मसूड़ों को मजबूत करने के उपचार । Remedies for Strengthen Gums In Hindi

Login to Health जनवरी 5, 2021 Lifestyle Diseases 86 Views

English हिन्दी العربية

मसूड़ों को मजबूत करने का मतलब हिंदी में,  (Strengthen Gums Meaning In Hindi)

हमारे शरीर को बीमारियों से बचाने के लिए प्रतिशा प्रणाली का मजबूत होना आवश्यक होता है, उसी तरह मसूड़ों की मजबूती बनाये रखने के लिए दांतो की मौखिक स्वच्छता होना जरुरी है। अक्सर लोग अपने चेहरे को तो सूंदर बना लेते है पर अपने दांतो के बारे में अधिक नहीं सोचते है। इस कारण मसूड़ों में कमजोरी  आने लगती है। यदि उचित समय पर उपचार न किया जाये तो मसूड़ों में संक्रमण फ़ैल जाता है और प्लेग व टाटर की दिवार मसूड़ों पर बना देता है। इसमें से रक्त स्राव व मवाद या मसूड़े फूलना या दांत दर्द हो सकता है। मसूड़ों से जुडी समस्या बचाव करने का सबसे आम तरीका दांतो की नियमित सफाई रखना होता है। शायद कई लोगो को पता नहीं होगा कुछ घरेलू उपचारो की मदद से मसूड़ों को मजबूत कर सकते है और मसूड़ों की समस्या से बच सकते है। चलिए आज के लेख में कुछ ऐसे घरेलू उपचार के बारे में बतायेंगे, जिसके उपयोग से मसूड़ों को मजबूत कर सकते है। 

  • मसूड़े कमजोर होने के कारण ? (Causes of Strengthen Gums In Hindi)
  • मसूड़े कमजोर होने का लक्षण ? (Symptoms of Strengthen Gums In Hindi)
  • मसूड़ों को मजबूत करने के घरेलू उपचार ? (Home Remedies for Strengthen Gums In Hindi)

मसूड़े कमजोर होने के कारण ? (Causes of Strengthen Gums In Hindi)

मसूड़े कमजोर होना एक आम समस्या है। लेकिन सही समय पर उपचार न किया जाये तो समस्या गंभीर हो सकती है। मसूड़े कमजोर होने के अनेको कारण हो सकते है। चलिए आगे बताते है। 

  • कुछ लोगो में पोषक तत्वों की कमी के कारण मसूड़े कमजोर होने लगते है। 
  • जो लोग नियमित रूप से मौखिक स्वच्छता नहीं रखते है उनके मसूड़ों में बैक्टीरिया हमला और संक्रमण का जोखिम रहता है। बैक्टीरिया हमला होने से मसूड़ों पर प्लेग तैयार होने लगता है। प्लेग जमने से मसूड़ों से खून आ सकता है। 
  • गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं में हार्मोन के परिवर्तन होने से मसूड़े कमजोर हो सकते है या मसूड़ों में संक्रमण हो सकता है। 
  • मुंह में अधिक गंदगी होने से मसूड़ों पर प्रभाव तो पड़ता है साथ ही दांतो को नुकसान पहुंचता है। 
  • कुछ लोगो में पोषक तत्वों का सेवन न करके बाहर के गलत खाद्य पदर्थो का सेवन करके मसूड़ों को कमजोर बना देते है। 
  • शरीर में विटामिन सी की अत्यधिक कमी होने के कारण मसूड़े कमजोर होने लगते है और मसूड़ों में रक्तस्राव और संक्रमण हो सकता है। 
  • बहुत लोगो में तंबाकू, पान, सिगरेट की लत होने से मसूड़ों में संक्रमण व मसूड़े कमजोर हो जाते है। (और पढ़े – मुंह का कैंसर क्यों होता है)

मसूड़े कमजोर होने का लक्षण ? (Symptoms of Strengthen Gums In Hindi)

