कमर दर्द (पीठ दर्द) क्या है ? Back Pain Meaning in Hindi.

Login to Health अप्रेल 1, 2019 Lifestyle Diseases 401 Views

कमर का दर्द होना यह सामान्य बात है और यह कमर का दर्द सामान्य तौर पर कुछ दिन या हफ्तों तक ठीक हो जाता है। कमर दर्द में शरीर का पीछे का भाग यानि पीठ का दर्द होता है। कमर दर्द में शरीर में बहुत ऐठन, खिचाव, अकड़न जैसा प्रतीत होता है। किसी व्यक्ति को अत्यधिक कष्टदायक कमर दर्द होता है, तो यह गंभीर समस्या हो सकती है। चलिए कमरदर्द यानि (पीठ दर्द) के बारे में और जानकारिया प्राप्त करते है।

  • कमर दर्द क्या है ? (What is Back Pain Meaning in Hindi)
  • कमर दर्द किसके कारण होता है ? (What are The Causes of Back Pain in Hindi)
  • कमर दर्द के लक्षण क्या है ? (What is Back Pain Symptoms In Hindi)
  • कमर दर्द का इलाज क्या है ? (What is Back Pain Treatment in Hindi)
  • कमर दर्द के घरेलु उपचार क्या है ? (What is Home Remedies for Back pain in Hindi)

कमर दर्द क्या है ? (What is Back Pain Meaning in Hindi)

कमर दर्द किसी भी तरह से हो सकता है।

  • अत्यधिक कुर्सी पर बैठकर काम करने से।
  • गलत मुद्रा में सोने से।
  • कही पर गिरने से।
  • कमर में चोट लगने पर।
  • गलत दवाओं का असर होना।
  • मांसपेशियो में खिचाव होना।
  • महिलाओं को मासिक-धर्म के दौरान।

कमर दर्द किसके कारण होता है ? (What are The Causes of Back Pain in Hindi)

  • नींद में अलग अलग मुद्रा में सोने की स्तिथि के कारण कमर दर्द होता है। कमर दर्द की शिकायत नहीं रहे इसलिए कोशिश करे पीठ की तरफ से सीधा मुद्रा में  सोये जिससे कमर दर्द की समस्या नहीं होगी।
  • आपका कमर दर्द आपके सोने वाले गद्दे से भी होता है क्योकि मोटे नर्म गद्दे पर सोने के कारण कमर में दर्द होता है। आप चौड़ा कठोर गद्दो का उपयोग कर सकते है जिससे कमर दर्द नहीं होगा।
  • व्यक्ति के अधिक तनाव लेने के कारण शरीर के मस्तिक में दर्द होता है और मस्तिष्क का तंत्र सभी कोशिकाओं से जुड़ा हुआ है इस कारण कमर दर्द हो सकता है।
  • व्यक्ति के शरीर में अधिक वसा चर्बी के जमाव के कारण शरीर की मांसपेशियो में दर्द पैदा होता है जिससे कमर दर्द होता है। मोटापा कम करने से कमर दर्द की शिकायत नहीं होगी।
  • हड्डियों का कमजोर होने के कारण कमर दर्द होता है। हड्डियों को मजबूत करने लिए कुछ योगा, व्यायाम व खान-पान में बदलाव करना चाहिए और खाने के साथ कैल्शियमयुक्त चीजों का सेवन करना चाहिए।

कमर दर्द के लक्षण क्या है ? – (What is Back Pain Symptoms In Hindi)

  • बुखार आना।
  • कमर में सूजन आना।
  • दर्द का घुटनो से पैर तक पहुंचना।
  • कमर में लगातार दर्द होना।
  • गुदा के आस पास सूत्रता हो जाना।
  • आँतो पर  नियंत्रण खो देना।
  • पेशाब में कठिनाई होना।
  • वजन कम होना।
  • नितंबो के चारो ओर का स्थान सूत्र हो जाता है।

कमर दर्द का इलाज क्या है ? (What is Back Pain Treatment in Hindi)

कमर में अगर मामूली दर्द रहता है, तो घेरलू उपचार करने से ठीक हो जाता है। अगर घरेलु उपाय से भी कमर दर्द ठीक नहीं होता है, तो डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

  • डॉक्टर के अनुसार क्या सुझाव रहते है।
  • अगर कमर में अधिक दर्द रहता है तो डॉक्टर एनएसएआईडी (NSIT) दवाओं का सुझाव दे सकते है।  इबूप्रोफेन क्यूट कमर दर्द को कम कर सकता है।
  • कमर के अत्यधिक दर्द को कम करने के लिए व मांसपेशी शिथिल को ठीक करने के लिए डॉक्टर दवाइया लिख सकते है।
  • कमर दर्द में क्रीम या लेप दर्द के स्थान पर लगाने का सुझाव दे सकते है।
  • दवाओं से भी अगर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है, तो डॉक्टर कॉर्टिसीनइंजेक्शन लगाने व कौडीन दवाएं का सेवन करने का सुझाव देते है।

कमर दर्द के घरेलु उपचार क्या है ? (What is Home Remedies for Back pain in Hindi)

  • पानी में नमक मिलाकर गर्म करले और तौलिये से कमर को भाप दे जिससे कमर दर्द कम होगा।
  • सरसो के तेल या नारियल के तेल में थोड़ा लहसुन मिलाकर गर्म करले और ठंडा होने के बाद कमर की मालिश करले।
  • अधिक देर तक कुर्सी पर नहीं बैठना चाहिए और थोड़े थोड़े देर में टहलते रहना चाहिए जिससे कमर दर्द की दिक्कत नहीं होगी।
  • हड्डियों में कमजोरी है, तो कैल्शियमयुक्त (Calcium) चीजों का सेवन करे, जिससे हड्डियों में मजबूती आएगी।

 

अगर आपको कमर दर्द संबंधित कोई समस्या है या और जानकारी चाहिए (Orthopedic) ओर्थपेडीक डॉक्टर से संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty + 1 =