शिकाकाई के स्वास्थ्य लाभ। Health Benefits of Shikakai in Hindi

Login to Health दिसम्बर 27, 2019 Lifestyle Diseases 6558 Views

हिन्दी

Shikakai Meaning in Hindi

शिकाकाई का नाम आपने बहुत से शैम्पू के विज्ञापन में सुना होगा, यह बालो के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह सभी जड़ीबूटियों की तुलना में अलग होता है क्योंकि बालो की छोटी से बड़ी समस्या को कम करने में मदद करता है। इसका उत्पादन मध्यप्रदेश में अधिक किया जाता है। शिकाकाई में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स होते है जो बालो को पोषक तत्व प्रदान करते है और बालो को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते है। बालो की देखभाल के लिए शिकाकाई से अच्छी कोई जड़ीबूटी नहीं है। यह बाजारों में आसानी से मिल जाती है और पाउडर में भी दुकानों में उपलब्ध रहता है। शिकाकाई के बहुत से स्वास्थ्य लाभ होते है। चलिए आपको शिकाकाई के बारे में विस्तार से बतायेंगे।

  • शिकाकाई के पौष्टिक तत्व और खनिज क्या है ? (What are the Nutrients and Minerals Found in Shikakai in Hindi)
  • शिकाकाई के फायदे क्या है ? (What are the Benefits of Shikakai in Hindi)
  • शिकाकाई के नुकसान क्या है ? (What are the Side-Effects of Shikakai in Hindi)

शिकाकाई के पौष्टिक तत्व और खनिज क्या है ? (What are the Nutrients and Minerals Found in Shikakai in Hindi)

शिकाकाई में बहुत से विटामिन और खनिजों से समृद्ध है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स का अच्छा स्त्रोत है और विटामिन ए, सी, डी, ई और के, ग्लूकोस, अरबिनोस, र्हाम्नोस, ऑक्सालिक एसिड, साइट्रिक एसिड, एस्कॉर्बिक एसिड, टारटरिक एसिड आदि है।

शिकाकाई के फायदे क्या है ? (What are the Benefits of Shikakai in Hindi)

शिकाकाई के निम्नलिखित फायदे है।

  • कुष्ठ रोग का इलाज करने में – कुष्ठ रोग एक त्वचा संबंधित बीमारी है, इसका उपचार करने के लिए शिकाकाई जड़ीबूटी फायदेमंद रहती है। इसमें शक्तिसाली एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है। शिकाकाई के पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाने से कुष्ठ रोग को ठीक कर सकते है। अगर कुष्ठ रोग अधिक गंभीर है तो त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करे।
  • किट को हटाने में मदद करे – अगर आपको किट की समस्या हो गयी है तो शिकाकाई का उपयोग कर सकते है। इसमें अच्छी मात्रा में एंटी बैक्टीरियल गुण होता है जो किट को दूर करने में मदद करता है।
  • तनाव को दूर करने में – अक्सर व्यक्ति को किसी न किसी चीज की समस्या होती है जिसके कारण कुछ लोग तनाव महसूस करने लगते है। तनावमुक्त करे के लिए शिकाकाई बेहतरीन जड़ीबूटी है इसमें ठंडक गुण है और सिर पर लगाकर मालिश करने से सिरदर्द की समस्या तो दूर होती है साथ ही तनाव मुक्त व्यक्ति महसूस करता है। अगर आप तनाव ग्रस्त हो रहे है तो सिर पर शिकाकाई लगाकर मसाज जरूर करे। (और पढ़े – लाल मिर्च के फायदे तनाव दूर करने में)
  • बालो के रंग को बरकरार रखना – जैसा की आपको पता है शिकाकाई बालो के लिए बहुत उपयोगी होती है। शिकाकाई से बालो को धोने से बाल मजबूत होते है और बालो का रंग जल्दी सफ़ेद नहीं होता है। आपके बाल पहले की तरह नजर आते है।
  • कपडे की सफाई करने में – शिकाकाई में रीठा का मिश्रण कर कपडे को साफ़ करने से सारे दाग डब्बे आसानी से निकल जाते है और कपडे पहले के जैसे चमकदार हो जाते है। सिकाकाई का उपयोग कर कपडे पहनने से संक्रमण का जोखिम नहीं रहता है।
  • जू की समस्या को कम करने में – शिकाकाई बालो को साफ तो करता है साथ ही जू खतम करने में मदद करता है। अक्सर बहुत सी महिलाये जू की समस्या से बहुत परेशान रहती है उनको लगता है बड़े बाल रखने से जू की समस्या होती है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है जितना बालो की सफाई करेंगे उतना ही बालो में गंदगी नहीं होगी। शिकाकाई द्वारा बने शैम्पू का उपयोग भी बालो में कर सकते है। हफ्ते में दो दिन शिकाकाई से बालो को धोने से जु की समस्या अपने आप समाप्त हो जाता है। (और पढ़े – अंडे के फायदे बालो के लिए)
  • रुसी की समस्या दूर करने में – बहुत से लोगो के बालो में रुसी की समस्या अधिक होती है। जिसके वजह से लोगो के सामने आने से कतराते है। लेकिन लोगो को बता दे शिकाकाई जड़ीबूटी बालों से रुसी की समस्या को दूर करने में मदद करता है। बालो से रुसी दूर होने पर बालो के गिरने की समस्या कम हो जाती है। इसके लिए बालो को शिकाकाई से धोना चाहिए। इसके अलावा शिकाकाई से बने शैम्पू का उपयोग कर सकते है। यह बालो के लिए नुकसानदायक नहीं होता है। इससे बाल चमकीले व मुलायम होते है। (और पढ़े – हेयर फॉल क्या है)
  • बाल साफ करने में – शिकाकाई जड़ीबूटी बालो के जड़े को मजबूत करती है और टूटने से बचाव करता है। इसके अलावा डैंड्रफ की समस्या को कम करता है क्योंकि इसमें हल्का रासायनिक पदार्थ होता है। इसका शैम्पू में उपयोग कर बालो में लगाने से बालो की अच्छी सफाई होती है। बालो की सफाई होने से बाल अधिक मुलायम व चमकीले हो जाते है।

शिकाकाई के नुकसान क्या है ? (What are the Side-Effects of Shikakai in Hindi)

शिकाकाई के फायदे तो बहुत है लेकिन कुछ नुकसान भी हो सकते है।

  • शिकाकाई शरीर में सूजन और अम्लता का कारण भी हो सकता है।
  • अगर शिकाकाई का उपयोग लगातार किया जाए तो यह सिर की त्वचा को तैलीय बना सकता है।
  • शिकाकाई का अत्यधिक उपयोग करने से अस्थमा और सांस संबंधी रोग हो सकते हैं|
  • शिकाकाई का अत्यधिक उपयोग सूखेपन का कारण बनता है।
  • इसका अत्यधिक उपयोग करने से व्यक्ति को मतली आने और पेट खराब होने की समस्या हो सकता है।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका उपयोग करने से बचना चाहिए।

अगर आपको शिकाकाई के उपयोग से स्वास्थ्य में किसी प्रकार की अनियमियता हो रही है तो इसका उपयोग सीमित कर दे तथा अपने नजदीकी जनरल फिजिशियन (General Physician) से संपर्क करे।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।