ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान क्या है। Benefits of Green Tea in Hindi

Login to Health अप्रेल 10, 2019 Lifestyle Diseases 413 Views

ग्रीन टी का सेवन पुरे विश्व में बहुत बड़े पैमाने पर किया जाता है। ग्रीन टी को हिंदी में हरी चाय कहते है। आजकल महिला हो या पुरुष सभी शरीर के वजन को नियंत्रित करने के लिए ग्रीन टी का सेवन करते है। ग्रीन टी में बहुत सारे पोषक तत्व होते है। जैसे: विटामिन A, विटामिन E, विटामिन B5, विटामिन K इत्यादि है।

ग्रीन टी में आक्सीडेंट और पॉलिफेनाल अधिक मात्रा में होता है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

 

  • ग्रीन टी क्या है ? (What is Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी कितने प्रकार की होती है ? (Types of Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी पीने के क्या फायदे है ? (Benefits of Drinking Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी किन लोगो को नहीं पीना चाहिए ? (Who Should Avoid Drinking Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी पीने के नुकसान क्या है ? (What are The Side-Effects of Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी पीने का सही तरीका और सही समय कब होता है ? (The Right Time and The Right Way of Drinking Green Tea in Hindi.)
  • ग्रीन टी का सेवन करने से महिलाओं को किस तरह का फायदा मिलता है ? (Benefits of Drinking Green Tea for Women in Hindi.)

ग्रीन टी क्या है? (What is Green Tea in Hindi)

शोधकरता का मानना है ग्रीन टी की उत्पत्ति सर्वप्रथम चीन और भारत में हुई थी। यह धीरे धीरे पुरे एशिया में प्रशिद्ध होने लगी थी और ग्रीन टी को पेय जल के रूप में पिया जाने लगा। ग्रीन टी को कैमेलिया साईनेन्सिस नामांक पौधे से बनाया जाता है। साईनेन्सिस पौधे की पत्तियों का उपयोग ग्रीन टी में ही नहीं बल्कि अन्य प्रकार की चाय बनाने के लिए किया जाता है। ग्रीन टी में मैग्नीशियम, कैल्शियम जैसे तत्व होते है।

ग्रीन टी कितने प्रकार की होती है ?  (Types of Green Tea in Hindi)

ग्रीन टी बहुत तरह की होती है।

  • ग्योकुरो ग्रीन टी।
  • जैस्मिन ग्रीन टी।
  • बिलौचन ग्रीन टी।
  • सेन्चा ग्रीन टी।
  • कुकीचा ग्रीन टी।
  • गेन माचा ग्रीन टी।
  • हैजिचा ग्रीन टी।
  • यह सब ग्रीन टी सुपर मार्किट और बाजार में उपलब्ध रहता है। आसानी से ले सकते है।

ग्रीन टी पीने के क्या फायदे है ? (Benefits of Drinking Green Tea in Hindi)

  • ग्रीन टी पीने से मस्तिक का तंत्र सही तरह से कार्य करता है।
  • कफ और जुखाम को दूर करने के लिए ग्रीन टी का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है।
  • हृदय संबंधित सभी विकारो को कम करता है।
  • मधुमेह पीड़ित व्यक्ति के ग्रीन टी का सेवन है करने से मधुमेह के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है।
  • ग्रीन टी पीने से शरीर का मेटाबॉलिस्म बढ़ता है और वजन कम होता है।
  • कैंसर से जुडी बीमारिया को कम करता है क्योकि ग्रीन टी में एंटी ऑक्सीडेंट होता है जो संक्रमण को रोकता है।
  • लिवर समस्या के लिए टॉनिक के रूप में ग्रीन टी कार्य करता है।
  • शरीर के संतुलन को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है।  
  • शरीर की कोशिकाओं को रोगो से बचाता है।
  • मुँह से आ रही बदबू को दूर करता है और दांतो के कीटाणु को ख़तम करता है।
  • शरीर की चर्बी को कम करता है। जिससे मोटापा की समस्या कम हो जाती है।

