लिवर कैंसर क्या हैं । Liver cancer in Hindi

Login to Health फ़रवरी 9, 2021 Lifestyle Diseases 55 Views

हिन्दी Bengali

लिवर कैंसर का मतलब हिंदी में,  (Liver cancer Meaning in Hindi)

लिवर कैंसर क्या हैं ?

लिवर कैंसर को दूसरे शब्दो में हेपेटिक कैंसर कहा जाता है। लिवर कैंसर लिवर से शुरू होता है और जब लिवर में कैंसर का विकास होने लगता है तो कोशिकाएं नष्ट होने लगती है। इसके अलावा लिवर सामान्य रूप से अपना काम करना बंद कर देती है। लिवर कैंसर दो तरीको से हो सकता है क्योंकि पहला लिवर कैंसर कोशिकाओं से शुरू होता है और दूसरी लिवर कैंसर कही से शुरू होकर लिवर में कैंसर उत्पन्न करता है और इसे मेटास्टेसिस लिवर कैंसर कह सकते है। चलिए आज के लेख में आपको विस्तार से लिवर कैंसर के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • लिवर कैंसर के प्रकार ? (Types of Liver Cancer in Hindi)
  • लिवर कैंसर के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Liver Cancer in Hindi)
  • लिवर कैंसर के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Liver Cancer in Hindi)
  • लिवर कैंसर के परीक्षण ? (Diagnoses of Liver Cancer in Hindi)
  • लिवर कैंसर का इलाज क्या हैं ? (What are the Treatments for Liver Cancer in Hindi)

लिवर कैंसर के प्रकार ? (Types of Liver Cancer in Hindi)

  • हेपैटोसेलुलर कार्सिनोमा (Hepatocellular carcinoma) हेपेटोसेलुलर कार्सिनोमा (एचसीसी), जिसे हेपेटोमा के रूप में भी जाना जाता है, यकृत कैंसर का सबसे आम प्रकार है, जो सभी यकृत कैंसर के 75 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार है। यह स्थिति हेपेटोसाइट्स में विकसित होती है, जो प्रमुख यकृत कोशिकाएं हैं। यह यकृत से शरीर के अन्य भागों में फैल सकता है, जैसे कि अग्न्याशय, आंत और पेट। एचसीसी उन लोगों में होने की अधिक संभावना है जो शराब के दुरुपयोग के कारण जिगर की गंभीर क्षति होते हैं।
  • एंजियोसर्कोमा  Angiosarcoma एंजियोसर्कोमा में लगभग एक प्रतिशत लिवर कैंसर का मामला हो सकता है। यह रक्त वाहिकाओं में शुरू होता है और तीव्र गति से बढ़ने लगता हैं। 
  • पित्त वाहिका कैंसर  (Bile duct Cancer) यह कैंसर लिवर के छोटी ट्यूब यानि पित्त नलिका में होता है। यह नाली पित्ताशय से जोड़ती है और लिवर कैंसर का जोखिम बनता है। 

लिवर कैंसर के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Liver Cancer in Hindi)

लिवर कैंसर का सटीक कारण अभी तक ज्ञात नहीं है, किंतु हेपेटाइटिस वायरस संक्रमण के अधिक समय से होने के कारण लिवर कैंसर हो सकता है। लिवर कैंसर तब होता है जब कोशिकायो में डीनए बदलाव होता है। कोशिकाओं में डीएनए के बदलाव से कोशिकाएं अनियंत्रित होने लगती है और ट्यूमर बनाने लगती है। 

लिवर कैंसर के जोखिम कारक में शामिल हैं। 

  • मधुमेह से ग्रस्त लोगो को लिवर कैंसर का जोखिम अधिक रहता हैं। 
  • अत्यधिक मोटापा होने से लिवर कैंसर का जोखिम हो सकता है। 
  • लिवर में अधिक फैट होने से लिवर कैंसर का जोखिम रहता है। 
  • कुछ लोगो में लिवर कैंसर का अनुवांशिक कारण हो सकता हैं। 
  • अत्यधिक शराब पीने वाले लोगो को लिवर कैंसर का जोखिम लगा रहता है। 
  • सिरोसिस बीमारी से अधिक पीड़ित होने पर लिवर कैंसर का जोखिम रहता है। 
  • हेपेटाइटिस संक्रमण के गंभीर होने पर लिवर कैंसर का जोखिम हो सकता हैं।  (और पढ़े – हेपेटाइटिस बी क्या हैं)

