केमिकल पील क्या हैं । Chemical Peel in Hindi

दिसम्बर 17, 2020 Lifestyle Diseases 1272 Views

English हिन्दी العربية

केमिकल पील क्या हैं ? (Chemical Peel Meaning in Hindi)

केमिकल पील एक तरह का कॉस्मेटिक उपचार है, इसमें मृत कोशिकाओं को निकालकर त्वचा को स्वस्थ बनाया जाता है। यह उपचार उन लोगो के लिए लाभदायक होता है जो रूखी त्वचा, मुंहासे और दाग-धब्बे से बहुत परेशान रहते है। इस उपचार की मदद से त्वचा को पहले से बेहतर बनाया जाता है और साथ ही स्ट्रेस मार्क्स भी चले जाते है। हालांकि केमिकल पील की प्रक्रिया में प्राकृतिक एसिड्स और केमिकल का मिश्रण तैयार कर, फेशियल के माध्यम से त्वचा के मृत कोशिकाओं को ठीक किया जाता है। महिलाओं में एक नया फैशन चल गया है, त्वचा में निखार और सुंदरता बढ़ाने के केमिकल स्किन पीलिंग ट्रीटमेंट करवाती है। लेकिन किसी भी महिला को उपचार करवाने के पहले चिकिस्तक सलाह लेनी चाहिए। ऐसा इसलिए केमिकल पील ट्रीटमेंट्स के फायदे है तो कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते है। बहुत से लोग के मन में सवाल आ रहा होगा, केमिकल पील ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है ? तो चलिए आज के लेख में आपको केमिकल पील के उपचार, फायदे व नुकसान के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

  • केमिकल स्किन पीलिंग ट्रीटमेंट कैसे होता हैं ? (What is chemical skin peeling treatment in Hindi)
  • केमिकल पील के प्रकार ? (Types of chemical peels in Hindi)
  • केमिकल पील के फायदे क्या हैं ? (What are the benefits of chemical peels in Hindi)
  • केमिकल पील के नुकसान क्या हैं ? (What are the Side-Effects of chemical peels in Hindi)

केमिकल स्किन पीलिंग ट्रीटमेंट कैसे होता हैं ? (What is chemical skin peeling treatment in Hindi)

केमिकल स्किन पीलिंग ट्रीटमेंट एक आउट पेशेंट प्रक्रिया है जिसमे मरीज का उपचार कर उसी दिन घर जाने की अनुमति दे दी जाती है। हालांकि मरीज को अस्पताल में एक दिन पूरा रहने की जरूरत नहीं पड़ती है। इस प्रकिया में चिकिस्तक पहले त्वचा को साफ करते है और मर्त कोशिकाओं को साफ करने के लिए केमिकल सॉल्यूशन का उपयोग करते है। केमिकल सॉल्यूशन ऊपरी मर्त त्वचा को साफ करने में मदद करता है। इसके अलावा त्वचा पर कुछ केमिकल का प्रयोग किया जाता है जिससे त्वचा के छाले फट जाते है और त्वचा और निखार आ जाता है। इस प्रकिया का उपयोग खासतौर पर त्वचा को सूंदर और मुलायम बनाने के लिए किया जाता है। 

केमिकल पील के प्रकार ? (Types of chemical peels in Hindi)

केमिकल पील एक उपचार है जो त्वचा को निखारने के लिए किया जाता है। केमिकल पील तीन प्रकार से किया जाता है। 

  • सतही छिलके (Superficial peels) इस प्रकार में धीरे-धीरे छूटने के लिए अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड जैसे हल्के एसिड का उपयोग करते हैं। यह केवल त्वचा की सबसे बाहरी परत में प्रवेश करता है।
  • मध्यम छिलके (Medium Peels) – इस प्रकार में जो कौशल के मध्य और बाहरी परत तक पहुंचने के लिए ट्राइक्लोरोएसेटिक या ग्लाइकोलिक एसिड का उपयोग करते हैं। यह क्षतिग्रस्त त्वचा कोशिकाओं को हटाने के लिए इसे और अधिक प्रभावी बनाता है।
  • गहरे छिलके (Deep peels) इस प्रकार में जो क्षतिग्रस्त त्वचा कोशिकाओं को हटाने के लिए पूरी तरह से त्वचा की मध्य परत में प्रवेश करते हैं। ये छिलके अक्सर फिनोल या ट्राइकोकैलसिटिक एसिड का उपयोग करते हैं।

