पेट फूलने के क्या कारण होते है। Causes of Stomach Bloating in Hindi

Login to Health जुलाई 9, 2019 Lifestyle Diseases 440 Views

Bloating Meaning in Hindi.

पेट फूलना लोगो में आम बात होती है। किंतु लोगो में कभी ना कभी पेट फूलने की समस्या जरूर होती है। ऐसा तब होता है जब पेट में गैस या कब्ज होने लगता है। पेट फूलना को अंग्रेजी में ब्लोटिंग कहा जाता है। पेट में अधिक गैस बनने पर कब्ज की समस्या होने लगती है। कब्ज में पेट के भीतर मल आंतो में सड़ने लगते है। यदि इस मल को शरीर से बाहर नहीं निकालते है। तो पेट फूलने की समस्या हो जाती है। इसका समाधान रोजाना व्यायाम व उचित पौष्टिक आहार से कर सकते है। चलिए आज Bloating के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।

  •  पेट फूलने के कारण क्या है ? (What are the Causes of Stomach Bloating in Hindi)
  • पेट फूलने के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Stomach Bloating in Hindi)
  •  पेट फूलने के इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Stomach Bloating in Hindi)
  • पेट फूलने के घरेलु उपचार क्या है ? (What are the Home Remedies for Stomach Bloating in Hindi)
  •  पेट फूलने से बचाव कैसे करें ? (How to Prevent Stomach Bloating in Hindi)

पेट फूलने के कारण क्या है ? (What are the Causes of Stomach Bloating in Hindi)

पेट फूलने के बहुत से कारण हो सकते है।

  • कब्ज होना। (और पढ़े – कब्ज के कारण क्या है)
  • अपच होना।
  • अलसर होना।
  • गैस न निकलना।
  • पेप्टिक अलसर।
  • चिंता में रहना।
  • गलत खान-पान।
  • अधिक धूम्रपान करने से।
  • वाटर रिटेंशन।

इत्यादि कारण पेट फूलने में शामिल हो सकते है।

पेट फूलने के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Stomach Bloating in Hindi)

  •  थकान महसूस होना।
  • शौचालय जाने में समस्या उत्पन्न होना।
  •  बवासीर।
  •  उल्टी और मलती होना।
  •  दस्त होना।
  •  बुखार आना।
  •  अनियमित मासिक धर्म आना।
  • आंखो में पानी आना।
  • गले में खुजली का अनुभव होना।
  •  वजन कम होना या गिरावट दिखना।

 पेट फूलने के इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Stomach Bloating in Hindi)

  •  मरीज की पेट की स्तिथि समझने के लिए डॉक्टर अल्ट्रासाउंड Ultra Sound कर सकते है। इसके अलावा ब्लड टेस्ट, स्टूल टेस्ट, ब्रेथ टेस्ट इत्यादि कर सकते है।
  •  कुछ मामलो में डॉक्टर संतुलित आहार लेने की सलाह देते है। रोजाना शारीरिक गतिविधिया यानि योगा, व्यायाम करने की सलाह देते है।
  • अधिक मात्रा में पानी पीने की सलाह भी देते है।

 पेट फूलने के घरेलु उपचार क्या है ? (What are the Home Remedies for Stomach Bloating in Hindi)

  • पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए नींबू पानी का सेवन करना चाहिए। नींबू में कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट व विटामिन होते है। जो पेट के भीतर गैस को समाप्त करते है। व्यक्ति को पेट की समस्या से निजात दिलाते है।
  • सौफ का बीज पेट सम्बंधित समस्याओं के लिए अच्छा इलाज माना जाता है। इसमें पाचन तंत्र को सही रखने की क्षमता होती है। इसमें माइक्रोबियल के गुण होते है। जो मांसपेशियो में ऐठन व सूजन को दूर करने में सहायता करता है। भोजन के बाद सौफ के बीज को जरूर चबाये।
  • अदरक पेट के लिए रामबाण इलाज साबित होता है। अदरक एक जड़ी बूटी की तरह पेट की समस्या को दूर करती है। इसमें उपस्थित जिंजरोल, शोगोल जो आंत की सूजन को कम करने में सहायता करते है। मांसपेशियो को आराम पहुंचाते है।
  • पुदीना में मौजूद मेथान ऑयल होता है। इसमें एंटी-स्पास्मोडिक के भी गुण होते है। जो मांसपेशियो को आराम देने में सहायता करता है। यह पित्त नली और पित्ताशय की थैली में ऐंठन को दूर करता है।
  • केला पेट फूलने की समस्या को कम करता है। इसमें उपस्थित पोटैशियम और अन्य खनिज पेट में गैस, कब्ज की समस्या को दूर करता है। रोजाना केला का सेवन करना चाहिए। (और पढ़े – केला के फायदे क्या है)
  • पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए चारकोल की गोलियों का सेवन कर सकते है। चारकोल में छिद्रयुक्त होता है। जो पेट में हवा और पानी को निकालने में मदद करता है। इसका उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले तथा उसके बाद ही इसका सेवन करें।

पेट फूलने से बचाव कैसे करें ? (How to Prevent Stomach Bloating in Hindi)

  •  रोजाना नियमित व्यायाम और योगा करे।
  • जंक फ़ूड का सेवन करने से बचें।
  • भोजन करने के बाद थोड़ा टहले।
  • आहार में केवल पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  •  रोजाना दिन में कम से कम 3 लीटर पानी पीये।
  • हमेशा तनाव मुक्त रहने की कोशिश करें।

अगर आपको पेट फूलने की समस्या के बारे में जानकारी एव इलाज करवाना हो तो तुरंत गैस्टोएंट्रोलॉजिस्ट डॉक्टर (Gastroenterology) से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + 12 =