इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या पीना लाभदायक होता हैं। Immunity Meaning in Hindi

Login to Health अक्टूबर 5, 2020 Lifestyle Diseases 878 Views

हिन्दी

Immunity Meaning in  Hindi.

हमारे देश में कोरोना जैसी महामारी ने बहुत कहर मचाया है। इस वायरस ने बच्चों, बड़े, बूढ़ो सभी को अपनी चपेट में ले रखा है। जैसा की आप रोज समाचारो में देखते रहते है मरीजों की संख्या 25 लाख तक पहुंच गयी है जो की बहुत ही चिंता का विषय है। हालांकि जिन लोगो की रोगप्रतिरोधक क्षमता सही है वे लोग कोरोना वायरस को हरा कर बच गए है। इसके अलावा जो लोग किसी बीमारी से ग्रस्त थे या इम्युनिटी कमजोर थी व इस वायरस से बच नहीं पाएं। चिकिस्तक का भी कहना है इस वायरस का कोई सटीक उपचार नहीं आ जाता तब तक लोगो को अपनी इम्युनिटी बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। लोगो को अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पोषक तत्वों से युक्त भोजन व पेय लेने की आवश्यकता हैं। भारत में बहुत पुराने ज़माने से लोगो अपने शरीर को बीमारियों से बचाने के लिए हल्दी वाला दूध, काढ़ा, अदरक की चाय आदि लेते आ रहे है। यही, देशी उपाय सभी को अपनाना चाहिए और इस महामारी से खुद को बचाना चाहिए। आज के इस लेख में हम आपको इम्युनिटी (Immunity Meaning in Hindi) बढ़ाने के लिए कुछ पेय ड्रिंक्स के बारे में बताने वाले हैं। 

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या पीना लाभदायक होता हैं ? What is beneficial to drink to increase immunity in Hindi.

शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता (Immunity Meaning in Hindi) बढ़ाने के लिए कुछ देशी घरेलु ड्रिंक्स है जिसका उपयोग कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते है। चलिए आगे विस्तार से बताते हैं। 

  • दालचीनी की चाय दालचीनी एक तरह का मसाला है जिसका उपयोग भोजन का जायका बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा बहुत से स्वास्थ्य समस्या के लिए दालचीनी का उपयोग किया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट व एंटी इफ्लेमेंटरी गुण होता है इसे एक तरह का इम्युनिटी बूस्टर भी कहा जाता है। दालचीनी की चाय पीने से शरीर की बीमारियों से लड़ने की ताकत बढ़ती है और व्यक्ति स्वस्थ रहता है। दालचीनी केवल रोगप्रतिरोधक क्षमता नहीं बढ़ाती बल्कि मधुमेह को नियंत्रण करने में, पाचन स्वास्थ्य को मजबूत बनाने में, मस्तिष्क की समस्या को ठीक करने में लाभदायक माना जाता हैं। लेकिन आप दालचीनी चाय की मात्रा केवल चाय की तरह ले न की रस की तरह क्योंकि अत्यधिक लेने से शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है इसलिए किसी चीज सही मात्रा में उपयोग करना ही फायदेमंद होता हैं। 
  • नींबू पानी बढ़ाए इम्युनिटी नींबू में विटामिन सी उच्च मात्रा में होता है जो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट व फ्लैवोनोइड्स, साइट्रस बायोफ्लावोनॉयड अच्छी मात्रा में होते है। नींबू पानी का सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए दिन में दो बार नींबू पानी का सेवन कर सकते है। हालांकि नींबू में साइट्रिक एसिड होता है इसलिए यदि आपको गैस्ट्रिक की समस्या है तो ऐसे नींबू पानी का सेवन  चाहिए। (और पढ़े – नींबू के फायदे मुहांसे के लिए)
  • अदरक की चाय अदरक एक बहुत अच्छा घरेलु उपचार माना जाता है, इसमें बहुत से औषधीय गुण मौजूद है जो स्वास्थ्य संबंधित समस्या को ठीक करने में मदद करता है। अदरक की चाय का सेवन करने से पेट दर्द, पेट में गैस की समस्या ठीक हो जाती है। अदरक की चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए शहद मिला सकते है। अत्यधिक मात्रा में अदरक का सेवन शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है। जैसे की दिल की गति तेज होना, महिलाओं  मासिकधर्म में अत्यधिक रक्तश्राव होना या इंसुलिन के स्तर में बढ़ौतरी होना आदि है। इसलिए अदरक को सीमित मात्रा में  इम्युनिटी को मजबूत करें। (और पढ़े – अदरक के फायदे और नुकसान)
  • काढ़ा का सेवन करें भारत में काढ़ा का सेवन करना एक बहुत पुरानी परंपरा है। ऐसा बड़े बुजुर्गो का मानना है पुराने समय में लोग अपनी इम्युनिटी (Immunity Meaning in Hindi) को बढ़ाने के लिए रसोई में देशी काढ़ा बनाकर सेवन करते थे जिसके कारण जल्दी बीमार नहीं पड़ते थे। जैसा की आपको मालूम है भारतीय रसोइयों में काली मिर्च, जीरा, लौंग, दालचीनी, पेपर कॉर्न आदि बड़ी आसानी से मिल जाता है। इन सभी साम्रगी को पानी में उबालकर छान लेना चाहिए। इस तैयार पेय को देशी काढ़ा कहा जाता है जो की ऐसे महामारी में एक अच्छा इम्युनिटी बूस्टर है। बहुत से लोग काढ़ा को मसाले वाली चाय के नाम से संबोधित करते है। यह चाय शरीर की रोगो से लड़ने ी न केवल क्षमता बढ़ाती है बल्कि पेट दर्द, पेट में गैस, पाचन समस्या, मलती, त्वचा में रूखेपन इत्यादि में लाभदायक होती है। हालांकि यह काढ़ा आप रोज के बजाय सप्ताह में दो या तीन दिन ले सकते है। (और पढ़े – कोरोना वायरस संक्रमण क्या हैं)
  • हल्दी वाला दूध बढ़ाए इम्युनिटी भारतीय लोगो की परंपरा है रात को सोते समय दूध पीना या सुबह के नाश्ते के साथ दूध पीना आदि। क्या आप जानते है दूध में हल्दी मिलाकर सेवन करने से शरीर को बहुत से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होते है। कोरोना वायरस जैसी बीमारी से बचने के लिए शरीर की इम्युनिटी मजबूत होनी चाहिए इसलिए ऐसे में हल्दी वाला दूध बहुत अच्छा इम्म्युंटी बूस्टर  (Immunity Meaning in Hindi) है जो शरीर की ताकत को बढ़ाता है और रोगो से लड़ने की क्षमता को दुगुना कर देता है। हल्दी में एंटी ऑक्सीडेंट व एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण मौजूद होता है जो दूध के पोषक तत्वों को और बढ़ाता है। हल्दी वाला दूध खासतौर पर लोग बुखार, सर्दी-खांसी, चोट लगने पर सेवन करते है क्योंकि हल्दी दर्द व चोट को भरने में मदद करता है। अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए आप गाय के दूध में चुटकी भर हल्दी मिलाकर रोजाना सेवन कर सकते हैं। (और पढ़े – हल्दी के स्वास्थ्य लाभ)

अगर आपको इन देशी पेय ड्रिंक्स को पीने से स्वास्थ्य में किसी प्रकार की अनिमियता हो रही है, तो आने नजदीकी सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क करें। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best General Physician in Delhi

Best General Physician in Mumbai

Best General Physician in Bangalore

Best General Physician in Chennai