केमिकल पील के फायदे क्या हैं ? (What are the benefits of chemical peels in Hindi)

केमिकल पील ट्रीटमेंट त्वचा को खूबसूरत और मुलायम बनाने के लिए खासतौर पर किया जाता है। चलिए केमिकल पील के फायदे के बारे में बताते हैं। 

  • केमिकल पील ट्रीटमेंट त्वचा को खूबसूरत और मुलायम बनाने के लिए खासतौर पर किया जाता है। चलिए केमिकल पील के फायदे के बारे में बताते हैं। 
  • केमिल पील बढ़ती उम्र के कारण त्वचा में आई दाग धब्बों को कम करने में मदद करता है। 
  • केमिकल पील ट्रीटमेंट त्वचा की झुर्रिया कम करने मदद करता है और त्वचा को दोबारा खूसूरत बना देता है। 
  • यदि त्वचा पर किसी तरह के मुंहासे है, उनको दूर करने में केमिकल पील फायदेमंद होता है। 
  • केमिकल स्किन पीलिंग त्वचा में हाइड्रैशन को बढ़ाने में मदद करता है। 
  • त्वचा में मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए केमिकल स्किन पीलिंग फायदेमंद होता है। 
  • धुप की हानिकारक किरण से त्वचा पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है और प्रभावित त्वचा को सामान्य बनाने के लिए केमिकल पील फायदेमंद रहता है। 
  • चेहरे के फाइन लाइन्स को समाप्त करने के लिए केमिकल पील का उपयोग किया जाता है। (और पढ़े – रूखी त्वचा को स्वस्थ रखने के उपाय)

केमिकल पील के नुकसान क्या हैं ? (What are the Side-Effects of chemical peels in Hindi)

केमिकल पील करवाने के कुछ फायदे है, तो कुछ निम्न नुकसान भी हो सकते है। चलिए आगे बताते हैं। 

  • यदि केमिकल पील ट्रीटमेंट करवाया है, तो धुप में बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन त्वचा पर लगाए और धुप वाले चश्मे लगाकर निकले। 
  • केमिकल पील करवाने के बाद त्वचा लाल हो सकती है, जब तक सामान्य स्तिथि में त्वचा न आ जाये तब तक त्वचा लाल नजर आती है। 
  • यदि त्वचा में दाद या किसी तरह का संक्रमण है, तो केमिकल पील करवाने से संभावना और बढ़ सकती है। ऐसा, इसलिए केमिकल पील बैक्टीरिया संक्रमण का जोखिम हो सकता है। (और पढ़े – दाद का उपचार क्या है)
  • केमिकल ट्रीटमेंट के बाद कुछ लोगो की त्वचा अधिक काली या अधिक गोरी हो सकती है। इसके अलावा जिनकी त्वचा पहले से काली है उनमे रंग में परिवर्तन स्थायी हो सकता है। 
  • केमिकल पील के करवाने से त्वचा पर निशान अधिकतर मामलो नहीं पड़ता है, लेकिन निशान पड़ता है तो आपके चिकिस्तक कुछ दवा की खुराक दे सकते है ताकि निशान को कम किया जा सके। 
  • यदि किसी को एक्जिमा या त्वचा से जुडी समस्या है, तो केमिकल पील ट्रीटमेंट्स नहीं करवाना चाहिए। इसके अलावा गर्भवती महिला को इस उपचार से बचना चाहिए। (और पढ़े – एक्जिमा के आयुर्वेदिक उपचार क्या है)

हमें आशा है की आपके प्रश्न केमिकल पील क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

गर आपको केमिकल पील के बारे में अधिक जानकारी एव उपचार करवाना हो, तो त्वचा विशेषज्ञ (Dermatologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Dermatologist in Bangalore

Best Dermatologist in Chennai

Best Dermatologist in Delhi

Best Dermatologist in Mumbai


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox