जानिए बादाम खाने के बेहतरीन फायदे। Benefits of Eating Almonds

जुलाई 13, 2019 Lifestyle Diseases 10040 Views

English हिन्दी Tamil

Benefits of Almonds Meaning Hindi.

बादाम एक ऐसा पोषक तत्व है जो शरीर को ताकत प्रदान करता है। बादाम में विटामिन ‘इ’ प्रचुर मात्रा में, मेग्नीशियम,एंटी ऑक्सीडेंट्स पोषक तत्व पाया जाता है। यह दिमाग को बढ़ाने में मदद करता है और दिमाग के याददाश्त को भी तेज रखता है। जिससे भूलने की बीमारी नहीं होती है। बादाम में अधिक कैलोरी नहीं होती है। जिससे वजन बढ़ने का खतरा नहीं होता है। किंतु बादाम का सेवन सही समय और सही मात्रा में करना चाहिए। बादाम शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता को कम करता है। चलिए बादाम के फायदे के बारे में और जानकारियाँ प्राप्त करते है।

  • बादाम खाने के फायदे क्या है ? (What are The Benefits of Eating Almonds in Hindi)
  • बादाम खाने का सही तरीका क्या है ? (What is The Right Time to Eat Almonds in Hindi)
  • कौन-सी बीमारियों में बादाम अधिक खाना चाहिए ? (In Which Diseases You Should Eat More Almonds in Hindi)
  • बादाम के खाने के नुकसान क्या है ? (What are The Side-Effects of Eating Almonds in Hindi)
  • बादाम खाने से महिलाओं के क्या फायदे हैं ? (What are The Benefits of Eating Almonds for Women in Hindi)

बादाम खाने के फायदे क्या है ? (What are The Benefits of Eating Almonds in Hindi)

  • बादाम का सेवन करने से मस्तिष्क की स्मरण शक्ति बढ़ती है क्योकि बादाम में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व है।
  • बादाम में एंटी-आक्सीडेंस गुण होता है जो शरीर के ब्लडप्रेशर को नियंत्रण करने में मदद करता है।
  • अगर व्यक्ति का पाचन ठीक से नहीं हो पा रहा है तथा उसे कब्ज की समस्या हो रही है। तो
  • बादाम का सेवन अत्यंत फायदे मंद होता है। जिससे कब्ज की समस्या दूर होती है।
  • अगर व्यक्ति के नाखुनो में किसी प्रकार का चोट हो तो बादाम का सेवन करना चाहिए जिससे चोट जल्दी भरने में मदद मिलेगी।
  • बादाम का नियमित रूप से सेवन करने से होठो की समस्या दूर होती है।
  • कनखजूरे के काटे चुभ जाने पर चोट पर बादाम का तेल लगाने से फायदा मिलता है।
  • अगर पेशाब में जलन होता है तो भीगे हुए बादाम को छीलकर खाना चाहिए तो पेशाब करते समस्य जलन का अनुभव नहीं होगा।
  • यदि सिर में अत्यधिक दर्द हो रहा है तो बादाम के एक गिरी को पीसकर उसमे सरसो का तेल मिलाकर सिर की मालिश करे। यह करने से सिरदर्द कम हो जायेगा।
  • शरीर में अत्यधिक कमजोरी को दूर करने के लिए बादाम के साथ जावित्री,केसर,जायफल,इलायची,चीनी,कमलाक्ष,लौंग इत्यादि को पीसकर घी और खोये में पकाकर सेवन करे जिससे कमजोरी दूर होगी।
  • यदि कमर दर्द से बहुत परेशान है तो बादाम का सेवन नियमित रूप से करे कमर दर्द की समस्या कम होती है। (और पढ़े – कमर दर्द क्यों होता है)

बादाम खाने का सही तरीका क्या है ? (What is The Right Time to Eat Almonds in Hindi)

  • यदि कोई भी कार्य सही तरह से नहीं करते है तो उसका परिणाम भी अच्छा नहीं होता है। उसी प्रकार बादाम खाने का भी सही समस्य और सही तरीका होता है।
  • रात को बादाम को पानी में भीगो कर रख दे तथा दूसरे दिन सुबह में भीगे हुए बादामों को छील कर सेवन करना चाहिए। जिससे सभी तरह के बादाम के प्रोटीन शरीर को मिलते है।
  • बादाम को एक दिन में 8 से 10 बादाम का केवल सेवन करना चाहिए। जिससे पेट में गर्मी नहीं होती व गैस की समस्या नहीं होती है।
  • अंकुरित बादाम का सेवन करने से अधिक मात्रा में पोषक तत्व मिलता है।अंकुरित बादाम करने के लिए भीगे हुए बादमो को दो या तीन तक पानी में रखने से बादमो में अंकुर आ जाते है और इसे अकुंरित बादाम कहते है। यह अकुंरित बादाम शरीर को पोषक तत्व देते है।

