जानिए लोगो में किडनी स्टोन या पथरी की समस्या क्यों होती है। Kidney Stone Meaning in Hindi

Login to Health अप्रेल 13, 2019 Lifestyle Diseases 410 Views

किडनी स्टोन या गुर्दे की पथरी यह एक बीमारी है। इस बीमारी में व्यक्ति के भीतर कुछ कण जमा हो जाता है और यह कण पत्थर की तरह ठोस हो जाता है जिसे हम पथरी कहते है। पथरी कही तरीको से शरीर में होता है। यह शरीर के लिए बहुत हानिकरक होता है। किडनी स्टोन या गुर्दे की पथरी की बीमारी महिलाओं के मुकाबले पुरुषो में तीन गुना अधिक पाया जाता है। आइए किडनी स्टोन के बारे में कुछ और जानकारी प्राप्त करे।

भारत में किडनी स्टोन या पथरी की समस्या के माजूदा हालात क्या है ? (What is The Current Situation of Kidney Stone Patients in India in Hindi)

भारत बहुत बड़ी आबादी वाला देश है। भारत की कुल आबादी में से 13 से 15 फीसदी लोग किडनी स्टोन की बीमारी होने की संभावना है। इन आबादी मे से 40 फीसदी लोग को किडनी की समस्या हो सकती है। दक्षिण भारत में यह समस्या कम है। उत्तर भारत में किडनी स्टोन की समस्या 12 फीसदी हो सकती है। भारत के कुछ अन्य राज्य भी शामिल है। जैसे पंजाब,हरियाणा,महाराष्ट्र,राजस्थान,दिल्ली राज्य में किडनी स्टोन या पथरी की बीमारी का बहुत प्रभाव रहता है।

किडनी स्टोन क्या है ? (What is Kidney Stone in Hindi)

शरीर में पथरी या किडनी स्टोन की एक बीमारी होती है। इस बीमारी में शरीर के कुछ अंगो में मिनरल और सॉल्ट जमकर पत्थर का रूप ले लेते है। इस पत्थर के रूप को पथरी कहते है। इसका आकर छोटा दाना या गोल्फ गेंद की तरह बड़ा होता है। किडनी स्टोन शरीर के चार स्थान में हो सकती है। जैसे: किडनी,पेशाब की नली,पेशाब की थैली,पित्त की थैली आदि में पथरी होती है। किडनी की बीमारी बहुत दर्दनाक होती है।

किडनी स्टोन के कितने प्रकार है ? (What are The Types of Kidney Stone in Hindi)

किडनी स्टोन के चार प्रकार है।

स्ट्रावाइट स्टोन:- यह स्टोन पथरी में इन्फेक्शन पैदा करता है। यह पथरी महिलाओं को होता है जो UTI से पीड़ित होती है। इस पथरी के बड़े होने की वजह से पेशाब के रास्ते में रुकावट आती है।

कैल्शियम स्टोन :– यह सब पथरीयो में से सबसे सामान्य पथरी है। जो कैल्श्यिम ऑक्सलेट से बने होते है। चिप्स,मूंगफली,चुकरकंद खाने से कैल्शियम की मात्रा बढ़ती है इसलिए कैल्शियम स्टोन बढ़ने की आशंका होती है।

यूरिक एसिड स्टोन :- यूरिक एसिड स्टोन महिलाओं के मुकाबले पुरुषो में अधिक होता है। इसमें पुरुषो को अधिक आहार लेने से मलमूत्र का स्तर बढ़ जाता है।

सिस्टीन स्टोन :– यह स्टोन उन लोगो को होता है। जो अनुवांशिक रोग व सिस्टीनूरिया का शिकार होता है।

किडनी स्टोन के कारण क्या है ? (What are The Causes of Kidney Stone in Hindi)

किडनी स्टोन के निम्लिखित कारण हो सकते है।

  • अनुवांशिकता होने के कारण व्यक्ति को अधिक पथरी की समस्या होती है।
  • भौगोलिक स्थान अर्थ यह है गर्म जलवायु वाले छेत्र में किडनी स्टोन की समस्या बहुत अधिक पायी जाती है।
  • व्यक्ति के कुछ पुरानी बीमारियों के होने कारण भी पथरी की समस्या हो सकती है।
  • यदि व्यक्ति आहार में अधिक मात्रा में पशु प्रोटीन व उच्च स्तर पर नमक का सेवन करता है तो इसके कारण शरीर में गठन बनता है और पथरी की शिकायत हो सकती है।
  • यदि व्यक्ति आहार में अधिक मात्रा में विटामिन ए और विटामिन डी लेता है तो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ावा मिलता है। इसके कारण शरीर में गठन तैयार होता है व पथरी की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

किडनी स्टोन के लक्षण क्या है ? (What are The Symptoms Of Kidney Stone in Hindi)

किडनी स्टोन के अनेको लक्षण है किंतु सारे लक्षण एक ही व्यक्ति में नहीं पाया जाता है।

  • पेट में दर्द होना।
  • पेशाब का पीला होना।
  • पेशाब से अधिक बदबू आना।
  • जी मिचलाना।
  • उल्टी महसूस होना।
  • पेशाब में रक्त आना।
  • पेशाब करते समस्य पीड़ा होना।

किडनी स्टोन का इलाज क्या है ? (What are The Treatments for a Kidney stone in Hindi)

  • किडनी स्टोन का इलाज डॉक्टर दो तरह से करते है। पहले मरीज को एंटीबायोटिक दवाएं देते है। इन एंटीबायोटिक दवाओं में फास्फोरस घोल,ड्यूरेटिक दवाये,सोडियम बाइकार्बोनेट,एलोप्यूरीनाल आदि दवाये शामिल है।
  • यदि व्यक्ति को बड़ी पथरी है तो डॉक्टर उसे तोड़ने के लिए लिथोट्रिप्सी का प्रयोग करते है।
  • परकतनेओस नेफ्रोलिथोटॉमी का उपयोग दर्द को नियंत्रण करने के  लिए किया जाता है।
  • यदि मूत्र वाहिनी मूत्राशय में फस जाती है तो डॉक्टर युरेट्रोस्कोप उपकरण का उपयोग करते है।

किडनी स्टोन में क्या खाना चाहिए और क्या परहेज करना चाहिए ? (What To Eat And What to Avoid Eating When Suffering From Kidney Stone in Hindi)

  • क्या खाना चाहिए :- किडनी स्टोन की बीमारी में चावल, दूध, दही, अंडे, पानी, आलू, सिट्रिक एसिड वाले पदार्थ खाना चाहिए। यह खाने से पथरी के मरीज को फायदा मिलेगा।
  • क्या परहेज करना चाहिए :- किडनी स्टोन की बीमारी में व्यक्ति को रेड मिट, नमक, पालक, जंक फ़ूड (Junk Food) खाने से परहेज करना करना चाहिए। यह पथरी के मरीज सेहत के लिए हानिकारक होता है।

 

अगर किडनी स्टोन या गुर्दे की पथरी के बारे में जानकारी व इलाज करवाना चाहते है तो तुरंत उरोलोजिस्त डॉक्टर Urologist से संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − 1 =