कैसे पता लगेगा की आपको कोरोना वायरस हैं ? Kaise Pata Lagega Ki Aapko Coronavirus Hai in Hindi

Login to Health मार्च 14, 2020 Lifestyle Diseases 31 Views

Coronavirus Meaning in Hindi

कोरोना वायरस को लेकर लोगो में बहुत डर फ़ैल गया है की कई हमे भी कोरोना वायरस तो नहीं हो जायेगा ऐसे ही कई सवाल लोगो के दिमाग में चल रहे है। इसलिए इस लेख में आपको बताने की कोशिश कर रहे है कोरोना वायरस केवल संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खांसने व हाथ मिलाने आदि के संपर्क में आने से केवल यह वायरस होता है। कोरोना वायरस को सभी देशो ने में महामारी घोषित कर दिया है। भारत में अबतक 74 मामले कोरोना वायरस के सामने आ चुके है जिनमे 16 विदेशी नागरिक भी शामिल है। हालांकि इस वायरस से कारण 76 साल के एक व्यक्ति की मत्यु भी हो चुकी है। इसके बाद से लोगो में मास्क और सेनेटाइजर लेने की होड़ लगी है। चिकिस्तक के अनुसार कोरोना से डरना नहीं है बल्कि इसे दूर करना है। कोरोना से बचाव ही इसका सही इलाज है। अपने हाथो को हमेशा अल्कोहलिक सेनेटाइजर से साफ करते रहे। अपने मुँह, कान, आंख को बार-बार हाथ न लगाए बल्कि हाथो को अच्छे से साफ करने के बाद ही आंख को हाथ लगाए ताकि किसी भी तरह के संक्रमण से बच सके। इसके अलावा अधिक भीड़-भाड़ वाले जगह पर जाने से बचना चाहिए। अगर व्यक्ति स्वस्थ है तो उसे घर में मास्क लगाने की जरुरत नहीं है, अगर सामान्य सर्दी-जुखाम हो रहा है तो मास्क का प्रयोग करे ताकि दूसरे व्यक्ति को सर्दी-जुखाम न हो पाए। लिए आगे आपको कोरोना से जुडी कुछ अन्य बाते व जांच के बारे में विस्तार से बताएंगे।

  • कोरोना वायरस की जांच कैसे करें ? (Diagnosis of Coronavirus in Hindi)
  • कोरोना वायरस को फैलने से कैसे रोकें ? (Coronavirus ko Spread hone se kaise Roke in Hindi)
  • कोन सा मास्क वायरस से सुरक्षा प्रदान करता हैं ? (Kaunsa Mask Virus Se Protect Karta Hai in Hindi)
  • कोरोना वायरस से संक्रमण के खतरे को कम कैसे करें ? (Coronavirus se Sankrman Ke Khatre Ko kam Kaise Kare in Hindi)

कोरोना वायरस की जांच कैसे करें ? (Diagnosis of Coronavirus in Hindi)

कोरोना वायरस की जांच के लिए कोई किट उपलब्ध नहीं है। लेकिन अस्पताल की खास प्रयोग साला में कोरोना वायरस की जांच अलग अलग तरह से की जा रही है। इसके अलावा आम प्रयोगशाला में जांच उपलब्ध नहीं है। यदि कोरोना वायरस का जांच करवाना है तो आपको विशेष लैब में करवाना पड़ेगा। चलिए आपको बताते है इस वायरस के परीक्षण कैसे किये जाते है।

  • स्वाब टेस्ट – इस परीक्षण या टेस्ट में एक कॉटन स्वाब से गले या नाक के अंदर से सैंपल लेकर लैब में जांच करते है।
  • नेजल एस्पिरेट – इसमें वायरस की जांच करने वाले लैब व्यक्ति के नाक में एक सॉल्यूशन डालने के बाद नमूना जमा कर उसकी जांच करता है।
  • ट्रेशल एस्पिरेट – इसमें ब्रोंकोस्कोप नाम का एक पतला ट्यूब व्यक्ति के फेफड़े में डालकर वहां से नूमना लेकर जांच की जाती है। ताकि सटीक पता लगाया जा सके।
  • सप्टम टेस्ट – इसमें फेफड़े में जमा मैटेरियल या नाक से स्वाब के जरिये निकाले जाने वाले नूमने लेकर जांच की जाती है।
  • रक्त की जांच की जाती हैं।

