दर्द लगातार दो या तीन दिन बने रहते है।जिसमे उल्टी,जी मचलना,तनाव होता है।
  • माइग्रेन में लोगो को ठीक से नींद नहीं आती है।
  • कुछ लोगो को फोटोफोबिया होता है, मतलब रोशनी से परेशानी होती है।फोनोफोबिया में लोगो को ज्यादा शोर पसंद नहीं होता है,यह भी एक तरह से   माइग्रेन के लक्षण होते है।

3 ) माइग्रेन के क्या कारण होते है ?(What are The Causes  of Migraine in Hindi)

  • माइग्रेन के से अनेक कारण होते है, जैसे की सिरदर्द होना, भूख ना लगना, पूरी नींद ना लेना, जी मचलना, इत्यादि होते है,लेकिन जो व्यक्ति पहले से  दूसरे रोग से परेशान हो , जैसे ब्लडप्रेशर , मधुमेह , हाई ब्लडशुगर, तो इनमे  माइग्रेन की स्थिति बढ़ जाती है।
  • किसी को कुछ खाने से एलर्जी हो जाती है ,यह एलर्जी माइग्रेन की समस्या को उत्पन करती है , एलर्जी सब्जियों और दूध की बनी चीज़ो से भी हो सकती है, किसी को धुएं से भी एलर्जी हो सकती है। इन सब कारणों से  माइग्रेन की समस्या उत्पन होती है।

4 ) माइग्रेन से बचने के लिए क्या उपाय होते है ? (How to Treat Migraine in Hindi)

  •  माइग्रेन से बचने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए,हमारे जीवन की रोजमर्रा की आदतों को बदलना चाहिए।
  • हमे रोज प्रातःकाल उठना और व्यायाम करना चाहिए , शाम के समय भी टहलना चाहिए, संतुलित भोजन करना चाहिए ,तनाव से दूर रहना चाहिए। हमेशा  खुश रहने की कोशिश करना चाहिए।

5 ) माइग्रेन में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए ? (What Food is Good for Migraine and What Food is Bad For Migraine  in Hindi)

  • क्या खाना चाहिए – (What food is Good for migraine in Hindi) :-

अगर आपको  माइग्रेन की समस्या है तो आप नाश्ते में सूखे मेवे, मसलन दूध , दही , दाल , मांस , और मछली  इत्यादि खा सकते है,रात के खाने  में चोकरयुक्त रोटी , चावल , आलू ,प्रोटीनयुक्त पदार्थ  एव सलाद खा सकते है।

  • क्या नहीं खाना चाहिए – (What Food is Bad for migraine in Hindi) :

माइग्रेन  में जंकफूड Junk Food (खाना) और मैदे से बनी चीज़े,डिब्बे बंद पदार्थो और ज्यादा मसालेयुक्त आहार को नहीं लेना चाहिए।

6 ) माइग्रेन से छुटकारा किस तरह मिलता है ? -(How to Ease Migraine Pain in Hindi)

माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए हमे ध्यान और योगा करना चाहिए। अगर आप योगा नहीं कर सकते तो व्यायाम कर सकते है, व्यायाम को करने से शरीर के तनाव कम होंगे और डिप्रेशन दूर होंगे। जहा आप योगा कर रहे है,वहा पर सुबह का सूर्य प्रकाश होना चाहिए।  तेज धुप से समस्या उत्पन्न होती है। तेज गंध वाली जगह से बचना चाहिए। माइग्रेन से पीड़ित लोगो को ज्यादा नींद लेना चाहिए। अगर अचानक से आपको दर्द होता है, तो कोशिश करे दर्द की गोली ना ले। ज्यादा दर्द होता है तो आप किसी अच्छे न्यूरोलाजिस्ट डॉक्टर से संपर्क करे।

अगर आपको माइग्रेन की शिकायत है तो किसी अच्छे न्यूरोलाजिस्ट (Neurologist) डॉक्टर को दिखाए। न्यूरोलाजिस्ट डॉक्टर से संपर्क  करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 11 =