मसूड़े कमजोर होने के निम्न लक्षण हो सकते है। 

मसूड़ों को मजबूत करने के घरेलू उपचार ? (Home Remedies for Strengthen Gums In Hindi)

मसूड़ों को मजबूत करने के निम्नलिखित घरेलू उपचार है। चलिए आगे बताते हैं। 

  • अमरुद की पत्ती अमरुद की पत्तियों में ऐसे गुण मौजूद है जो बैक्टीरिया या संक्रमण को फैलने से रोकती है। अमरुद की पत्तियों में जीवाणुरोधी गुण भी है जो मसूड़ों पर प्लेग की लेयर को बनने नहीं देता है। अमरुद की पत्तिया मसूड़ों के लिए बहुत फायदेमंद होता है यह मसूड़ों से संबंधित बीमारियों की रोकथाम करता है। अमरुद की ताजी पत्तियों को अच्छी से धोकर 2 से 3 मिनट चबाएं। इसके बाद साफ पानी से कुल्ला कर करें। (और पढ़े – अमरूद के फायदे क्या है)
  • नमक पानी मसूड़ों और दांतो को मजबूत करने के लिए नमक पानी एक अच्छा घरेलु उपचार है। इसके थोड़े पानी में नमक डालकर गर्म कर ले और उस पानी से कुल्हा करे, इससे मसूड़ों और दांतो की गंदगी साफ होती है। दांतो में संक्रमण व मसूड़ों में कमजोरी दूर होती है। मसूड़ों में जमा प्लाक को नमक पानी से निकाला जा सकता है। मसूड़ों में अच्छी मजबूती के लिए नमक पानी का उपयोग दिन में तीन बार कर सकते है। (और पढ़े – नमक का उपयोग)
  • ग्रीन टी ग्रीन टी एक आयुर्वेदिक औषधि है जो स्वास्थ्य की कई तरह की समस्या को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा मसूड़ों की कमजोरी को दूर करता है और संक्रमण से बचाव करता है। ग्रीन टी में  कैटेचिन की अच्छी मात्रा होती है जो मसूड़ों की सूजन को कम करने में मदद करते है। ग्रीन टी का उपयोग करने के लिए एक टी बैग का उपयोग कर ग्रीन टी बनाये ठंडा होने के बाद सेवन करे। लेकिन अत्यधिक मात्रा में कैफीन दांतो में दाग का कारण बन सकता है। (और पढ़े – ग्रीन टी के फायदे)
  • पुदीना तेल कुछ शोध के अनुसार पुदीना का तेल मसूड़ों के संक्रमण को रोकने में मदद करता है। रोजाना पुदीना तेल मसूड़ों पर लगाने से संक्रमण का खतरा कम रहता है। जिन लोगो का मसूड़ कमजोर है उनको पुदीना का तेल मसूड़ पर लगाना चाहिए। (और पढ़े – पुदीना तेल के फायदे और नुकसान)
  • बेकिंग सोडा बेकिंग सोडा में प्राकृतिक रूप से जीवाणुरोधक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होता है। यह मसूड़ों को संक्रमण, बैक्टीरिया और सूजन को कम करता है। दांतो और मसूड़ों को मजबूत बनाने के लिए बेकिंग सोडा फायदेमंद होता है। बेकिंग का सोडा का उपयोग करने के लिए एक कप पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर कुल्ला करें। इस प्रक्रिया से मसूड़ों का संक्रमण कम होता है और दांत स्वस्थ रहते है। (और पढ़े – बेकिंग सोडा के फायदे)

हमें आशा है की आपके प्रश्न मसूड़ों को मजबूत करने के घरेलू उपचार ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको मसूड़ों से जुडी किसी प्रकार की समस्या है, तो दंत विशेषज्ञ (Dentist) से संपर्क कर सकते है। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है


Best Dentist in Mumbai

Best Dentist in  Delhi

Best Dentist in Gurgaon

Best Dentist in Bangalore