जानिए निपाह वायरस संक्रमण क्या है। Nipah Virus Infection in Hindi

Login to Health जून 21, 2019 Lifestyle Diseases 291 Views

Nipah Virus Infection Meaning in Hindi

निपाह वायरस एक तरह का वायरल संक्रमण है। जो एक तरह का नया वायरस है। जो तेजी से जानवरो से इंसानो में फ़ैल रहा है।निपाह वायरस से होने वाली बीमारी बहुत गंभीर होती है। इस बीमारी का कोई इलाज अभी तक उपलब्ध नहीं हुआ है। किंतु वैज्ञानिको के द्वारा इसके दवा और वैक्सीन पर कार्य किया जा रहा है। निपा वायरस सबसे पहले मलेशिया के काम्पुंग सुंगई निफा के इलाके में पाई गई थी। इस वायरस को निप्स के दूसरे नाम से भी जाना जाता है। यह वायरस मलेशिया के बाद बांग्लादेश में देखी गयी थी। अब भारत में भी कुछ मामले सामने आने लगे है। जैसे केरला के राज्य में व्यक्ति से व्यक्ति में यह संक्रमण फैला था। आज इस लेख में निपाह वायरस के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

  •  निपाह वायरस कैसे फैलता है ? (How Does Nipah Virus Infection Spread in
    Hindi)
  • निपाह वायरस के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Nipah Virus Infection in Hindi)
  • निपाह वायरस के कारण क्या है ? (What are the Causes of Nipah Virus Infection in Hindi)
  • निपाह वायरस का इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Nipah Virus
    Infection in Hindi)
  •  निपाह वायरस से बचाव ? (Prevention of Nipah Virus Infection in Hindi)

निपाह वायरस कैसे फैलता है ? (How Does Nipah Virus Infection Spread in Hindi)

  • निपाह वायरस खासतौर संक्रमित सूअर एव चमगादड़ो से फैलता है। इसके अलावा संक्रमित मनुष्य के संपर्क में आने से दूसरे मनुष्य को भी यह वायरस हो जाता है।
  • यह वायरस सर्वप्रथम मलेशिया में पाया गया था। जो संक्रमित सूअर के द्वारा फैला हुआ था। सिंगापुर में संक्रमित चमगादड़ के संपर्क में आने से व्यक्ति को निपाह वायरस हो गया था। इसके अलावा बांग्लादेश व भारत में चमगादड़ द्वारा संक्रमित खजूर के ताड़ी को पीने से लोगो में निपाह वायरस फैलते पाया गया था। इस वायरस से बचने के लिए संक्रमित सूअर और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में ना आए।       

निपाह वायरस के निम्नलिखित लक्षण है। लेकिन सभी लक्षण एक ही व्यक्ति को नहीं होते है। यह भिन्न-भिन्न तरह से देखा जाता है। (What are the symptoms of Nipah Virus in Hindi)

  • बुखार और सिरदर्द ।
  • माइलगिया (मांसपेशियों में दर्द)।
  • गले में खराश।
  • उल्टी।
  • चक्कर आना।(और पढ़े – चक्कर क्यों आते है)
  • तीव्र श्वसन सिंड्रोम या एटिपिकल निमोनिया।

निपाह वायरस के कारण क्या है ? (What are the Causes of Nipah  Virus Infection in Hindi)

  • निपाह वायरस मलेशिया और सिंगापुर में संक्रमित सुअरो के संपर्क में आने के कारण हुआ है।
  • बांग्लादेश और भारत में निपाह वायरस चमगादड़ द्वारा संक्रमित खजूर की ताड़ी का सेवन करने वाले लोगो में पाया गया है। इसके अलावा यह वायरस व्यक्ति से व्यक्ति में आसानी से फ़ैल जाता है। क्योंकि यह वायरस एक संक्रमण है। जो मनुष्यो जीवन को प्रभावित कर रहा है।

(और पढ़े – ज़ीका वायरस क्या है और ज़ीका वायरस के कारण क्या है)

निपाह वायरस का इलाज क्या है ? (What are the Treatments for Nipah Virus Infection in Hindi)

  • निपाह वायरस का इलाज अभी तो उपलब्ध नहीं हुआ है। लेकिन इसके लक्षणो को कम करने
    की कोशिश की जाती है।
  • यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फ़ैल रहा है। इसलिए अस्पताल में इस वायरस को
    रोखने के लिए कुछ सावधानी बरतनी की जरूरत है। ताकि और लोग संक्रमित ना हो। कुछ वैज्ञानिको के द्वारा किये गए परीक्षण के अनुसार निपाह वायरस के लिए रिबैविरिन दवा अच्छी है। किंतु मनुष्यो के लिए सिद्ध अभी नहीं हुई है।

निपाह वायरस से बचाव ? (Prevention of Nipah Virus Infection in Hindi)

निपाह वायरस से बचाव करने के लिए कुछ सावधानी बरतनी की जरूरत है।

  • संक्रमित चमगादड़ और सुअरो के संपर्क में आने से खुद का बचाव करना चाहिए।
  • खजूर की ताड़ी का सेवन करने परहेज करना चाहिए।
  •  यदि कोई व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित है। तो उसके संपर्क में आने से बचे।
  • यह संक्रमण इंसान से इंसान में फैलने से रोकने में जागरूकता होना बहुत जरुरी है। इस
    वायरस के बारे में अधिक से अधिक जानकारी लोगो में फैलानी चाहिए। ताकि अपनी सुरक्षा
    इस वायरस से कर सके।

निपाह वायरस के बारे में अधिक जानकारी एव इलाज के लिए जनरल फिजिशियन (General
Physician) से संपर्क करे।

निपाह वायरस कैसे फैलता, निपाह वायरस के लक्षण, निपाह वायरस के कारण, निपाह वायरस का इलाज,निपाह वायरस से बचाव आदि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 4 =