कब्ज क्या हैं और इसे कैसे दूर कर सकते हैं। Constipation Meaning in Hindi

Login to Health मार्च 7, 2019 Lifestyle Diseases 591 Views

हम आज बात करेंगे राहुल की जिनकी आयु 25 वर्ष है। राहुल उसे हमेशा कब्ज की शिकायत रहती है,जंक फ़ूड Junk Food (खाना) ही खाता था,लेकिन अब घर के भी खाने से भी कब्ज हो रही है, राहुल को कुछ समझ नहीं आ रहा है,ये उसके साथ क्या हो रहा है। शौच करने में समस्या हो रही है, भोजन का ठीक से पाचन नहीं हो पा  रहा है. तब राहुल ने डॉक्टर से संपर्क किया और अपनी समस्या बतायी कब्ज के बारे में, आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। डॉक्टर की सलाह से राहुल की कब्ज (Constipation) की समस्या दूर हो गयी।

आज सबके दिमाग में यह सवाल आता है,इसलिए हम जानेंगे कब्ज के बारे में।

  • कब्ज क्या है ?

  •  कब्ज क्यों होता है ? और किन कारणों से होता है ?

  • कब्ज के लक्षण क्या है ?

  • कब्ज के इलाज क्या है ?

  • कब्ज को दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या खाने से बचना चाहिए ?

1 ) कब्ज क्या है ? (Constipation Meaning in Hindi)

कब्ज होने से शौच करने में बाधा उत्पन्न होती है, पाचनतंत्र प्रभावित होता है,जिसके कारण शौच करने में बहुत पीड़ा होती होती है ,किसी को केवल गैस की समस्या होती है. किसी को खाने का पाचन ठीक से नहीं हो पाता है। और आजकल कब्ज की समस्याओ से बच्चे और युवा पीढ़ी दोनों परेशान हो चुके है। व्यक्ति दो या तीन दिन तक शौच नहीं जा पाता है।तो कब्ज की समस्या उत्पन्न हो जाती है।  

2 ) कब्ज क्यों होता है ? और किन कारणों से होता है ? (Causes of Constipation in Hindi)

फाइबरयुक्त पदार्थ कम खाने से कब्ज की समस्या को उत्पन्न करता व,तैलीय पदार्थ ज्यादा खाने से कब्ज होता है. जिससे हमारी कोलन की मांसपेशियो में धीरे-धीरे प्रभाव पड़ता है। पानी कम पीने से मल आतो में जकड जाते है और शौच नहीं हो पाता है।

कारण:

  •  ज्यादातर बाजार में मिलने वाली पैकेट की वस्तुओं (Junk Food) को खाने से कब्ज की समस्या होती है। तैयार खाने में फाइबर नहीं होता है|  
  •  जो शारीरिक रूप से निष्क्रिय होते है उनको कब्ज की समस्या हो जाती है। युवाओ और बड़े उमरदराज व्यक्तियों में बहुत ही असमानता होती है,जैसे की बड़े व्यक्ति शारीरिक रूप से सक्रीय होते है इसलिए उनमे कब्ज की  समस्या ज्यादा होने का खतरा होता है, युवाओ में नहीं होता शारीरिक निष्क्रियता इसलिए कब्ज की समस्या नहीं होती है।
  •  दूध,मक्कन,चिकना पदार्थ,तैलीययुक्त पदार्थ,इन सबको ज्यादा खाने से कब्ज के समस्या होती है।
  •  मनुष्य की बढ़ती उम्र के कारण शरीर में कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है।पेट में पचान क्रिया धीमी हो जाती है,जिससे कॉन्स्टीपेशन होता है।
  • रोजाना खाने में बदलाव भी एक तरह से कब्ज का कारण होता है ,क्योंकि अगर हम कही घूमने के लिए जाते है तो यात्रा के दौरान हम कुछ भी खा लेते है जिसकी वजह से कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिला की शरीर में होने वाले हॉर्मोन्स परिवर्तन के कारण कब्ज की समस्या होती है, जो गर्भाशय के ऑतो को प्रभावित करता है।

3 ) कब्ज के लक्षण क्या है ? (Symptoms of Constipation in Hindi)

  • शौचालय जाने पर मल सख्त होना।  
  •  कुछ लोगो के मुँह से बदबू ज्यादा आने लगती है,कुछ लोगो के जीभ सफ़ेद और  मटमैली हो जाती है।
  • कुछ लोगो को भूख नहीं लगती और हमेशा उल्टी आती है व जी मचलता रहता है।
  • शौचालय जाने पर कुछ लोगो को ठीक से शौच नहीं हो पाता है, और पेट में सूजन और दर्द होता है।जिससे एसीडिटी,व गैस की समस्या होती हैं।  

4 ) कब्ज के इलाज क्या है ? (Constipation Treatment in Hindi)

  • फाइबर युक्त आहार ज्यादा लेना चाहिए,जैसे हरी सब्जिया,चने,पपीता,एवोकाडो, किनोआ,खाना चाहिए।
  •  ज्यादा व्यायाम करना चाहिए जिससे शरीर में गतिविधिया बढ़ती है। कब्ज के समस्या नहीं होती है।
  • डॉक्टर पेल्विक व्यायाम करवाते है,जिससे मांसपेशियो का व्ययाम होता है,शौच करने में आसानी होती है।
  • कब्ज को ठीक करने के लिए जैसे की प्रोबायोटिक, लेक्टोबैसिलस जैसी दवाइयो का इस्तेमाल करते है।
  •  जब दवाइयाँ काम नहीं आती तब सर्जरी  एक मात्र उपाय होता है। पेट के सर्जरी करवाते है।
  • जुलाब करवाया जाता है शौच ना होने पर कब्ज के रोगी को,जुलाब के चार तरह से करवाते है।

–   फिबेरयुक्त जुलाब

–  ऑस्मोटिक जुलाब

–  स्रेहक जुलाब

–  स्टूल सॉफ्टनर्स

5 ) क्या खाने से बचना चाहिए ? (Foods to Avoid During Constipation in Hindi)

 कब्ज को दूर करने के लिए फाइबर युक्त आहार लेना चाहिए। जैसे हरी- सब्जिया, पपीता,अदरक चाय,चना,किनोआ,इत्यादि।

तैलीय युक्त पदार्थ,जंक फ़ूड (Junk Food) बाजार में मिलने वाले पैकेट की वस्तुओ से बचे।

यदि आप कब्ज (Constipation ) की समस्या से बहुत परेशान है तो अपने पारिवारिक चिकिस्तक (General Physician) से तुरंत संपर्क करे। डॉक्टर से अपनी अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए यहाँ पर क्लिक करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 9 =