लिवर कैंसर के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Liver Cancer in Hindi)

लिवर कैंसर के शुरुवाती लक्षण नजर नहीं आते है, किंतु जब कैंसर हो जाते है तो कुछ निम्न लक्षण नजर आते हैं। 

  • जैसे – पेट में सूजन होना। 
  • मलती व उल्टी होना। 
  • मल में सफेदी आना। 
  • वजन कम होने लगना। 
  • कमजोरी महसूस होना। 
  • आंखो में सफ़ेदी आना। 
  • भूख में कमी आना। 
  • पेट के ऊपरी भाग में दर्द होना। 
  • त्वचा में पीलापन आना।  (और पढ़े – निमोनिया के कारण क्या हैं)

लिवर कैंसर के परीक्षण ? (Diagnoses of Liver Cancer in Hindi)

लिवर कैंसर का परीक्षण करने के लिए चिकिस्तक पहले शारीरक परीक्षण करेंगे, जिसमे आपसे लिवर से जुडी कोई इतिहास या शराब की लत के बारे में पूछ सकते हैं। लिवर कैंसर की पुष्टि करने के लिए कुछ निम्न जांच कर सकते हैं। 

  • ब्लड टेस्ट लिवर फंक्शन के असामान्य कार्य की जांच के लिए रक्त परीक्षण कर सकते है।
  • इमेजिंग टेस्ट आपका चिकिस्तक अल्ट्रासाउंड, सीटी और एमआरआई जैसे इमेजिंग परीक्षणों की सिफारिश कर सकता है।
  • लिवर बायोप्सी लिवर बायोप्सी के दौरान, चिकिस्तक  एक ऊतक नमूना प्राप्त करने के लिए आपकी त्वचा के माध्यम से यकृत में एक पतली सुई डालते है। लैब में, चिकिस्तक कैंसर कोशिकाओं को देखने के लिए एक माइक्रोस्कोप के तहत ऊतक की जांच करते हैं। लिवर बायोप्सी में रक्तस्राव, चोट और संक्रमण का खतरा होता है। (और पढ़े – लंग बायोप्सी क्या हैं)

लिवर कैंसर का इलाज क्या हैं ? (What are the Treatments for Liver Cancer in Hindi)

लिवर कैंसर का इलाज कई तरीको से किया जा सकता है। 

  • सर्जरी लिवर में कैंसर को हटाने के लिए सर्जरी की जा सकती है या सर्जरी के माध्यम से ट्यूमर को हटा दिया जाता है। 
  • लिवर ट्रांसप्लांट लिवर ट्रांसप्लांट में खराब लिवर को स्वस्थ लिवर से बदल दिया जाता है। यह तब किया जाता है जब लिवर खराब या कैंसर अंगो तक फैलने लगता है। कैंसर को रोकने के लिए दवा या लिवर ट्रांसप्लांट किया जा सकता है। 
  • आबलेशन आबलेशन में कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए इथेनॉल इंजेक्शन का उपयोग किया जाता है। हालांकि व्यक्ति को बेहोश कर यह उपयोग किया जाता है, ताकि दर्द न हो। यह उपचार उनके लिए अच्छा होता है जो कभी लिवर ट्रांसप्लांट न करवाया हो। 
  • रेडिएशन थेरेपी रेडिएशन थेरेपी के माध्यम से कैंसर कोशिकाओं को मारने की कोशिश की जाती है। रेडिएशन थेरेपी आंतरिक व बाहरी किया जाता है। 
  • कीमोथेरेपी कीमोथेरेपी कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह कैंसर के उपचार में प्रभावी होता है। कुछ लोगो में कीमोथेरेपी के दौरान उल्टी, भूख न लगना, ठंडी लगना व अन्य दुष्परिणाम हो सकते है। कीमोथेरेपी संक्रमण के जोखिम को बढ़ा सकता हैं। (और पढ़े – कीमोथेरेपी क्या हैं)

हमें आशा है की आपके प्रश्न लिवर कैंसर क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको लिवर कैंसर के बारे में अधिक जानकारी व इलाज के लिए Liver and Hepatobiliary Surgeon से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Liver and Hepatobiliary Surgeon in Delhi

Best Liver and Hepatobiliary Surgeon in Mumbai

Best Liver and Hepatobiliary Surgeon in Gurgaon