जानिए खांसी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं। What To Eat And Avoid In Cold And Cough In Hindi

Login to Health मार्च 18, 2020 Lifestyle Diseases 30 Views

Cough Meaning In Hindi

सर्दी व खांसी की समस्या वैसे तो आम है जो किसी को भी हो सकती है। सर्दी की समस्या होने पर अपना और परिवार का ध्यान रखना बेहद जरुरी होता है साथ में क्या खाना यह भी जानकरी होनी चाहिए। अक्सर मौसम बदलने के कारण लोगो को सर्दी व जुखाम की समस्या होती रहती है। किंतु कुछ घरेलू उपाय के द्वारा खांसी व सर्दी को ठीक कर लिया जाता है। श्वास की नली के ऊपर संक्रमण के प्रभाव पड़ने से गले के पास का हिस्सा प्रभावित होता है। संक्रमण होने के कारण मनुष्य को लगता है उसके गले में कुछ अटक गया है। इस वजह से गले में दर्द की समस्या व इरिटेशन होता है। इसलिए गले से बलगम निकालने के लिए लोग खांसी करने लगते है। खांसी होने पर कई तरह के लक्षण नजर आते है जिसमे आवाज बैठ जाना, गले में दर्द महसूस करना व गले को साफ करने का प्रयास करते रहना आदि शामिल है। अत्यधिक खांसी बढ़ने पर बलगम के साथ रक्त की कुछ बूंदे बाहर आ जाती है। वैसे कुछ लोगो में सामान्य समस्या की तरह है लेकिन कुछ लोगो में खान पान की गलत आदत रखने से खांसी की समस्या होती है। खांसी ठीक करने के लिए चिकिस्तक अनेको दवा देते है जिससे व्यक्ति की खांसी ठीक हो जाती है किंतु अपने खान-पान पर भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। बहुत से लोगो को पता नहीं होगा सर्दी व खांसी में क्या खाना चाहिए व नहीं इसके बारे में इस लेख में आपको विस्तार से बताने वाले हैं।

  • खांसी में क्या खाना चाहिए ? (Khansi me kya khana chahiye in Hindi)
  • खांसी में क्या नहीं खाना चाहिए ? (Khansi me kya Nahi khana chahiye in Hindi)

खांसी में क्या खाना चाहिए ? (Khansi me kya khana chahiye in Hindi)

  • खांसी आने पर गुड़ का सेवन करना लाभदायक होता है। जब तक खांसी की समस्या तब तक चीनी के बजाय गुड़ का सेवन करना चाहिए। गुड़ के साथ अदरक गर्म करके खाने पर गले में जलन व दर्द से राहत मिलती है।
  • विटामिन सी युक्त फल का सेवन करने से खासी की समस्या ठीक होती है। इसलिए आपको टमाटर, पपीता, अमरुद का सेवन करना चाहिए इससे अच्छी मात्रा में विटामिन सी मिल जाता है।
  • खांसी में अदरक की चाय पीना फायदेमंद होता है। अदरक की चाय गले के कफ से आराम दिलाता है। इसके अलावा शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है। अदरक में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होता है जो श्वसन प्रणाली के संक्रमण को नष्ट करने में मदद करता है।
  • लहसुन खांसी से बचाव करने में मदद करता है। खांसी की समस्या को रोकने के लिए लहसुन का सेवन करना चाहिए। लहसुन शरीर की प्रतिशा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता है। आप लहसुन की कली नहीं खा सकते तो आहार में मिलाकर खा सकते है। (और पढ़े – लहसुन के फायदे क्या है)
  • कुछ शोध में बतलाया गया है खांसी में चिकन शूप पीने से राहत मिलता है। बहुत पुराने समय से लोग बलगम व खांसी को खत्म करने के लिए चिकन सुप का सेवन करना पसंद करते है।
  • अनानास खांसी की समस्या को ठीक करने में मदद करता है। इसमें ब्रोमेलीन उपस्तिथ होता है जो बलगम को जड़ से ख़त्म करने में मदद करता है। यदि खांसी की समस्या हो रही है तो अनानास का सेवन जरूर करें। (और पढ़े – अनानास के फायदे और नुकसान)
  • खांसी में शहद को नींबू में मिलाकर उपयोग करने से बहुत आराम मिलता है। शहद गले के खराश को कम करता है। इसके अलावा शहद में रोगाणु को दूर कर गले में जलन व दर्द को दूर करता है। खांसी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको रोजाना एक चम्मच शहद लेना चाहिए।
  • खांसी और सीने में जलन को शांत करने के लिए तुलसी की पत्तिया काफी लाभदायक साबित होती है। इनके पत्ते को गर्म कर छाती पर रखने से राहत मिलता है व आप इनकी पत्तियों को चबाकर भी खा सकते है।

खांसी में क्या नहीं खाना चाहिए ? (Khansi me kya Nahi khana chahiye in Hindi)

  • खांसी आने पर खट्टे फल का सेवन नहीं करना चाहिए जैसे नींबू, संतरा, मोसंबी आदि। इन सब में साइट्रिक एसिड होता है जो गले में जलन पैदा करता है। इसके अलावा आप कुछ अन्य फल का सेवन कर सकते है जैसे नाशपाती, अनानास, आड़ू आदि।
  • खांसी की समस्या होने पर कोल्ड्रिंक्स, चाय, कॉफी व एनर्जी ड्रिंक के सेवन से बचना चाहिए। इनके अलावा आप पानी अधिक मात्रा में पीये क्योंकि गले को गिला रखने से आराम मिलता है।
  • खांसी में ठंडे खाने वाली चीजों से परहेज करना चाहिए क्योंकि ठंडी चीजे सर्दी को बढ़ावा देती है और खांसी बढ़ जाती है।
  • खांसी में धूम्रपान के सेवन से परहेज करना चाहिए क्योंकि धूम्रपान से गले में जलन व कैंसर के लक्षण शुरू हो सकता है। आसपास धूम्रपान करने वाले के संपर्क में आने से बचें।
  • खांसी में दूध का सेवन से बचना चाहिए क्योंकि दूह बलगम को बढ़ाता है। कोई भी डेयरी युक्त खाद्य पदार्थ फेफड़ो में बलगम बनाता है। इसलिए खांसी में दूध न पीये।
  • खांसी में लोगो को प्रोटेस्ट फ़ूड से बचाव करना चाहिए। जैसे वाइट ब्रेड, वाइट् पास्ता, चीनी वाले खाद्य पदार्थ की जगह हरी पत्तेदार सब्जी का सेवन कर सकते है।
  • खांसी में अधिक तैलीय खाद्य पदार्थ खाने से बचे क्योंकि तैलीय पदार्थ खांसी को और बढ़ावा देता है। जैसे जंक फ़ूड, पकोड़ा भजिया आदि।
  • कुछ चिकिस्तक के अनुसार खांसी आने पर ठंडे जूस का सेवन करने से बचें। डिब्बे बंद जूस सफ़ेद रक्त कोशिका को प्रभावित करते है। इसके अलावा जूस उपस्थित एसिड खांसी बढ़ती है। (और पढ़े – कोरोना वायरस के लक्षण)

खांसी व सर्दी की समस्या को हल्के में नहीं लेना चाहिए बल्कि अपने नजदीकी सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क करना चाहिए।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − nine =