कौन-सी बीमारियों में बादाम अधिक खाना चाहिए ? (In Which Diseases You Should Eat More Almonds in Hindi)

  • अगर हृदय से जुडी किसी प्रकार की समस्या है, तो बादाम का अधिक सेवन करना चाहिए। (और पढ़े – हार्ट अटैक क्यों होता है)
  • शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए बादाम का सेवन करना चाहिए।
  • यदि आप मधुमेह रोग से पीड़ित है। मधुमेह को नियंत्रित करने लिए अधिक बादाम का सेवन करे।
  • दॉतो की बीमारी दूर करने लिए बादाम का अधिक सेवन करना चाहिए।
  • यदि कोई व्यक्ति पीलिया रोग से ग्रस्त है तो उसे बादाम अधिक सेवन करवाना चाहिए। जिससे पीलिया के मरीज को राहत मिलता है।
  • यदि व्यक्ति चेचक संक्रमण से ग्रस्त है तो उसे बादाम का हलवा खिलाना चाहिए। इससे व्यक्ति को ताकत मिलती है।
  • यदि सुखी खांसी आ रही है या दमा की बीमारी हो तो बादाम का अधिक सेवन करे। इसके पोषक तत्व शरीर की बीमारी को कम करते है।
  • बादाम में जिंक,मैग्नीशियम,विटामिन इ प्रचुर मात्रा में होता है जो बवासीर मरीजों के लिए फायदेमंद होता है इसलिएबवासीर के मरीजों को बादाम का अधिक सेवन करना चाहिए।

बादाम के खाने के नुकसान क्या है ? (What are The Side-Effects of Eating Almonds in Hindi)

बादाम के अनेको फायदे आप जान चुके होंगे लेकिन फायदे के साथ कुछ नुकसान भी होता है।

  • बादाम को मात्रा से अधिक खाने पर शरीर में वायु गैस की समस्या उत्पन्न होती है। गैस की समस्या वाले व्यक्तियों को बादाम का सेवन कम करना चाहिए।
  • बादाम में अत्यधिक आक्सलेट होता है जो आक्कोलेट्स क्रिस्टलीकरण का कारण बनता है। इसलिए गुर्दे की बीमारी और पित्ताशय की बीमारी वाले मरीजों को बादाम का सेवन नहीं करना चाहिए। (और पढ़े – गुर्दे की पथरी के कारण क्या है)

 बादाम खाने से महिलाओं के क्या फायदे हैं ? (What are The Benefits of Eating Almonds for Women in Hindi)

  • महिलाओं को त्वचा से सम्बंधित समस्या को दूर करने लिए रोज नियमित रूप से सुबह भीगे हुए बादाम का सेवन करना चाहिए। जिससे त्वचा से सम्बंधित सारी समस्याएं दूर हो जाती है।
  • गर्भवती महिला और उसके शिशु का स्वास्थ अच्छा बनाये रखने के लिए बादाम में पर्याप्त मात्रा में फोलिक एसिड होता है। यह फोलिक एसिड नवजात शिशु के जन्म दोषो की घटनाओं को कम करता है,इसलिए बादाम का सेवन गर्भवती महिला को करना चाहिए।
  • महिलाओं को मासिक-धर्म के दौरान बहुत कमजोरी हो जाती है। कमजोरी दूर करने लिए बादाम को दूध में मिलाकर सेवन करना चाहिए। जिससे शरीर में ताकत बढ़ेगी और कमजोरी दूर होगी।
  • महिलाओं को वजन कम करने के लिए बादाम सेवन करना चाहिए। क्योंकि बादाम में उच्च मात्रा में फाइबर और प्रोटीन होता है। जो शरीर के वजन को घटाता है।

अगर बादाम के सेवन करने से किसी प्रकार की स्वास्थ में समस्या उत्पन्न हो रही है तो तुरंत जनरल फिजिशियन डॉक्टर (General Physician) से संपर्क करे।


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox