जानिए ग्लूटेन फ्री डाइट क्या होता है। Gluten Free Diet in Hindi

Login to Health मई 29, 2019 Lifestyle Diseases 495 Views

Gluten Free Diet Meaning in Hindi

ग्लूटेन एक तरह का प्रोटीन होता है। जो गेंहू में पाया जाता है। इसके अलावा ज्वार, जौ, राई से बने खाद्य पदार्थो में ग्लूटेन की अधिक मात्रा पायी जाती है। वजन बढ़ाने में ग्लूटेन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए सभी विशेषयज्ञ ग्लूटेन फ्री डाइट की सलाह देते है। आज इस लेख में हम विस्तार से ग्लूटेन फ्री डाइट के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

  • ग्लूटेन फ्री डाइट क्या है ? (What is Gluten Free Diet in Hindi)
  • ग्लूटेन फ्री डाइट में क्या खा सकते है ? (What You Can Eat in Gluten Free Diet in Hindi)
  • ग्लूटेन फ्री डाइट के फायदे क्या है ? (What are the Benefits of Gluten Free Diet in Hindi)
  • ग्लूटेन किन लोगो के लिए बुरा होता है ? (Why is Gluten Bad For some people in Hindi)

ग्लूटेन फ्री डाइट क्या है ? (What is Gluten Free Diet in Hindi)

ग्लूटन गेहूं, जौ, राई और वर्तनी में पाए जाने वाले प्रोटीन का एक परिवार है। इसका नाम “गोंद” के लिए लैटिन शब्द से आया है, क्योंकि यह पानी के साथ मिश्रित होने पर आटे को एक चिपचिपी स्थिरता देता है। यह गोंद जैसी संपत्ति ग्लूटेन को चिपचिपा नेटवर्क बनाने में मदद करती है जो पके होने पर रोटी को उठने की क्षमता देता है। यह रोटी को एक चबाने वाली और संतोषजनक बनावट भी देता है। दुर्भाग्य से, बहुत से लोग ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ खाने के बाद असहज महसूस करते हैं। सबसे गंभीर प्रतिक्रिया को सीलिएक रोग कहा जाता है।

ग्लूटेन फ्री डाइट में क्या खा सकते है ? (What You Can Eat in Gluten Free Diet in Hindi)  

  • ग्लूटेन फ्री डाइट में निम्नलिखित भोज्य खाद्य पदार्थ का सेवन कर सकते है। जैसे :- मिट, मछली, अंडा ग्लूटेन फ्री, डेरी युक्त पदार्थ, दूध, दही, आदि।
  • सब्जियों और फलो में सभी तरह की हरी सब्जिया जो ग्लूटेन फ्री हो।
  • अनाज में क्विनोआ, चावल, एक प्रकार का अनाज, टैपिओका, शर्बत, मक्का, बाजरा, ऐमारैंथ, अरारोट, टेफ और जई (यदि ग्लूटेन-मुक्त हो)।
  • स्टार्च और आटा में आलू, आलू का आटा, मक्का, मकई का आटा, छोला आटा, सोया आटा, बादाम भोजन आटा, नारियल का आटा और टैपिओका आटा।
  • दाने और बीज। सभी नट और बीज।
  • तेल में सभी वनस्पति तेल और मक्खन।
  • औषधि और मसाले में सभी जड़ी बूटियाँ और मसाले

ग्लूटेन फ्री डाइट के फायदे क्या है ? (What are the Benefits of Gluten Free Diet in Hindi)

सेलिएक रोग से पीड़ित लोगो के लिए ग्लूटेन-मुक्त आहार के कई स्वास्थ्य लाभ हैं।

स्वास्थ्य के लिए ग्लूटेन फ्री डाइट के निम्न फायदे इस प्रकार है।

  • पाचन संबंधी लक्षणों से राहत दिलाने में :- ज्यादातर लोग पाचन समस्याओं के इलाज के लिए ग्लूटेन मुक्त आहार की कोशिश करते हैं। इनमें सूजन, दस्त या कब्ज, गैस, थकान और कई अन्य लक्षण शामिल हैं। अध्ययनों से पता चला है कि ग्लूटेन मुक्त आहार का पालन करने से सीलिएक रोग और गैर-सीलिएक लस संवेदनशीलता वाले लोगों के लिए पाचन लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन में, सीलिएक रोग वाले 215 लोगों ने छह महीने के लिए ग्लूटेन मुक्त आहार का पालन किया। इस आहार से पेट दर्द और दस्त, मतली जैसे अन्य लक्षणों को भी कम करने में सहायता मिली।

वजन कम करने में :- ग्‍लूटेन हमारे शरीर का वजन बढ़ाता है। लेकिन व्यक्ति अपने आहार से ग्‍लूटेन की मात्रा को बाहर कर दें और फाइबर युक्‍त चीजों का सेवन करें तो यह निश्‍चित रूप से आपके वजन को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – ब्लू बेरी के फायदे वजन कम करने में)

  • सीलिएक रोग के लोगो के पुराने सूजन कम करने में :- सूजन एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। जो शरीर को संक्रमण का इलाज करने और ठीक करने में मदद करती है। कभी-कभी सूजन हाथ से निकल सकती है और पिछले सप्ताह, महीनों या वर्षों तक भी हो सकती है। कई अध्ययनों से पता चला है कि एक ग्लूटेन मुक्त आहार एंटीबॉडी स्तरों जैसे सूजन के मार्करों को कम कर सकता है। यह सीलिएक रोग के साथ उन लोगों में ग्लूटेन से संबंधित सूजन के कारण होने वाली आंत की क्षति का इलाज करने में मदद भी कर सकता है। गैर-सीलिएक लस-संवेदनशीलता वाले लोगों में भी सूजन का स्तर कम हो सकता है। हालांकि, यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है कि एक लस मुक्त आहार इन लोगों में सूजन को कम कर सकता है
  • ऊर्जा को बढ़ाना :- सीलिएक रोग वाले लोग अक्सर थका हुआ, सुस्त या “मस्तिष्क कोहरे” का अनुभव करते हैं। यदि आपको सीलिएक रोग है, तो ग्लूटेन-मुक्त आहार पर स्विच करने से आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा मिल सकता है और आपको थका हुआ और सुस्त महसूस करने से रोक सकता है।

(और पढ़े – मेटाबोलिज्म क्या है)

ग्लूटेन किन लोगो के लिए बुरा होता है ? (Why is Gluten Bad For some people in Hindi)

अधिकांश लोग साइड इफेक्ट्स का अनुभव किए बिना ग्लूटेन खा सकते हैं। हालांकि, ग्लूटेन असहिष्णुता या सीलिएक रोग वाले लोग इसे सहन नहीं कर सकते हैं। गेहूं की एलर्जी और गैर-सीलिएक ग्लूटेन संवेदनशीलता जैसे अन्य विकारों वाले लोग भी अक्सर ग्लूटेन से बचते हैं। अर्थात इनके लिए ग्लूटेन बुरा होता है।

अगर आपको ग्लूटेन फ्री डाइट के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो नूट्रिशनिस्ट चिकिस्तक (Nutritionist) से संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + nine =