पैरों के छालों के घरेलु उपाय । Home remedies for Foot blisters in Hindi

Login to Health अप्रैल 16, 2021 Lifestyle Diseases 22 Views

हिन्दी

पैरों के छालों का मतलब हिंदी में,  (Foot blisters Meaning in Hindi)

पैरों के छालों के घरेलु उपाय

पैरो में छाले होना एक आम समस्या है जो किसी को भी हो सकती है। यह अक्सर पैरो और जूतों के बिच घर्षण के वजह से होता है। इसके अलावा अत्यधिक चलने या फिरने व गलत साइज के जुते पहनने से होता है। सामान्यतौर पर पैरो की त्वचा में अधिक नमी होने से छाले आ सकते है। हालांकि पैरो में छाले की समस्या अत्यधिक गंभीर नहीं होती है, इसलिए घरेलु उपचार की मदद से ठीक किया जा सकता है। बहुत से पैरो के छाले को नजरअंदाज कर देते है जो की सही नहीं होता है। पैरो के छाले में अत्यधिक दर्द व सूजन आने पर चिकिस्तक से संपर्क कर सकते हैं। चलिए आज के लेख में आपको पैरो के छाले को ठीक करने के घरेलु उपचार के बारे में बताने वाले हैं। 

  • पैरों में छाले क्यों होता हैं ? (Causes of Foot Blisters in Hindi)
  • पैरों के छालों के घरेलु उपचार ? (Home remedies for Foot Blisters in Hindi)

पैरों में छाले क्यों होता हैं ? (Causes of Foot Blisters in Hindi)

पैरों में छाले होने के कई कारण हो सकते है। इसके अलावा पैरों में छाले आने से दर्द और सूजन की समस्या होती है। 

  • गलत साइज़ के जुटे पहनने के कारण पैरो में छाले निकल सकते है। 
  • बहुत देर तक चलने से पैरो में छाले आ सकते है। 
  • जूतों को पहनकर अधिक समय तक धुप में रहने से सूर्य की हानिकारक किरण से सनबर्न हो सकता है साथ ही पेरो पर एलर्जिक रिएक्शन दिख सकता है। 
  • पैरो के छिलने के कारण छाले निकल सकते है। 
  • कई लोगो में अत्यधिक व्यायाम करने के कारण पैरो में छाले आ सकते हैं। 
  • फफूद संक्रमण के प्रभाव पैरो पर पड़ने से छाले आ सकते है। 
  • जीवाणु संक्रमण के कारण पैरो में छाले पड़ सकते है। 
  • रासायनिक उत्पादकों के दुष्परिणाम के कारण पैर में छाले हो सकते है। 
  • दाद होने के कारण पैरो पर छाले पड़ सकते है। 

पैरों के छालों के घरेलु उपचार ? (Home remedies for Foot Blisters in Hindi)

पैरो के छाले दूर करने के निम्नलिखित घरेलु उपचार है। 

  • नमक पैरो के छाले ठीक करने में नमक बहुत उपयोगी होता है। यह पैरो के छाले के साथ सूजन, दर्द को कम करता है क्योंकि नमक में हीलिंग गुण होता है। घरेलु उपचार के लिए बर्फ के टुकड़े में नमक मिला ले और पानी पिघलने पर सूती कपडे से भिगोकर फफोले व छाले वाली जगह पर 10 मिनट तक रखे। इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहरा सकते है। 
  • ग्रीन टी ग्रीन टी का उपयोग बहुत से स्वास्थ्य संबंधित समस्या के लिए किया जाता है। इसमें अच्छी मात्रा में औषधीय गुण है जो पैरो के छाले के उपचार में सहायक होता है। इसके अलावा पैरो के सूजन, दर्द व लालिमा को कम करता है। ग्रीन टी का उपयोग करने के लिए गर्म पानी में एक ग्रीन बैग डुबाए और बेकिंग सोडा मिला ले। जब पानी ठंडा हो जाएं तो टी बैग को फफोले पर रख दे। इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं। (और पढ़े – ग्रीन टी के फायदे वजन कम करने में)
  • एलोवेरा- एलोवेरा में बहुत से औषधीय गुण यानि एंटी-इंफेलेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल  मौजूद है जो पैरो के छालो को ठीक करने में मदद करता है। एलोवेरा छाले की गर्मी को कम करती है साथ ही सूजन को कम करता है। अगर पैरो में छाले पड़ गए है तो एलोवेरा का उपयोग जरूर करें। (और पढ़े – एलोवेरा के फायदे क्या है)
  • अरंडी का तेल अरंडी तेल का उपयोग त्वचा संबंधित समस्या के लिए किया जाता है। इसमें बहुत से औषधीय गुण मौजूद है जो पैरो के छालो को ठीक करने में प्रभावी होता है। पैरो के छाले होने पर सूजन, दर्द व खुजली को कम करने में यह तेल फायदेमंद होता है। इस तेल का उपयोग रात को सोने से पहले करना फायदेमंद होता है। (और पढ़े – अरंडी के तेल के फायदे)
  • विच हैजल पैरो में छाले और सूजन को ठीक करने में विच हेजल फायदेमंद होता है। यह छाले के साथ दर्द को कम करने में मदद करता है। इसका उपयोग करने के लिए विच हेजल के छाल के टुकड़े को पानी में भिगो दे और इस पानी में किसी साफ कपडे को भिगोकर छाले पर लगा सकते है। इस प्रक्रिया को दो या तीन बार दोहरा सकते है। ऐसा करने पर पैरो के छाले ठीक होने लगते है। (और पढ़े – जीभ के छाले क्यों होता है)
  • पेट्रोलियम जेल त्वचा की सामान्य समस्या के उपचार में पेट्रोलियम जेल उपयोगी माना जाता है। फटे होठों और पैरो के छालो के इलाज में पेट्रोलियम जेल फायदेमंद होता है। इसका उपयोग करने के लिए रात को सोने से पहले प्रभावित जगह पर पेट्रोलियम जेली लगा ले। यह त्वचा में नमी बनाये रखता है साथ ही दर्द व सूजन को कम करता है। इस प्रक्रिया को तब तक करे जबतक छाले ठीक न हो जाएं। (और पढ़े – सर्दियों में त्वचा की देखभाल)
  • सेब का सिरका सेब के सिरके में जीवाणुरोधक व एंटी – इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद है जो पैरो के छालो को ठीक करने में मदद करता है। इसके अलावा फफोले व सूजन को कम करने में प्रभावी होता है। यदि पैरो में छाले पड़ते है तो सेब के सिरके का उपयोग कर सकते है। इसके लिए एक कटोरी में सेब का सिरका ले और रुई की मदद से फफोले पर आराम से थपथपाएं। ऐसा करने से दर्द व सूजन कम होने लगता है। (और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे)

हमें आशा है की आपके प्रश्न पैरों के छालों के घरेलु उपाय ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको पैरो में छाले की समस्या हो रही है तो सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा,उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best General Physician in Delhi

Best General Physician in Mumbai

Best General Physician in Chennai

Best General Physician in Bangalore