जानिए आयरन की कमी क्यों होती है। Iron Deficiency in Hindi

Login to Health सितम्बर 10, 2019 Lifestyle Diseases 24 Views

Iron Deficiency Meaning in Hindi.

आयरन एक तरह का खनिज होता है। जो मनुष्य के शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। आयरन शरीर मजबूती प्रदान करता है। यदि शरीर में आयरन की कमी होती है। तो विभिन्न प्रकार के रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। अलावा शरीर में लाल कोशिकाएं कम होने लगती है। हीमोग्लोबिन को बढ़ाने के लिए आयरन बहुत ही आवयश्क होता है। हीमोग्लोबिन एक तरह से प्रोटीन का कार्य करता है। जो पुरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। यही कारण आयरन की कमी से बहुत शरीर को नुकसान होता है। आयरन की कमी सही भोजन नहीं करने से भी होता है। इसके अलावा महिलाओं को गर्भावस्था के समय आयरन की कमी हो जाती है। मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्तश्राव होने के कारण आयरन की कमी हो जाती है। कुछ लक्षण भी नजर आते है आयरन की कमी से जैसे: थकान, बाल का झड़ना, नाख़ून का टूटना इत्यादि लक्षण नजर आते है। चलिए हम आज इस लेख में आयरन की कमी के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

  • आयरन की कमी के कारण क्या है ? (What are the Causes of Iron Deficiency in Hindi)
  • आयरन की कमी के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Iron Deficiency in Hindi)
  • आयरन की कमी से होनेवाली बीमारी ? (Disease Caused By Iron Deficiency in Hindi)
  • आयरन की कमी का उपचार क्या है ? (What are the Treatments for Iron Deficiency in Hindi)
  • आयरन की कमी होने से बचाव कैसे करें ? (prevention of Iron Deficiency in Hindi)

आयरन की कमी के कारण क्या है ? (What are the Causes of Iron Deficiency in Hindi)

आयरन की कमी होने के निम्नलिखित कारण हो सकते है।

  • गर्भावस्था में महिलाओं के शरीर में आयरन की कमी हो जाती है। चिकिस्तक आयरन के साम्प्लिमेंट देते है।
  • पेट में अल्सर, कोलन कैंसर होने के कारण आयरन की कमी हो जाती है।
  • आयरन युक्त आहार कम लेने से आयरन की कमी हो जाती है।
  • शरीर में लाल कोशिकाओं में आयरन की मात्रा होती है। यदि आप अपना रक्त खो देते है। तो आपको आयरन की कमी हो जाती है।
  • कुछ दर्द की दवाइया लेने से भी आयरन की कमी हो जाती है।
  • जिन महिलाओं को मासिकधर्म के दौरान अधिक रक्त श्राव होता है। उनको आयरन की कमी हो जाती है। (और पढ़े – मासिकधर्म के दौरान होने वाले दर्द)

आयरन की कमी के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Iron Deficiency in Hindi)

आयरन की कमी के शुरुवाती लक्षण बहुत आम होते है। जिसे पहचान कर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। शरीर में आयरन की कमी बढ़ने लगती है। तो एनीमिया की शिकायत हो जाती है। आयरन की कमी से कुछ निम्न लक्षण उबरते है।

  • नाखून कमजोर होकर टूट जाना।
  • सिरदर्द होना।
  • चक्कर आना या सिर घूमना।
  • कमजोरी महसूस होना।
  • हाथ पैर ठंडे हो जाते है।
  • अत्यधिक थकान महसूस होना।
  • त्वचा में पीलापन आना।
  • छाती में दर्द।
  • सांस फूलना।
  • मिट्टी के पदार्थो को खाने की इच्छा होना।

यदि इस तरह के लक्षण नजर आ रहे है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

आयरन की कमी से होनेवाली बीमारी ? (Disease Caused By Iron Deficiency in Hindi)

आयरन की कमी से अनेको बीमारी होने लगती है।

  • जैसे: हृदय और फेफड़ो सम्बंधित रोग हो जाना।
  • शरीर में अत्यधिक थकान महसूस करना। जिससे अपने नियमित व्यायाम को भी करने में असमर्थ हो जाना।
  • आयरन की कमी होने से गर्भवस्था समय कुछ महिलाओं को एनीमिया रोग होने की संभावना हो जाती है।
  • आयरन की अधिक कमी होने से मनुष्य की प्रतिशा कम हो जाती है। जिससे वह अधिक बीमार होने लगता है।
  • इन सब से बचने के लिए अपने आहार में आयरन की मात्रा जरूर ले। और रोगो से अपने शरीर को बचाए।

आयरन की कमी का उपचार क्या है ? (What are the Treatments for Iron Deficiency in Hindi)

  • आयरन की कमी का उपचार करने के लिए चिकिस्तक परीक्षण कर कारण का पता लगाते है। ताकि इसका इलाज शुरू कर सके। कुछ मामलो में आयरन की कमी का इलाज आयरन की थेरेपी से किया जाता है।
  • आयरन की कमी को दूर करने के लिए आयरन युक्त फलो के रस और सब्जियों का सेवन करने की सलाह देते है।
  • यदि चिकिस्तक आयरन की टेबलेट खाने देते है। भोजन के साथ ही खाये।
  • यदि शरीर में खून का बहाव होने से एनीमिया हो जाता है। इसके इलाज में रक्त व द्रव को ऑक्सीजन चढ़ाया जाता है।

आयरन की कमी होने से बचाव कैसे करें ? (prevention of Iron Deficiency in Hindi)

  • आयरन की कमी से बचाव करने के लिए सबसे सरल तरीका आयरनयुक्त भोजन का सेवन करें।
  • छोटे शिशु जब तक एक साल के ना हो तब तक उसे गाय का दूध ना मिले।
  • वह खाद्य पदार्थ जिनमे भरपूर मात्रा में आयरन की प्राप्ति होता है।
  • शाकाहारी में लौकी, कद्दू के बीज, शिमला मिर्च, हरी पत्तेदार सब्जी, पालक, सीके हुए आलू राजमा। अन्य बिन्स, किसमिश व अन्य सूखे मेवे आदि में आयरन होता है।
  • मांसाहारी में, समुद्री भोजन, अंडे, मिट, चिकेन, आदि में भरपूर मात्रा में आयरन होते है।

अगर आपको आयरन की कमी होने के बारे में अधिक जानकारी एव उपचार करवाना चाहते है। तो बिना किसी देरी के (Endocrinologist) से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × two =