आंखो में खुजली के कारण, लक्षण, उपचार व बचाव। Itchy Eyes in Hindi

Login to Health अप्रैल 26, 2020 Lifestyle Diseases 6360 Views

हिन्दी

खुजली वाली आँखों का अर्थ (Itchy Eyes Meaning in Hindi)

आंखो में खुजली होना (Itchy Eyes Meaning in Hindi ) एक सामान्य बता है। इसलिए आंखो के आसपास खुजली होने से व्यक्ति अधिक परेशान हो जाता है। कई ऐसे भी लोग होते है जो सही समय पर चिकिस्तक के पास जाकर उपचार करवाते है। हालांकि कुछ लोगो में आंखो में एलर्जी की समस्या होने से खुजली की समस्या होने लगती है। आंखो को अधिक रगड़ने व मसलने से समस्या और बढ़ जाती है। कीटाणु के फैलने से आंखो की पुतलियों को नुकसान पहुंच सकता है। अक्सर आंखो में खुजली उन लोगो में अधिक देखी जाती है जो अपनी आंखो को बहुत मलते और रगड़ते हैं। अधिक प्रदूषण वाले जगह पर जाने से आंखो में नुकसान पहुंचता है।

अपनी आंखो को रगड़ने व मसलने की आदत बदलिए और ठंडा बर्फ से सेकने का काम करीए। यदि समस्या अधिक हो रही है तो नेत्र चिकिस्तक से संपर्क कर सकते है। आंख बहुत नाजुक होती है इसलिए आंखो का खास ध्यान देना चाहिए। चलिए आंखो में खुजली होने की समस्या को विस्तार से बताते हैं।

  • आंखो में खुजली के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Itchy Eyes in Hindi)
  • आंखो में खुजली के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Itchy Eyes in Hindi)
  • आंखो में खुजली का उपचार क्या हैं ? (What are the Treatments for Itchy Eyes in Hindi)
  • आंखो में खुजली से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Itchy Eyes in Hindi)

आंखो में खुजली के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Itchy Eyes in Hindi)

आंख में खुजली होने के अनेको कारण हो सकता है।

  • आंखो में बैक्टीरिया और वायरस के कारण खुजली हो सकता हैं।
  • लेंस का अधिक उपयोग करने आंखो पर प्रभाव पड़ता है जिस कारण खुजली हो सकती है।
  • आंखो की ऊपरी व निचली परत में तेल वाली ग्रंथिया होती है। यह तेल बनाने का काम करती है। यदि इसमें किसी तरह की समस्या होती है आंख में आने वाले आंसू में तेल नहीं होता है।
  • कुक विषाक्त पदार्थो के कारण आंखो में सूजन व लालिमा आ जाता है। अक्सर सूक्ष्मजीव के प्रभाव से आंख में खुजली होने लगती है।
  • कॉर्निया और कंजक्टिवा आंख के सामने की झिल्ली होती है। इसमें सूजन की समस्या होती है। यह समस्या अनुवांशिक कारण से होता है और एलर्जी वाले पदार्थो से हो सकता है। यह कभी भी आंखो को प्रभावित करता है
  • आंखो में पानी की कमी होने से सूखापन हो जाता है। इस वजह से आंख में धुल मिट्टी बाहर नहीं आ पाते है।
  • आंख में सूजन व दर्द की समस्या हो जाती है। (और पढ़े – आंखो की चमक बढ़ाने के घरेलू उपचार क्या है)

आंखो में खुजली के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Itchy Eyes in Hindi)

आंख में खुजली होने के निम्नलिखित लक्षण नजर आते है। लेकिन सभी में एक ही लक्षण नजर नहीं आता बल्कि भिन्न-भिन्न होता है।

  • आंखो से पानी आना। (और पढ़े – आई फ्लू क्या है)
  • सांस लेने में परेशानी होना।
  • आंखो की सूजन।
  • सूजन होने पर आंख न खोल पाना।
  • आंख अधिक लाल हो जाना।
  • छाती में बलगम का जमाव।
  • प्रकाश सहन न कर पाना।
  • सांस लेने में घरघराहट की ध्वनि आना।
  • दर्द होना।
  • धुंधला नजर आना।
  • छींक आना। (और पढ़े – छींक आने का कारण क्या हैं)
  • दोहरा दिखना।
  • भेंगापन होना।
  • आंख की पलक सूज जाना।
  • आंख लाल हो जाना।

आंखो में खुजली का उपचार क्या हैं ? (What are the Treatments for Itchy Eyes in Hindi)

आंखो में खुजली होने पर कुछ निम्न तरीके से उपचार कर सकते है।

  • चिकिस्तक कुछ आई ड्राप डालने की सलाह दे सकते है जो किसी भी दवा के दुकान पर मिल जाता है।
  • आंखो को साफ पानी से धोने से आंख की खुजली कम हो जाती है। पानी से धोने से एलर्जी वाले पदार्थ बाहर निकल जाते है।
  • आंख में डालने वाली दवा को फ्रिज में रखने से आंखो को और आराम मिलता है।
  • आंख में खुजली और लाल या बंद नाक और नाक बहना आदि लक्षण महसूस हो रहे है, तो नाक में स्प्रे वाली स्टेराइड दवा का उपयोग कर सकते है। लेकिन उपयोग करने से पहले चिकिस्तक की सलाह ले सकते है। (और पढ़े – आंखो के लिए बादाम के फायदे)
  • गुलाब जल आंखो के लिए बहुत फायदेमंद होता है यह खुजली और लालिमा को दूर करता है।

आंखो में खुजली से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Itchy Eyes in Hindi)

आंखो में खुजली से बचाव करने के लिए कुछ निम्न उपाय का उपयोग कर सकते है।

  • जैसे: अधिक देर तक कोई कार्य कर रहे है, तो अपनी आंखो को थोड़ा-थोड़ा आराम देना चाहिए।
  • भोजन में विटामिन ए और ओमेगा फैटी एसिड का उपयोग करें।
  • आंखो में दर्द होने पर उसे रगड़ना नहीं चाहिए बल्कि ठंडे बर्फ से सके।
  • धूमप्रान से बचाव करें।
  • धुएं और खुसबू वाली अगरबत्ती के धुएं से बचें।
  • आंख के पास किसी एलर्जी वाली वस्तु का उपयोग न करें।
  • मिट्टी व धुल से आंखो का बचाव करे और केमिकल युक्त कार्य कर रहे है आंखो में प्रोटेक्शन लगाए रखें।
  • तापमान यानि अपने घर या ऑफिस के ऐसी और कूलर को सही तापमान में रखे।
  • एलर्जी होने पर तुरंत चिकिस्तक से आंखो का उपचार करवाएं।

अगर आपको आंखो से जुडी किसी प्रकार की समस्या हो रही है, तो नेत्र विशेषज्ञ (ophthalmologist) से संपर्क करें।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।