हेपेटाइटिस बी क्या है ? लक्षण,कारण और इलाज। Hepatitis B in Hindi

Login to Health मार्च 19, 2019 Liver Section 419 Views
  • हेपेटाइटिस बी संक्रमण के कारण हर साल लोगो के लिवर (यकृत) ख़राब हो जाने के कारण 3 से 4 हजार लोगो की मृत्यु हो जाती है। हेपेटाइटिस बी को सीरम हेपेटाइटिस भी कहा जाता है। लिवर पर सूजन आते है तो उसे हेपेटाइटिस बी कहते है। हेपेटाइटिस की बीमारी एक वायरल संक्रमण है, यह कभी-कभी बैक्टीरिया या दवाइयों के दुष परिणाम के कारण भी हो सकते है। हेपेटाइटिस बी गंभीर रूप से वायरस के कारण होता है।
  • हेपेटाइटिस बी मुख्य रूप से व्यक्ति के थूक, पेशाब, वीर्य, रक्त, योनी से होने वाले स्राव के माध्यम से होता हैं। यह रोग उन व्यक्तियों को होता है जो ड्रक्स लेते है और एक से ज्यादा शारीरिक सम्बन्द बनाते है। विशेषतः अप्राकृतिक संभोग करने वाले व्यक्तियों में यह रोग महामारी की तरह फैलता है। हेपेटाइटिस बी अधिक घातक होता है। (Hepatitis B Meaning in Hindi)

हेपेटाइटिस बी क्या है? (What is Hepatitis B Meaning in Hindi)

हेपेटाइटिस ए और बी दो तरह के होते है। हेपेटाइटिस ए से अधिक भयानक हेपेटाइटिस बी होता है क्योंकि हेपेटाइटिस बी मुख्य रूप से लिवर पर प्रहार करता है।  हेपेटाइटिस का वायरस दूषित पानी से अधिक फैलता है। कुछ लोगो में हेपेटाइटिस बी का संक्रमण लंबे समय तक रहता है किंतु व्यक्ति को इसका पता नहीं लग पाता है जिसे जीर्ण (Chronic Hepatitis) कहते है।

हेपेटाइटिस बी के कारण क्या है ?(What are The Causes of Hepatitis B in Hindi)

हेपेटाइटिस बी एक संक्रमण है जो हेपेटाइटिस बी नामक वायरस से फैलता है। यह रोग संक्रमित व्यक्ति के रक्त के द्वारा व शारीरिक तरल पदार्थो के संपर्क में आने से फैलता है।

हेपेटाइटिस बी होने के अनेको कारण है।

  • हेपेटाइटिस बी संक्रमित सुई, ब्लेड, के इस्तेमाल करने से होता है।
  • गर्भावस्था के प्रशव के समय संक्रमित माता से शिशु को हेपेटाइटिस बी हो सकता है।
  • संक्रमित व्यक्ति के इस्तेमाल किये हुए सामान जैसे दाढ़ी की ब्लेड, टूथब्रश का उपयोग करने से भी हो सकता है।
  • निर्जतुक नहीं किये गये उपकरणों से कान छेदवाना व टैटू बनवाना यह भी कारण हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस बी से संक्रमित व्यक्ति के रक्त बिना जांच किये किसी दूसरे व्यक्ति को चढ़ाने से भी होता है।

हेपेटाइटिस बी के लक्षण क्या है ? (What are The Symptoms of Hepatitis B in Hindi)

हेपेटाइटिस बी के लक्षण व्यक्तियों को पता नहीं लग पाता की वह हेपेटाइटिस बी से संक्रमित हो गया है।

हेपेटाइटिस बी के बहुत से कारण है।

  • व्यक्ति को अत्यधिक थकान होना।
  • पेट में उल्टी और दर्द होना।
  • व्यक्ति के त्वचा और आंखो में पीलापन आना।
  • लाल और गहरे रंग का पेशाब होना।
  • बुखार होना।
  • सिरदर्द और जी मिचलाना।
  • व्यक्ति को खुजली होना।

हेपेटाइटिस बी के इलाज क्या है ? (What are The Treatment of Hepatitis B in Hindi)

हेपेटाइटिस बी से पीड़ित व्यक्ति में कोई लक्षण नजर ना आने पर हेपेटाइटिस बी का इलाज अन्य कारण से रक्त की जांच करने से पता चलता है ।

  • हेपेटाइटिस बी के लक्षण नजर आने पर डॉक्टर बहुत से टेस्ट करते है।
  • हेपेटाइटिस बी को जानने के रक्त की जांच की जाती है और HBSAG टेस्ट किया जाता है। अगर हेपेटाइटिस बी शुरुवाती है तो Igm टेस्ट करते है व लंबे समय से है तो Igg टेस्ट करते है।
  • यदि व्यक्ति का लिवर खराब होता है तो लिवर की स्थिथि की जांच  Liver Biopsy से किया जाता है।
  • हेपेटाइटिस बी की तीव्रता जांच करने के लिए HBSAG टेस्ट किये जाते है।
  • लिवर पर क्या असर हो रहा है यह पता करने के लिए Live Function Test लाइव फक्शन टेस्ट किया जाता है।
  • लिवर की स्थिथि की जांच करने के लिए Ultrasound Scan पेट की सोनोग्राफी कीया जाता हैं।
  • Polymerase Chain Reaction (PCR) टेस्ट वायरस रक्त में वायरल लोड जानने के लिए यह जांच कीया जाता है।

यदि आप हेपेटाइटिस बी से जुडी और जानकारी व इलाज करवाना चाहते है तो आज ही बिना किसी देरी के हर्पेर्टोलॉजिस्ट डॉक्टर Hepatologist Doctor से संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − four =