शरीर में जमी गंदगी को कैसे दूर करे।How to Detox your body in Hindi.

Login to Health सितम्बर 28, 2020 Lifestyle Diseases 1399 Views

English हिन्दी

How to Detox your body in Hindi. 

मनुष्य का शरीर एक मशीन की तरह काम करता है इसलिए शरीर के सभी भागो की सफाई करनी चाहिए। शरीर के ऊपरी सफाई तो हर कोई बड़ी आसानी से कर लेता है, किंतु अंदर की सफाई पर ज्यादा लोग ध्यान नहीं देते है। इसका परिणाम शरीर के स्वास्थ्य पर पड़ता है  इसलिए शरीर के अंदर की सफाई करना बहुत जरुरी होता है। बहुत लोग सोच रहे होंगे शरीर की अंदर की सफाई कैसे करें ? आपको बता दे, शरीर को किस तरह डेटॉक्स करना है आपके विकल्प पर होता है। कुछ लोग बिना समझे कुछ खाद्य पदार्थो का सेवन करने लगते है, जिसके कारण शरीर में हानिकारक तत्व जमा होने लगते है। इन हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने के लिए डेटोक्सिफिकेशन (How to Detox your body in hindi)  का उपयोग कर सकते है। शरीर की गंदगी को कैसे बाहर निकाले के बारे में आपको इस लेख में विस्तार से बताया गया है। 

  • शरीर को डिटॉक्सिफाई कब करें ?  (When to detox the body in Hindi)
  • डिटॉक्सिफिकेशन कैसे काम करता है ? (How Does Detoxification Work in Hindi)
  • शरीर से विषाक्त पदार्थो को बाहर क्यों करना चाहिए ? (Why is it necessary to exclude toxins from the body in Hindi)
  • शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के तरीके क्या हैं ? (Ways To Help Your Body Detoxify in Hindi)

शरीर को डिटॉक्सिफाई कब करें ?  (When to detox the body in Hindi)

शरीर की जिस तरह ऊपरी सफाई जरुरी है उसी तरह शरीर की अंदर की सफाई भी जरुरी होती है। शरीर को डीटॉक्स करने के लिए लोग सोच में पड़ जाते है और बहुत से लोग को पता नहीं होता है। आपको बता दे, कुछ शोध के अनुसार साल में एक बार शरीर को डेटॉक्स करना आवश्यक होता है। लेकिन यह बच्चों और मरीजों के लिए नहीं होता है। इसके अलावा कुछ लोग शरीर की गंदगी दूर करना चाहते है तो अपने चिकिस्तक से परामर्श ले सकते है। आपको आंतरिक लक्षण का अनुभव होता है। जैसे मासिकधर्म की समस्या, जननांगो में संक्रमण, एलर्जी होना, आलस आना, थकान महसूस करना, त्वचा में खुजली आदि। (और पढ़े – मासिकधर्म में होने वाली समस्याएं)

डिटॉक्सिफिकेशन कैसे काम करता है ? (How Does Detoxification Work in Hindi)

डिटॉक्सिफिकेशन का अर्थ है रक्त की सफाई होना क्योंकि लिवर में रक्त के साथ कुछ हानिकारक पदार्थ होते है, जिनको निकालने के लिए मदद करता है। डिटॉक्सिफिकेशन Detoxification का उपयोग कर शरीर के आंतरिक भागो की सफाई कर सकते है। आंतरिक भाग जैसे त्वचा, लसिका प्रणाली, फेफड़ा, गुर्दा व आंत से हानिकारक पदार्थ को हटाता है। डीटॉक्स एक ऐसी क्रिया है जिससे शरीर के अंदर की सफाई की जा सकती है। (और पढ़े – खीरे के पानी के फायदे)

शरीर से विषाक्त पदार्थो को बाहर क्यों करना चाहिए ? (Why is it necessary to exclude toxins from the body in Hindi)

शरीर के आंतरिक भाग में जमे गंदगी को सही समय पर सफाई करनी चाहिए। यदि सही समय पर अंदर की गंदगी को साफ न किया जाए तो गंदगी जमा होने लगती है और शरीर संक्रमित कर बिमार बना देती है। शरीर में जमा गंदगी विषाक्त पदार्थ बैक्टीरिया को बढ़ावा देते है, तो रोगप्रतिरोधक क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए, सभी समस्या के जोखिम से बचने के लिए शरीर को डिटॉक्स किया जाना चाहिए। (और पढ़े – फैटी लिवर क्यों होता है)

शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के तरीके क्या हैं ? (Ways To Help Your Body Detoxify in Hindi)

शरीर में जमे गंदगी को बाहर निकालने के लिए आप कुछ प्राकृतिक उपाय का उपयोग कर सकते है। चलिए आगे बताते हैं। 

  • सुबह पानी पीना लाभदायक – शरीर की गंदगी को प्राकृतिक रूप से दूर करने के लिए सुबह उठकर एक ग्लास पानी पीना चाहिए। इसके अलावा सोने से पहले और दिन में पानी पीने से गंदगी दूर होती है। अगर आप सुबह खली पेट एक ग्लास पानी पिते है तो मल त्यागने के दौरान विषैले पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाते है। (और पढ़े – डिहाइड्रेशन क्यों होता है)
  • गंदगी को दूर करने के लिए अच्छी नींद लेना शरीर में जमा हानिकारक पदार्थ को बाहर निकालने के लिए व्यक्ति को अपनी नीद पूरी करनी चाहिए। रात में अच्छी नींद लेने से बॉडी डीटॉक्स होती है। इसके लिए व्यक्ति कम से कम 7 से 8 घंटे की नीद की जरूरत है। नींद पूरी होने से न केवल वजन कम होता है बल्कि शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते है। (और पढ़े – नींद में चलने की समस्या)
  • शुगर वाली चीजे कम ले शरीर को डेक्सीफिकेशन करने के लिए शुगर वाली चीजे बहुत कम खाएं क्योंकि शुगर की अधिक मात्रा शरीर के लिए हानिकारक होती है। लोगो को मीठे खाद्य पदार्थो से बचना चाहिए। शरीर में अधिक मिठास होने पर इन्सुलिन प्रभावित होता है और शुगर की बीमारी होने का जोखिम बढ़ जाता है। आप शरीर को स्वस्थ रखने वाले भोजन का सेवन करना चाहिए। 
  • शरीर की गंदगी दूर करने के लिए व्यायाम करे शरीर में जहरीले पदार्थ को बाहर निकालने के लिए रोजाना व्यायाम करना चाहिए जिसमे स्ट्रेंज व्यायाम शामिल जरूर करे। सभी अपने काम में इतना व्यस्त रहते है की व्यायाम के लिए वक्त नहीं निकालते है जिस वजह से अनेक बीमारियों से प्रभावित हो जाते है। इसलिए बीमारियों से बचने के लिए थोड़ा समय निकाल कर व्यायाम जरूर करे। व्यायाम करने से शरीर सुस्त व फिट रहता है जिससे थकान महसूस नहीं होता है। (और पढ़े – दूध के फायदे)
  • ग्रीन टी का सेवन करे रोजाना सुबह ग्रीन टी लेने से शरीर के टोक्सिन बाहर निकल जाते है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते है जो विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करता है।

शरीर में जमा गंदगी को दूर करने के बारे ( How to Detox your body in Hindi) अधिक जानकारी के लिए सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।