कोरोना ठीक होने के बाद क्या करें । Post Covid-19 Recovery Tips

Login to Health अप्रैल 29, 2021 Lifestyle Diseases 14 Views

हिन्दी

कोरोना वायरस का मतलब हिंदी में,   (Coronavirus Meaning in Hindi)

कोरोना ठीक होने के बाद क्या करें ।

कोरोना वायरस का कहर दुनिया में बढ़ते जा रहा है जो की कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में लोगो को बड़ी सावधानी बर्तने की जरूरत है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। कुछ खबरों के अनुसार भारत में रोजाना नए मामले सामने आ रहे है। इसके अलावा कोरोना संक्रमित लोगो का मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। जैसा की आपको पता है कोरोना एक सूक्ष्म वायरस है लेकिन शरीर में जाने पर कोविड 19 का रूप ले लेता है। यह वायरस व्यक्ति में सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार, सिरदर्द जैसे लक्षण पैदा करता है। हालांकि लोगो में इस तरह के लक्षण नजर आए तो चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए। लोगो में यह सवाल चलता है की कोरोना के ठीक होने के बाद मरीज को क्या करना चाहिए, चलिए आज के लेख में आपको विस्तार से बताने वाले है। 

  • कोरोना वायरस कैसे फैलता हैं ? (How does the corona virus spread in Hindi)
  • कोरोना वायरस से बचाव कैसे करें ? (How to prevent corona virus in Hindi)
  • कोरोना ठीक होने के बाद क्या करें ? (What to do after Corona is cured in Hindi)

कोरोना वायरस कैसे फैलता हैं ? (How does the corona virus spread in Hindi)

कोरोना वायरस किसी खाने या पीने वाली चीजों से नहीं फैलता है बल्कि यह संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से आने से फैलता है। यदि संक्रमित व्यक्ति के पास बैठे रहे या उस दौरान उस व्यक्ति के खांसने या छींकने से कोरोना वायरस फ़ैल सकता हैं। इसके अलावा आप वायरस के संपर्क आने के बाद आपने कितनी बार अपने आंख या नाक को छुवा होगा इस पर निर्भर करता है। व्यक्ति के उम्र व स्वास्थ्य की स्तिथि कोरोना संक्रमण को और बढ़ावा दे सकती है। इसलिए संक्रमण न फैले इसका ध्यान रखना लोगो की जिम्मेदारी होती हैं। (और पढ़े – कोरोना वायरस के दौरान घर पर कैसे काम करें)

कोरोना वायरस से बचाव कैसे करें ? (How to prevent corona virus in Hindi)

कोरोना वायरस यानि  COVID-19 के प्रसार को रोकेने के लिए निम्न बातों का पालन करना जरुरी होता हैं। 

  • अपने हाथों को अक्सर साफ करें। साबुन और पानी का उपयोग करें, या शराब आधारित सेनेटाइजर से हाथ रगड़ें।
  • खांसी या छींकने वाले किसी भी व्यक्ति से सुरक्षित दूरी बनाए रखें।(और पढ़े – सर्दी -जुखाम के आयुर्वेदक उपचार)
  • जब शारीरिक गड़बड़ी संभव न हो तो मास्क पहनें।
  • अपनी आंखों, नाक या मुंह को न छुएं।
  • खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को अपनी मुड़ी हुई कोहनी या एक ऊतक से ढक लें।
  • यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें।
  • यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो चिकित्सा पर ध्यान दें।
  • जरुरत न होने पर घर से बाहर न निकले। 

कोरोना ठीक होने के बाद क्या करें ? (What to do after Corona is cured in Hindi)

चिकिस्तक निहाल मेहता के अनुसार कोरोना ठीक होने के बाद व्यक्ति को अपने रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। 

  • खास तौर पर अपने आहार में हरी सब्जियां, ताजे फल, नट्स, सलाद व च्यवनप्राश शामिल करना चाहिए। हालांकि सभी लोगो में खाने स्वाद थोड़ा अलग लग सकता है लेकिन आपको खाने में इनको शामिल करना चाहिए। 
  • कुछ जड़ीबूटियां शामिल कर सकते है जैसे मुलेठी, अश्वगंधा, केसर आदि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होती हैं। (और पढ़े – मुलेठी के फायदे और नुकसान)
  • कोरोना वायरस के बाद शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है इसलिए व्यक्ति व्यायाम हल्के फुल्के से शुरू करना या चलना या फिरना चाहिए ताकि मांसपेशिया मजबूत रहे। 
  • कोरोना रिकवरी व्यक्ति के लिए आराम की बहुत जरूरत होती है इसलिए सही समय सोना चाहिए और पर्याप्त मात्रा में नींद लेने की जरूरत होती है। इसके अलावा सुबह जल्दी उठने की आदत लगाना चाहिए साथ ही योगा करना चाहिए ताकि डिप्रेशन न हो। 
  • अगर आपके चिकिस्तक सलाह दे तो अपने काम शुरू कर सकते है। 
  • कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद व्यक्ति को किसी तरह का धूम्रपान या शराब के सेवन से परहेज करना चाहिए। 
  • कोरोना से ठीक होने के बाद व्यक्ति को किसी तरह की अनियमियता होने पर सही समय पर जांच के लिए चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए। यदि समस्या नहीं भी है तो भी फॉलो अप के लिए चिकिस्तक के पास जाना चाहिए। 
  • चिकिस्तक द्वारा दी गयी दवाओं को सही समय पर सेवन करना चाहिए न की नजरअंदाज करना चाहिए।  (और पढ़े – कोरोना मरीज को क्या खाना चाहिए)

हमें आशा है की आपके प्रश्न कोरोना ठीक होने के बाद क्या करें ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको कोरोना वायरस से जुड़े संकेत या लक्षण नजर आए, तो तुरंत संक्रामक चिकिस्तक  (Infection Diseases) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Infectious Disease Doctor in Delhi

Best Infectious Disease Doctor in Mumbai

Best Infectious Disease Doctor in Chennai

Best Infectious Disease Doctor in Bangalore