कोरोना वायरस को फैलने से कैसे रोकें ? (Coronavirus ko Spread hone se kaise Roke in Hindi)

कोरोना वायरस को फैलने से कुछ निम्नलिखित तरीके से फैलने से रोक सकते है।

  • अपने हाथो को साबुन को अच्छी तरह बार बार धोए या सेनेटाइजर का इस्तेमाल करे।
  • खांसते या छींकते समय अपने मुंह पर डिस्पोजल टिश्यू का उपयोग करें। इस्तेमाल किये गए टिश्यू को कचरे में डाल दे व हाथो को साबुन से धो ले।
  • यदि आपके पास टिश्यू नहीं है तो हाथ को मुँह पर रखने की जगह बाजुओं का उपयोग कर सकते है।
  • अपने हाथो को धोए बिना कान, मुंह, आंख को नहीं छूना है।
  • यदि कोई व्यक्ति बीमार है तो उनसे थोड़ी दूरी बनाये रखें। (और पढ़े – कोरोना वायरस संक्रमण क्या है)

कोन सा मास्क वायरस से सुरक्षा प्रदान करता हैं ? (Kaunsa Mask Virus Se Protect Karta Hai in Hindi)

कोरोना वायरस के खतरे को देखकर लोग मेडिकल शॉप पर मास्क अधिक खरीद रहे है लेकिन क्या मास्क के बारे में जानकारी है की कोनसा मास्क संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए आपको बता दे केवल एन 95 रेस्पिरेटर मास्क संक्रमण से बचाव करने में फायदेमंद होता है। क्योंकि यह मास्क छोटे कणो को शरीर के अंदर जाने से रोकता है। इसके अलावा हवा मिले बैक्टीरिया को फ़िल्टर करता है। यह मास्क टाइट व फिटिंग होता है जो आराम से आपके चेहरे पर फिट हो जाता है। कुछ अन्य मास्क भी है जो कणो से सुरक्षा प्रदान करता है किन्तु हवा में मौजूद कणो से बचा नहीं पाता है। इसकी फिटिंग ढीली होती है और लीकेज भी होता है। (और पढ़े – कोरोना वायरस से बचाव कैसे करें)

कोरोना वायरस से संक्रमण के खतरे को कम कैसे करें ? (Coronavirus se Sankrman Ke Khatre Ko kam Kaise Kare in Hindi)

कोरोना वायरस संक्रमण का कोई उपचार अभी तक उपलब्ध नहीं है किंतु वैज्ञानिक इसपर दवा की खोज कर रहे है। आपको बता दे इस वायरस से बचने के लिए सावधानी रखना बहुत जरुरी है। लोग अनेको तरह की बाते करते है जैसे आयुर्वेदिक उपचार करने से ठीक होता है लेकिन ऐसा नहीं है। यह दवा व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है न की कोरोना वायरस का उपचार करता है। कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को कम करने ने लिए लोग कुछ सावधानिया तो रख सकते है।

  • जैसे की मांस मछली को पूरी तरह से पका हुआ खाएं।
  • जंगली जानवर व पालतू जानवर के संपर्क में आने से बचें।
  • सर्दी व जुखाम से पीड़ित लोगो के संपर्क में न आए।
  • साबुन से अपने हाथों की सफाई करना न भूले।
  • छीकते समय टिश्यू का उपयोग कर बचाव करें।
  • जितनी शरीर की सफाई रखेंगे उतना ही संक्रमण के खतरे से बचे रहेंगे। (और पढ़े – कोरोना वायरस से जुडी बातें)

कोरोना वायरस से जुडी अधिक जानकारी के लिए जसलोक अस्पताल के संक्रमण डिजीज (Infections Diseases) के विशेषज्ञ डॉ ओम श्रीवास्तव से संपर्क कर सकते है।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + 3 =