एकार्डी सिंड्रोम के कारण, लक्षण व उपचार। Aicardi Meaning in Hindi.

Login to Health सितम्बर 30, 2020 Brain Diseases, Lifestyle Diseases 1261 Views

English हिन्दी Tamil

Aicardi Syndrome Meaning in Hindi. 

एकार्डी सिंड्रोम एक तरह दुर्लभ विकार है जो अधिकांश रूप से महिलाओं में होता है। यह विकार कापर्स कालोसम बनाने की प्रक्रिया को प्रभावित कर देता है। हालांकि यह अधिक प्रभावित व्यक्तियों में एक साथ होते हैं। कापर्स कालोसम एक संरचना है जो मस्तिष्क के  बाएं और दाएं हिस्सों को जोड़ते हैं। एकार्डी सिंड्रोम से पीड़ित लोग में कापर्स कॉलोसम पूरी तरह या आंशिक रूप से गायब हो सकते है। आपको बता दे, कॉलोसम शैशवावस्था (इन्फेंटाइल ऐंठन) में शुरू होने वाले दौरे होते हैं, जो आगे चलकर बार-बार होने वाले दौरे (मिर्गी) में बदलाव होने लगते है जिसका का इलाज मुश्किल हो सकता है। प्रभावित व्यक्तियों में कोरियोरेटिनल लैकुने भी होते हैं, जो आंख के पीछे (रेटिना) में प्रकाश के प्रति संवेदनशील ऊतक में दोष होते हैं। एकार्डी  सिंड्रोम (Aicardi Syndrome Meaning in Hindi) वाले लोगों में अक्सर मस्तिष्क में असामान्यताएं होती हैं, जिनमें मस्तिष्क के दोनों किनारों के बीच विषमता, मस्तिष्क के सिलवटों और खांचे होते हैं जो आकार में छोटे या संख्या में कम होते हैं, अल्सर, और केंद्र के पास द्रव से भरे हुए द्रव्यों का बढ़ना व मस्तिष्क का कुछ में असामान्य रूप से छोटा सिर (माइक्रोसेफली, Microcephaly ) होता है। अधिकांश प्रभावित व्यक्तियों में कम या अधिक विकास में देरी होती है जो बौद्धिक विकलांगता का कारण बन सकती है। इसके अलावा कुछ लोग इस विकार से पीड़ित होकर उनमे विकलांगता हो सकती हैं। 

  • एकार्डी सिंड्रोम के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Aicardi Syndrome in Hindi)
  • एकार्डी सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Aicardi Syndrome in Hindi)
  • एकार्डी सिंड्रोम के परीक्षण ? (Diagnoses of Aicardi Syndrome in Hindi)
  • एकार्डी सिंड्रोम के उपचार क्या हैं ? (What are the Treatments for Aicardi Syndrome in Hindi)

एकार्डी सिंड्रोम के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Aicardi Syndrome in Hindi)

  • एकार्डी सिंड्रोम एक तरह की दुर्गम स्तिथि है। यह सिंड्रोम देश में ही नहीं बल्कि विश्व में बहुत लोग पीड़ित है। कुछ शोधकर्ता के अनुसार इस सिंड्रोम का सटीक कारण पता नहीं चल पाया है। चिकिस्तक के अनुसार बच्चें के शरीर में किसी तरह की समस्या के कारण यह सिंड्रोम हो सकता है। एकार्डी सिंड्रोम मुख्य रूप से महिलाओं को प्रभावित करता है। कुछ चिकिस्तक के अनुसार क्रोमोसोन में परिवर्तन होने से यह समस्या हो सकती है। जैसा की आपको पता है दो क्रोमोसोन होते है जिनमे एक्स और वाई शामिल है। 
  • पुरुषो में क्रोमोसोन अलग होते है क्योंकि उनमे एक्स और वाई जबकि महिला में दोनों एक्स ही होते है। शोध के अनुसार भूर्ण में किसी तरह की गड़बड़ी होने से क्रोमोसोन प्रभावित हो सकता है। इसके अलावा यदि एक क्रोमोसोन गड़बड़ हुई है तो दूसरी क्रोमोसोन जीवित रहती है। 
  • एकार्डी सिंड्रोम पर अभी और शोध चल रहा है लेकिन अभी तक इस सिंड्रोम का कोई स्पष्ट कारण पता नहीं हुआ है। इसलिए इनके जोखिम को जान पाना बहुत कठिन हो जाता है।  (और पढ़े – कोरोना वायरस संक्रमण क्या हैं)

एकार्डी सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Aicardi Syndrome in Hindi)

आमतौर तौर पर एकार्डी सिंड्रोम के लक्षण छोटे बच्चे जो दो से पांच महीने के होते है इनमे दिखाई देते है। लक्षण के शुरू होने पर शिशु को दौरा पड़ सकता है। दौरा बार -बार पड़ने से मिर्गी में परिवर्तित हो सकता है। इसके अलावा बच्चों के आंखो में पीलापन नजर आ सकता है। एकार्डी सिंड्रोम के अन्य लक्षण और संकेत शामिल हो सकते है। चलिए आगे बताते हैं। 

एकार्डी सिंड्रोम के परीक्षण ? (Diagnoses of Aicardi Syndrome in Hindi)

  • एकार्डी सिंड्रोम के निदान करने के लिए मस्तिष्क का एमआईआर किया जाता है। यह सिंड्रोम मस्तिष्क से जुड़ा होता है इसलिए दिमाग का परीक्षण किया जाता है। इसमें ईसीजी जिसके माध्यम से दिमाग की गतिविधि को रिकॉर्ड किया जाता है। 
  • नेत्र रोग के विशेषज्ञ सिंड्रोम का पता करने के लिए आंखो की जांच करते है ताकि रेटिना के भीतर क्रीमी रंग गुहे यानि कैविटी देख सकते है। 

एकार्डी सिंड्रोम के उपचार क्या हैं ? (What are the Treatments for Aicardi Syndrome in Hindi)

  • एकार्डी सिंड्रोम का कोई विशेष उपचार नहीं है। लेकिन इनके लक्षण के आधार पर रोकथाम की जा सकती है। हालांकि यह सिंड्रोम लोगो में अलग -अलग तरह से हो सकता है। यही कारण है चिकिस्तक अलग तरीके से उपचार करता है। 
  • कुछ लोगो में गंभीर दौरे पड़ने पर चिकिस्तक मस्तिष्क का उपचार कर सकते है। इसके अलावा उपचार हेतु कुछ थेरेपी का उपयोग कर सकते है जैसे फिजियोथेरेपी, स्पीच थेरेपी, ऑक्यूपेशनल थेरेपी आदि का उपयोग कर सकते है। इनके मदद से सिंड्रोम को रोका व नेत्रों से जुडी समस्या को ठीक किया जा सकता है। (और पढ़े – स्पीच थेरेपी क्यों की जाती हैं)

अगर आपको एकार्डी सिंड्रोम (Aicardi Syndrome Meaning in Hindi) के बारे में अधिक जानकारी व उपचार करवाना हो तो संक्रामक रोग चिकिस्तक (Pediatrician) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Pediatrician in Mumbai

Best Pediatrician in Delhi

Best Pediatrician in Bengaluru