ग्लूकोमा सर्जरी क्या हैं। Glaucoma Surgery in Hindi.

Login to Health नवम्बर 2, 2020 Lifestyle Diseases 335 Views

हिन्दी Bengali

ग्लूकोमा सर्जरी क्या हैं ? (Glaucoma Surgery Meaning in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी क्या हैं ? ग्लूकोमा सर्जरी को काले मोतियाबिंद का ऑपेरशन कहा जा सकता है। ग्लूकोमा की सर्जरी तब की जाती है जब दवा या ड्राप से कोई नतीजा नहीं मिलता है तो ऐसे में सर्जरी का विकल्प लिया जाता है। हालांकि यह सर्जरी ऑप्टिक नर्व के बिगड़ने के खतरे को कम करने के लिए किया जाता है। आपको बता दे हमारे रेटिना जो चित्र को दिमाग तक पहुंचाने का काम करते है वो एक तरह की ऑप्टिक नर्व ही होती है। ग्लूकोमा होने पर आखों पर अधिक दबाव लगता है और कुछ भी देखने पर व्यक्ति आंखो पर अधिक जोर देता है। इससे आंखो के ऑप्टिक नर्व बिगड़ने लगते है। चिकिस्तक के अनुसार ग्लूकोमा का सही पर उपचार करवाना जरुरी होता है नहीं तो व्यक्ति अपनी आंखो की दृष्टि खो सकता है। बहुत से ऐसे लोग भी होते है जो आंखो से जुडी समस्या को नजरअंदाज कर देते है जो आगे चलकर किसी बड़ी समस्या का सामना न करना पड़े। 

  • ग्लूकोमा सर्जरी क्यों किया जाता हैं ? (What are the Purpose of Glaucoma Surgery in Hindi)
  • ग्लूकोमा सर्जरी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of Glaucoma Surgery in Hindi)
  • ग्लूकोमा सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Glaucoma Surgery in Hindi)
  • ग्लूकोमा सर्जरी के बाद क्या जटिलताएं आ सकती हैं ? (What are the Risks of Glaucoma Surgery in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी क्यों किया जाता हैं ? (What are the Purpose of Glaucoma Surgery in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी की जरूरत निम्न समस्या में हो सकती है। 

  • आखों में दर्द होना। 
  • ऑप्टिक नर्व में गड़बड़ी होना। 
  • आंखो में किसी तरह की समस्या। 
  • अगर कुछ भी देखने पर आंखो पर अधिक दबाव लगाना पड़ रहा है तो सर्जरी करवाने की सलाह दे सकते है। 

ग्लूकोमा सर्जरी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of Glaucoma Surgery in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी के पहले चिकिस्तक मरीज के आंखो की जांच करते है और आंखो से संबंधित कुछ सवाल पूछते है। जैसे कोई दवा आंखो में उपयोग करते है या नहीं। सर्जरी के दिन मरीज को बात करनी चाहिए एनेस्थेटिस्ट की क्योंकि प्रक्रिया शुरू करने से पहले बेहोश किया जा सकता है। इसके अलावा सर्जरी के बाद क्या खाना पीना आदि। सर्जरी के दौरान मरीज को सुन्न या बेहोश किया जाता है। इस प्रक्रिया में आंखो से इकट्ठा तरल पदार्थ को बाहर निकाल दिया जाता है। इस प्रक्रिया में 40 से 50 मिनट तक का समय लग सकता है। ग्लूकोमा सर्जरी को को निम्न प्रकार से किया जा सकता है। 

  • ट्रेब्यूलेक्टॉमी (Trabeculotomy) ट्रेब्यूलेक्टॉमी के समान है, लेकिन एक विद्युत प्रवाह का उपयोग आंखों के एक छोटे से हिस्से को हटाने के लिए किया जाता है। 
  • विस्कोसैलोस्टॉमी (Viscocanalostomy) – इसमें नेत्रगोलक (श्वेतपटल) के सफेद बाहरी आवरण का हिस्से को हटा दिया जाता है ताकि द्रव आपकी आंख से अधिक आसानी से निकल सके। 
  • गहरी स्क्लेरेक्टॉमी (deep sclerectomy) इस प्रक्रिया में आपकी आंख में ड्रेनेज ट्यूब को चौड़ा किया जाता है, कभी-कभी उनके अंदर एक छोटे उपकरण को प्रत्यारोपित करके। 
  • ट्रैब्युलर स्टेंट बाईपास (trabecular stent bypass) इस में नाली को बढ़ाने के लिए एक छोटी ट्यूब को आपकी आंख में रखा जाता है।  (और पढ़े – नाक की सर्जरी)

ग्लूकोमा सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Glaucoma Surgery in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी के बाद मरीज को उसी दिन अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है। घर जाने पर चिकिस्तक निम्न बातों का ध्यान रखने की सलाह देते है। 

  • सर्जरी के बाद जांच के लिए एक हफ्ते के अंदर अस्पताल आना चाहिए। इसके अलावा दूसरे हफ्ते आखों में कैसा लग रहा इस बारे में चिकिस्तक को बताएं। 
  • घर जाने पर आंखो के लिए दिए दवा को समय पर ले और आई ड्राप को डाले। 
  • सर्जरी के बाद एक महीने तक काम के लिए बाहर न जाएं और आराम करें। 
  • सर्जरी के बाद टीवी और लैपटॉप को न देखे। 
  • आंखो की सर्जरी के बाद कम से कम एक हफ्ते तक चश्मा लगाएं। 
  • सर्जरी के बाद किसी ऐसी जगह पर व्यायाम न करे जिससे आंखो में मिट्टी पडे। इसके अलावा भागे-दौड़े नहीं जब तक आप अच्छे से ठीक न हो जाएं। (और पढ़े – मोतियाबिंद के कारण क्या है)

ग्लूकोमा सर्जरी के बाद क्या जटिलताएं आ सकती हैं ? (What are the Risks of Glaucoma Surgery in Hindi)

ग्लूकोमा सर्जरी के बाद निम्न जटिलताएं उत्पन्न हो सकती है। 

  • मोतियाबिंद का खतरा बढ़ सकता है। 
  • जलन की समस्या पैदा हो सकती है। 
  • आंखो में ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। 
  • देखने में कमजोरी हो सकती है। 
  • आंखो पर कम या अधिक दबाव पड़ सकता है। 
  • आंखो में दर्द होना। 
  • आंखो में लालिमा आ सकती है। (और पढ़े – आई फ्लू क्या है)

सर्जरी के बाद अगर आपको अधिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो अपने चिकिस्तक से संपर्क कर बता दे, ताकि चिकिस्तक अन्य उपचार कर समस्या को कम कर सके। 

हमें आशा है की आपके प्रश्न ग्लूकोमा सर्जरी क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको ग्लूकोमा सर्जरी के बारे में अधिक जानकारी व इलाज करवाना हो तो (Ophthalmologists) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Ophthalmologist in Delhi

Best Ophthalmologist in Mumbai

Best Ophthalmologist in Chennai

Best Ophthalmologist in Bangalore