जानिए ओवुलेशन में दर्द क्यों होता है। Ovulation Pain in Hindi

Login to Health जुलाई 12, 2019 Womens Health 251 Views

Ovulation Pain Meaning in Hindi.

सभी के शरीर में कुछ न कुछ परिवर्तन होते रहते है। लेकिन कुछ लोग ही इन परिवर्तनों पर ध्यान देते है और जानकारी लेने की कोशिश करते है। महिलाओं के दिमाग में ओवुलेशन को लेकर कई सवाल रहते है। यह कब और कैसे होता है। आज हम ऐसी शारीरिक स्तिथि के बारे में जानेंगे जो महिला के जीवन में अहम भूमिका अदा करता है। जिसे Ovulation यानि अंडोत्सर्ग कहते है। बहुत सी महिलाओं में से कुछ महिलाओं को ओवुलेशन में दर्द का अनुभव होता है। इसका कारण क्या है चलिए Ovulation Pain के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।

  •  ओवुलेशन पेन क्या है ? (What is Ovulation Pain in Hindi)
  • ओवुलेशन पेन के कारण क्या है ? (What are the Causes of Ovulation Pain in Hindi)
  • ओवुलेशन पेन के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Ovulation Pain in Hindi)
  • ओवुलेशन पेन का इलाज क्या है ? (What are the Treatments of Ovulation Pain in Hindi)

ओवुलेशन पेन क्या है ? (What is Ovulation Pain in Hindi)

ओवुलेशन मासिक धर्म का एक चरण होता है। इसमें किसी एक अंडाशय में से एक अंडे की रिहाई होती है। ओवुलेशन पेन को दूसरे शब्दो में मिड-साइकल पेन भी कहते है। यह आम तौर पर दो मासिक चक्रो के मध्य में होता है। अधिकार महिलाओं में ओवुलेशन उनकी रजनोवृत्ति तक हर महीने होता है। अगर महिला स्तनपान करा रही है या गर्भावती है तो उनमे उस समय ओवुलेशन नहीं होता है। महिलाओं में ओवुलेशन के दर्द अलग-अलग तरह से अनुभव होता है। इसे निम्नलिखित तरह से देख सकते है।

  • कुछ महिलाओं को अचानक तेज दर्द होता है। किंतु यह दर्द केवल कुछ पल के लिए रहता है। (और पढ़े – हल्दी के फायदे मासिक धर्म के दर्द से छुटकारा दिलाने में)
  • कुछ महिलाओं को हल्का दर्द होता है। यह दर्द कुछ मिनटों या घंटो तक रहता है।
  • ओवुलेशन का दर्द एक ही जगह नहीं होता है। क्योंकि महिला के गर्भाशय के दोनों तरफ एक- एक अंडाशय होता है। जो अपना अंडा किसी भी तरफ से छोड़ सकता है।
  • ओवुलेशन का दर्द यदि गंभीर हो जाती है तो महिलाये उसे अपेंडिक्स समझ लेती है।
  • अगर किसी महिला को ओवुलेशन का दर्द 3 दिनों से अधिक हो रहा हो या अधिक रक्तश्राव मासिक-धर्म में लक्षण दिख रहे हो तो डॉक्टर से तुरंत बात करें। (और पढ़े – मासिक धर्म में होने वाली समस्याएं)

ओवुलेशन पेन के कारण क्या है ? (What are the Causes of Ovulation Pain in Hindi)

ओवुलेशन पेन के कई कारण हो सकते है।

  • जब ओवुलेशन के समय अंडाशय से अंडा बहार निकलने लगता है तो महिला को दर्द महसूस होने लगता है।
  • ओवुलेशन के बाद फेलोपियन ट्यूब गर्भाशय की ओर एक अंडे को पहुंचाने के लिए संकुचन करती है। यह संकुचान दर्द एव ऐठन का कारण बनता है।
  • ओवुलेशन के समय अंडाशय में चिकनी मांसपेशियो में और उसके आस-पास के बढ़ते स्तर में संकुचन होने लगता है। यह प्रोस्टाग्लैडीन लिपिड यौगिक मासिक धर्म होने का प्रमुख कारण होता है।
  • महिलाओं के मासिक चक्र के शुरुवात में बहुत से फॉलिकल्स होने लगते है। इनमे से एक प्रभावी हो जाता है। क्योंकि अंडाशय के दोनों किनारो पर फॉलिकल्स परिपक्क हो जाते है। इससे यह ज्ञात होता है। की दोनों किनारों पर क्यों कभी -कभी ओवुलेशन पेन का अनुभव होता है।

ओवुलेशन पेन के लक्षण क्या है ? (What are the Symptoms of Ovulation Pain in Hindi)

ओवुलेशन पेन के लक्षण निम्नलिखित है।

  • एक तरफ से दर्द होना।
  • जिन महिलाओं का पीरियड रेगुलर होता है वो बड़ी आसानी से ओवुलेशन की प्रक्रिया को समझ सकती हैं। क्योंकि उनमें ओवुलेशन का दिन निश्चित होता है।
  • हर महीने दर्द किसी भी किनारे हो सकता है।
  • यह दर्द अचानक बिना चेतावनी के शुरू हो जाता है।
  • यह कुछ मिनटों या कुछ घंटो तक दर्द बना रहता है।
  • कुछ महिलाओं में मलती की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
  • यदि पेट दर्द के साथ यह भी दर्द हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
    (और पढ़े – ब्लू बेरी के फायदे महिलाओं के लिए)

ओवुलेशन पेन का इलाज क्या है ? (What are the Treatments of Ovulation Pain in Hindi)

  • ओवुलेशन पेन आमतौर पर 24 घंटो के भीतर ठीक हो जाते है। इसमें कोई विशेष उपचार की जरुरत नहीं होती है। कुछ महिलाओं में अधिक दर्द होने लगता है। इससे उनको बहुत पीड़ा होती है। कुछ देर बाद अपने आप ठीक भी हो जाती है।
  • कुछ महिलाओं में लंबे समय तक चलने वाली परेशानी का अनुभव होता है।
  • यदि दर्द के बारे में कुछ समझ नहीं आ रहा हो तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • दर्द से छुकारा दिलाने के लिए कुछ दवाइया है। जैसे इबप्रोफेन, एसीटामिनोफेन, ओवर द काउंटर इत्यादि दवाएं है।
  • यदि कोई चिकिस्तक कारण नहीं है तो डॉक्टर अन्य सलाह दे सकते है।
  • यदि दर्द हो रहा है तो बिस्तर पर थोड़ा आराम करना चाहिए।
  • दर्द से राहत पाने के लिए दर्द की खुराक भी ले सकते है।
  • अपने चिकिस्तक के अनुसार बताई गयी एंटी-इंफ्लेमेटरी की दवा भी ले सकते है।
  • यदि आप गर्भ धारण करना चाहती है तो दवाइयों का सेवन करने से बचे।
  • हार्मोन्स गर्भनिरोधक गोली व अन्य गर्भनिरोधक भी ओवुलेशन पेन रोक सकती है। यह ओवुलेशन प्रक्रिया को रोकते है। अपने चिकिस्तक से इस मामले में बात कर ले।

ओवुलेशन पेन के बारे में अधिक जानकारी एव इलाज करवाना हो तो तुरंत गयनाकोलॉजिस्ट चिकिस्तक (Gynecologists) से संपर्क करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − 7 =