जानिए कैविटी दूर करने बेहतरीन घरेलु उपचार। Home Remedies For Cavities in Hindi

Login to Health सितम्बर 11, 2019 Lifestyle Diseases 190 Views

Cavities Meaning in Hindi.

एक छिद्र एक छेद है जो समय के साथ बड़ा और गहरा हो सकता है। गुहाओं को दंत क्षय भी कहा जाता है (कहते हैं: करे-एज़), और यदि आपके पास गुहा है, तो मरम्मत के लिए महत्वपूर्ण है। लेकिन आपके दांत में छेद क्यों होगा? दोष पट्टिका। यह एक चिपचिपा, घिनौना पदार्थ है जो ज्यादातर कीटाणुओं से बना होता है जो दांतों की सड़न पैदा करते हैं। दांतों का एक छिद्र दांतों का एक छोटा छेद होता है जिससे दांत निकल सकते हैं। अपने दांतों को दिन में दो बार ब्रश करना इससे निपटने का सबसे अच्छा तरीका है। दांतो से कैविटी दूर करने के कुछ घरेलू उपाय है। चलिए विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।

कैविटी दूर करने करने के घरेलू उपचार ? (Home Remedies For Cavities in Hindi)

गुहाएं यानि कैविटी का सबसे आम मौखिक स्वास्थ्य समस्याएं हैं। इससे बचने के लिए कुछ निम्न घरेलु उपचार है।

  • फ्लोराइड युक्त माउथवॉश (Fluoride mouthwash) – फ्लोराइड दांतों के लिए अच्छा है और यह दांतों में खनिज बहाल करने में मदद करता है। चूंकि खनिजों का डिमाइनेरलाइजिंग या कमी दांतों की सड़न का एक कारण है, फ्लोराइड माउथवाश का उपयोग कैविटीज़ से छुटकारा पाने के साथ-साथ दांतों की सड़न से छुटकारा पाने का एक बेहतरीन घरेलू उपाय हो सकता है।
  • लौंग (Clove) – लौंग किसी भी मौखिक स्वास्थ्य समस्या को ठीक करने के लिए सबसे अच्छा घटक हो सकता है, जिसमें कैविटीज भी शामिल हैं। अपने विरोधी भड़काऊ और एंटी- बैक्टीरियल गुणों के कारण, लौंग दर्द को कम कर सकती है और गुहा को फैलने से रोक सकती है।
  • लहसुन (Garlic)- एक अविश्वसनीय स्वाद बढ़ाने वाला होने के अलावा, लहसुन एक स्वास्थ्य चमत्कार भी है। मौखिक स्वास्थ्य के लिए भी कच्चा लहसुन खाना बहुत फायदेमंद होता है। इसमें एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो दर्द निवारक का काम करता है। लहसुन में एंटीफंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो दर्द से राहत दिलाते हैं। (और पढ़े – लहसुन के फायदे)
  • हड्डी का सूप (Bone Broth) – अस्थि शोरबा एक सूप है जो ताजी सब्जियों के साथ मिश्रित स्वस्थ जानवरों की हड्डियों को उबालकर बनाया जाता है। यह बहुत सारे विटामिन, खनिज और वसा से भरा हुआ है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इसमें कैल्शियम औरमैग्नीशियम होते हैं जो हमारे दांतों से कैविटी को हटाते हैं और दांतों की सड़न से लड़ते हैं।
  • खारा पानी (Salt Water) – किसी भी मौखिक स्वास्थ्य समस्या के लिए नमक का पानी सबसे आम घरेलू उपाय है। यह मुंह के बैक्टीरिया को मुक्त रखता है और गुहाओं से चिपचिपाहट को दूर करता है। पानी में मौजूद नमक एसिड को हटाकर हमारे मुंह में पीएच स्तर को बेअसर कर देता है।
  • लौंग का तेल (Clove oil) – लौंग में यूजेनॉल होता है, जो दर्द निवारक की भूमिका निभाता है। इसलिए, लौंग का तेल कैविटी और दांतों की सड़न से होने वाले दर्द से जल्दी राहत दिलाता है। इसके रोगाणुरोधी घटक किसी भी बैक्टीरिया, कवक या वायरस के विकास को रोकते हैं
  • तेल निकालना (Oil Pulling) – अशुद्धियों को खत्म करने के लिए वनस्पति तेल का उपयोग करने की तकनीक को तेल खींचने कहा जाता है। इस तकनीक में, आपको 5-10 मिनट के लिए तेल के साथ अपना मुंह कुल्ला करना होगा; आप जैतून का तेल या नारियल तेल जैसे किसी भी वनस्पति तेल का उपयोग कर सकते हैं। रिंसिंग प्रक्रिया आपके मुंह से बैक्टीरिया को बाहर निकालती है। यह कैविटीज़ और दांतों के सड़ने के लिए बहुत प्रभावी है और इससे मसूड़े में मौजूद सूजन भी कम हो जाती है।
  • नींबू (Lemon) – नींबू विटामिन सी से भरपूर होते हैं; नींबू के रस में मौजूद एसिड कीटाणुओं को मारते हैं और गुहाओं के कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद करते हैं। आपको अपने मुंह में नींबू रखने की जरूरत है, इसे चबाएं और फिर साफ पानी से अपना मुंह कुल्ला करें। नींबू के रस में मौजूद एसिड मौखिक कीटाणुओं और जीवाणुओं को मारता है। (और पढ़े – नींबू के फायदे)
  • चाय के पेड़ की तेल (Tea tree oil) – टी ट्री ऑयल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो कैविटीज़ से लड़ने में मदद करता है। यह एक सरल प्रक्रिया है – आपको बस अपने दांतों और मसूड़ों पर चाय के पेड़ के तेल से मालिश करनी है और फिर अपने मुँह को गर्म पानी से धोना है।

यदि घरेलू उपचार से कैविटी से छुटकारा नहीं मिल रहा तो अच्छे डेंटिस्ट (Dentist) से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × four =