(मोटापा से जुडी समस्याओं के इलाज के लिए और पढ़े – मोटापा क्या है और मोटापा का इलाज क्या है )

ग्रीन टी किन लोगो को नहीं पीना चाहिए?  (Who Should Avoid Drinking Green Tea in Hindi)

  • ग्रीन टी उन व्यक्तियों को नहीं पीना चाहिए जिन्हे गैस व एसिडिटी वायु से जुडी समस्या होती है।
  • अगर आप का वजन पहले से कम है तो ग्रीन टी का सेवन ना करे।
  • व्यक्ति की त्वचा सुखी है अर्थात तैलीय नहीं तो ग्रीन टी का सेवन बिलकुल भी नहीं करे।

ग्रीन टी पीने के नुकसान क्या है? (What are The Side-Effects of Green Tea in Hindi)

  • ग्रीन टी के फायदे है तो कुछ नुकसान भी होते है।
  • जैसे: पेट में दर्द होना।
  • जी मिचलाना।
  • उल्टी, डायरिया होना।
  • मस्तिष्क में दर्द होना।
  • आयरन की कमी होना।
  • एनीमिया की शिकायत होना।

ग्रीन टी पीने का सही तरीका और सही समय कब होता है ? (The Right Time and The Right Way of Drinking Green Tea in Hindi)

  • ग्रीन टी को पानी में उबाल कर तुरंत पीना चाहिए क्योकि उबालने के थोडी देर बाद पीने से ग्रीन टी के पोषक तत्व नहीं मिलते है।
  • ग्रीन टी को मीठा बनाने के लिए शहद का उपयोग करे ना की चीनी का इस बात का विशेष ध्यान रखे।
  • ग्रीन टी को रस की तरह ना पीये क्योकि ग्रीन टी शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है इसलिए ग्रीन टी को औषधीय की तरह लेना चाहिए।
  • ग्रीन टी का सेवन भोजन करने के 1 घंटे बाद पीना चाहिए ना की खली पेट पीना चाहिए इससे पाचनतंत्र में बाधा उत्पन्न हो सकती है।
  • ग्रीन टी को दिन केवल तीन बार ही पीना चाहिए। जैसे : सुबह, दोपहर ,रात के समय।
  • ध्यान रहे खाली पेट अधिक मात्रा में ग्रीन टी का सेवन ना करे।

ग्रीन टी का सेवन करने से महिलाओं को किस तरह का फायदा मिलता है ? (Benefits of Drinking Green Tea for Women in Hindi)

महिलाओं को अपनी सुंदरता अत्यधिक प्यारी होती है। चेहरे को और आकर्षित बनाने के लिए बहुत से प्रयास करती है। महिलाओं में त्वचा से जुडी बहुत सी समस्या होती है। चलिए जानते है।

  • चेहरे पर मुंहासे की समस्या को दूर करने के लिए महिलाओं को नियमित तौर पर ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। जिससे उनको काफी फायदा मिल सकता है।   
  • चेहरों पर होनेवाले डार्क सर्कल को हटाने के लिए ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।
  • बालो को बढ़ाने के लिए ग्रीन टी से बालो को धोना चाहिए। जिससे उनके बाल घने और लंबे हो हो सकते है।
  • सूर्य से त्वचा को सनबर्न, टर्न जैसी समस्या होती है। यह त्वचा के सुंदरता को कम कर देता है और यह सुंदरता को फिरसे बनाने के लिए महिलाये को ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। यह करने से महिलाओं को लाभ मिल सकता है।

अगर आपको ग्रीन टी का सेवन करने से किसी प्रकार की स्वास्थ में समस्या हो रही है तो तुरंत ग्रीन टी का सेवन सिमित कर दे। अपने नजदीकी जनरल फिजिशियन डॉक्टर General Physician से संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 3 =