इम्युनिटी का बढ़ना बहुत जरुरी क्यों होता है। Immunity in Hindi

मई 28, 2019 Lifestyle Diseases 14258 Views

हिन्दी Bengali

Immunity Meaning in Hindi

शरीर में रोगो से लड़ने में इम्युनिटी का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहता है। यह इम्युनिटी ही होती है जो शरीर में आने वाले संक्रमण को नष्ट कर देती है और शरीर की कोशिकाओं और फेफड़ो को साफ़ एव कैंसर से बचाने में मदद करती है। यह शरीर से कई तरह की बीमारियों को दूर करती है और शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करती है। आइए इम्युनिटी क्या है के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करे।

  • इम्युनिटी क्या है ? (What is Immunity in Hindi)
  • इम्युनिटी के कितने प्रकार है ? (What are The Types of Immunity in Hindi)
  • इम्युनिटी कम होने का कारण क्या है ? (What are The Causes of Low Immunity in Hindi)
  • इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए? (How To Increase Your Immunity in Hindi)

इम्युनिटी क्या है ? (What is Immunity in Hindi)

इम्युनिटी को हिंदी में रोग प्रतिरोधक क्षमता कहा जाता है। यह शरीर को जीवाणु और वायरल संक्रमण से बचाने में मदद करती है। इम्युनिटी में ऐसी शक्ति होती है जो शरीर की कोशिकाये ऊतक व अंगो की सुरक्षा करते है तथा रोगो को शरीर से बहार निकालने में सहायता करते है। इम्युनिटी को प्राकृतिक सिस्टम भी कहा जाता है। शरीर में इम्युनिटी को बढ़ना बहुत जरुरी होता है। यदि इम्युनिटी कमजोर हो जाती है तो यह रोगो से लड़ने में असमर्थ हो जाते है।

(और पढ़े – एवोकाडो के फायदे रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने में)

इम्युनिटी के कितने प्रकार है ? (What are The Types of Immunity in Hindi)

इम्युनिटी दो प्रकार की होती है।

  • इनेट इम्युनिटी :- यह इम्युनिटी व्यक्ति के रोगो से शरीर की सुरक्षा करती है किंतु यह लंबे समय तक नहीं रहती है।
  • एडेटिव इम्युनिटी:- यह इम्युनिटी व्यक्ति के रोगो से लड़ने में बहुत फायदेमंद होती है और यह लंबे समय तक शरीर की सुरक्षा करने में मदद करती है

इम्युनिटी कम होने का कारण क्या है ? (What are The Causes of Low Immunity in Hindi)

इम्युनिटी कम होने के अनेको कारण होते है।

  • व्यायाम एव योगा ना करना :- आजकल की तेज तर्रार जिंदगी में लोग कामो के अभाव में शारीरिक गतिविधिया यानि रोजाना व्यायाम एव योगा नहीं कर पाते है। इस कारण शरीर की इम्युनिटी कमजोर हो जाती है और बीमारियों से लड़ने में असमर्थ हो जाती है। महिला हो या पुरुष दोनों को रोजाना सुबह शाम व्यायाम और योगा करना चाहिए।
  • नींद पूरी ना होना :- कुछ लोग अधिक देर तक मोबाईल और टीवी देखने में व्यस्त रहते है जिसके कारण उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। शरीर को पूरी तरह आराम नहीं मिलने के कारण धीरे धीरे शरीर की इम्युनिटी को कम होती जाती है।
  • तनाव होना :- हमारे जीवन में किसी न किसी विषय को लेकर एक तनाव सा रहता है। यह तनाव अधिक होने के कारण सिरदर्द,छाती में दर्द ,जी मिचलाना,भय लगना इत्यादि होता है। इम्युनिटी रोगो से लड़ने में सहायक जरूर होती है किंतु कभी कभी लोव इम्युनिटी होने के कारण इम्युनिटी सहायता नहीं कर पाता है।
  • पोषणयुक्त आहार ना लेना ;- आजकल बच्चे या बड़े लोग दोनों ही जंकफ़ूड का बहुत तेजी से सेवन कर रहे है। व्यक्ति के सही तरह के पोषक आहार नहीं लेने से शरीर को पर्याप्त मात्रा पोषक तत्व नहीं मिल पाता है। शरीर में इम्युनिटी बढ़ नहीं पाती है और शरीर में रोगो की गति भी बढ़ जाती है और इस कारण व्यक्ति हमेशा बीमार रहता है।

इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए ?  (How To Increase Your Immunity in Hindi)

इम्युनिटी बढ़ाने के अपनी जीवनशैली में परिवर्तन करना बहुत आवश्यक होता है।

  • रोजाना व्यायाम :- शरीर में इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाने के लिए रोजाना व्यायाम करना चाहिए। रोजाना व्यायाम करने से शरीर के सभी अंगो का व्यायाम होता है और शरीर के तंत्र सही तरीके से कार्य करने लगते है। शरीर का स्वास्थ्य ठीक रहने लगता है और इम्युनिटी सिस्टम बढ़ता है।
  • नींद लेना :- व्यक्ति को रोजाना 6 से 7 घंटा सोना बहुत जरुरी होता है। रोजाना जल्दी सोने व उठने की आदत डाल ले से शरीर को पूर्णरूप से आराम मिलेगा और शरीर में इम्युनिटी की बढ़ोतरी होगी
  • साफ सफाई रखना :- अपने आसपास के परिसर को हमेशा स्वच्छ रखना चाहिए ताकि कोई जीवाणु या संक्रमण आपको क्षति ना पंहुचा सके। इसके लिए जरुरी है खाना खाने से पहले अपने हाथो को अच्छे से साफ़ करे उसके बाद ही भोजन का सेवन करे। यह करने से संक्रमण शरीर में प्रवेश नहीं कर पायेंगे और शरीर की इम्युनिटी बानी रहेगी।
  • ग्रीन टी का सेवन करना :- आपको कॉफी की जगह ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए क्योकि ग्रीन टी में एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा प्रचुर होते है जो शरीर के इम्युनिटी को मजबूत बनाने और बढ़ाने में सहायक होते है।

(और पढ़े – ग्रीन टी के फायदे)

  • विटामिन डी पोषक तत्व :- विटामिन डी इम्युनिटी को शक्तिशाली बनाता है तथा डॉक्टर भी विटामिन डी वाले पोषक पदार्थ खाने की सलाह देते है क्योकि विटामिन डी कोल्ड फ्लू और संक्रमण से लड़ने में सहायता करता है। विटामिन वाले पदार्थ जैसे :- समुद्री खाना,टूना,सैमन इत्यादि है।
  • विटामिन बी पोषक तत्व :- विटामिन बी में प्रचुर मात्रा में जस्ता और एंटी ऑक्सीडेंट तत्व होता है। यह तत्व शरीर के इम्युनिटी को बढ़ाते है। विटामिन बी वाले पोषक तत्व जैसे :- ब्रॉकली,लहसुन,अदरक,अनार इत्यादि है।
  • अधिक दवाइयों का सेवन ना करे :-  यदि व्यक्ति किसी प्रकार की दवाइयों का सेवन करते है तो यह उस बीमारी को ठीक कर देता है लेकिन इम्युनिटी सिस्टम में बाधा उत्पन्न करता है। एंटीबॉयोटिक दवाइया रोगो से मुक्ति दिलाती है किंतु इम्युनिटी शरीर की सुरक्षा करने में असमर्थ हो जाता है इसलिए जितना हो सके दवाइयों का सेवन करने से बचे।
  • प्रोस्टेट फ़ूड खाने से बचे :- मॉल में मिलने वाले जंक फ़ूड जैसे बर्गर, पिज़्ज़ा, कोल्ड्रिंक, पेस्ट्री आदि है। जो शरीर की इम्युनिटी सिस्टम को खराब कर देते है क्योकि इनमे किसी तरह का विटामिन नहीं होता है इसलिए प्रोस्टेट फ़ूड खाने से बचे।
  • धूम्रपान से बचे :- यदि व्यक्ति अपने शरीर की सुरक्षा करना चाहते है तो तुरंत धम्रपान एव शराब नशा करने की आदतों को करना बंद कर दे क्योकि यह शरीर के लिए हानिकारक होता है।

अगर आप इम्युनिटी से जुडी किसी प्रकार की जानकारी एव इलाज करवाना चाहते है तो तुरंत जनरल फिजिशियन डॉक्टर (General Physician) से संपर्क करे।


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox