जामुन के पत्ते के फायदे । Benefits Of Jamun Leaves in Hindi

Login to Health जनवरी 15, 2021 Lifestyle Diseases 4099 Views

हिन्दी Bengali

जामुन के पत्ते के फायदे का मतलब हिंदी में, (Jamun Leaves Meaning in Hindi)

जामुन एक मौसमी फल है जो सभी को बहुत पसंद होता है। जामुन के फायदे के बारे में हर किसी को पता होता है, लेकिन बहुत कम लोगो को पता है जामुन के पेड़ में बहुत से औषधीय गुण होते है, जिनका उपयोग कई तरह की आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है। इसके अलावा जामुन की पत्तियों में भी ऐसे गुण है जो स्वास्थ्य की समस्या को ठीक करने में मदद करता है। जैसे मधुमेह को नियंत्रण करने में, कैंसर को रोकने में, उच्च रक्तचाप, पाचन आदि में फायदेमंद होता है। चलिए आज के लेख में आपको जामुन के पत्ते के स्वास्थ्य के लाभ के बारे में विस्तार से बतायेंगे। 

  • जामुन क्या है ? (What is Jamun in Hindi)
  • जामुन के पोषक तत्व ? (What are the Nutrients and Minerals Found of Jamun in Hindi)
  • जामुन के पत्ते के स्वास्थ्य लाभ ? (Health Benefits of Jamun Leaves in Hindi)

जामुन क्या है ? (What is Jamun in Hindi)

जामुन एक ऐसा फल है जिसे कई नामो से जाना जाता है। जामुन को अंग्रेजी में ब्लैक पल्म व इंडियन बेरी कहा जाता है। जामुन में कई तरह के औषधीय गुण व ग्लूकोज व फ्रुक्टोज उपस्तिथ है जो स्वास्थ्य की कई तरह की समस्या का उपचार करने में मदद करता है। जामुन का सेवन करने से पाचन स्वास्थ्य बेहतर रहता है और जामुन के बीज मधुमेह के लिए रामबाण उपाय माना जाता है। जामुन के पेड़, पत्तिया, फूल, बीज सभी का उपयोग दवाइयों और टेबलेट बनाने में उपयोग किया जाता है। (और पढ़े – ब्लू बेरी के फायदे क्या है)

जामुन के पोषक तत्व ? (What are the Nutrients and Minerals Found of Jamun in Hindi)

जामुन में बहुत से पोषक तत्व और खनिज पाए जाते है। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, लोहा, फाइबर, मैग्नीशियम, पोटेशियम, ग्लूकोज, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और अन्य आवश्यक पोषक तत्व मौजूद है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।  (और पढ़े – फाइबर का महत्व आहार में)

जामुन के पत्ते के स्वास्थ्य लाभ ? (Health Benefits of Jamun Leaves in Hindi)

जामुन के पत्ते के बहुत से स्वास्थ्य लाभ है। चलिए आगे विस्तार से बताते है। 

  • अल्सर के लिए जामुन की पत्तियों में बहुत से ऐसे गुण मौजूद है जो स्वास्थ्य की समस्या को ठीक करने में फायदेमंद होता है। इसके अलावा त्वचा की समस्या व अल्सर का उपचार करने में मदद करता है। त्वचा में सूजन व दर्द को जामुन की पत्तिया ठीक करती है। जामुन की पत्तिया प्राकृतिक रूप से उपचार में सहायक होता है। लेकिन अधिक अल्सर की समस्या होने पर चिकिस्तक से जांच करवाना चाहिए। (और पढ़े – नीम के फायदे क्या है)
  • मुंह के छालो को ठीक करने में मुंह के छालो को ठीक करने के लिए जामुन की पत्तियों का उपयोग लाभकारी होता है। मुंह के छाले होने पर व्यक्ति को खाने पीने में बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ता है। जामुन की पत्तियों जीवाणुरोधक गुण होता है जो संक्रमण को रोकने के लिए फायदेमंद होता है। पाचन स्वास्थ्य को मजबूत करने के लिए जामुन की पत्तिया गुणकारी होती है। अगर आपके मुंह में छाले हो गए है तो जामुन की पत्तियों का उपयोग दवा के रूप में कर सकते है। (और पढ़े – मुंह के छाले का इलाज क्या है)
  • बुखार ठीक करने में  बुखार का इलाज के लिए जामुन की पत्तियों का उपयोग पुराने ज़माने से किया जा रहा है। जामुन की पत्तिया बुखार के स्तर को कम करने के लिए मदद करता है। बुखार कम करने के लिए जामुन की पत्तियों का उपयोग कर सकते है। यदि अत्यधिक बुखार है तो घरेलु उपचार की जगह चिकिस्तक को दिखा सकते है। (और पढ़े – चमकी बुखार क्या है)
  • पाचन के लिए फायदेमंद जामुन के पत्तों में बहुत से औषधीय गुण का समावेश है जो पाचन तंत्र को मजबूत करने में फायदेमंद होता है। जामुन की पत्तिया केवल पाचन के लिए नहीं बल्कि स्वास्थ्य की अन्य समस्या को ठीक करने में मदद करता है। कुछ शोध के अनुसार जामुन की पत्तियों की आयुर्वेदिक गुण होता है जो अपच व कमजोर पाचन प्रणाली को ठीक करता है। यदि आपकी पाचन क्रिया कमजोर है तो जामुन की पत्तियों का उपयोग कुछ अन्य जड़ीबूटियों के साथ चिकिस्तक की सलाह से कर सकते है। (और पढ़े – दालचीनी के फायदे पाचन तंत्र मजबूत करने में)
  • डायबिटीज को नियंत्रण करने में जामुन की पत्तिया मधुमेह के रोगियों के अच्छा घरेलु उपचार है। कुछ शोध के अनुसार जामुन की पत्तिया डायबिटीज को नियंत्रण करने में मदद करता है। जामुन के फूल व जामुन के सिरके का सेवन भारत में डायबिटीज को नियंत्रण करने के लिए उपयोग करते है। यदि मधुमेह पहले से नियंत्रण में है तो जामुन की पत्तियों का सेवन करने से पहले चिकिस्तक की सलाह ले सकते है। (और पढ़े – मधुमेह का घरेलू उपचार)
  • पेचिश को ठीक करने में जामुन के पत्तो के फायदे कोई व्यक्ति पेचिश से परेशान है तो उनको जामुन की पत्तियों का उपयोग करना चाहिए। जामुन की पत्तियों में बहुत से विटामिन व खनिज के अलावा एंटी बैक्टीरियल गुण मौजद है जो पेचिश की समस्या को ठीक करने में मदद करता है। जामुन की पत्तियों का उपयोग औषधीय बनाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा पेचिश को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक दवाइया भी बनाई जाती है। यदि कोई पेचिश से अधिक परेशान है तो जामुन की पत्तियों का उपयोग कर सकते है। (और पढ़े – दस्त होने के कारण क्या है)

हमें आशा है की जामुन के पत्ते के फायदे ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको जामुन के पत्ते का उपयोग करने से स्वास्थ्य में किसी तरह की समस्या हो रही है, तो सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क करें। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best General Physician in Delhi

Best General Physician in Mumbai

Best General Physician in Bangalore 

Best General Physician in Chennai