टाइफाइड वैक्सीन क्या हैं । Typhoid vaccine in Hindi

Login to Health अप्रैल 2, 2021 Lifestyle Diseases 904 Views

English हिन्दी Bengali

टाइफाइड वैक्सीन का मतलब हिंदी में,  (Typhoid vaccine Meaning in Hindi)

टाइफाइड वैक्सीन क्या हैं ?

टाइफाइड एक गंभीर ज्वर यानि बुखार है। यह सैलमोनेला टाइफी नामक बैक्टीरिया से उत्पन्न होता है। टाइफाइड बड़ो से अधिक बच्चों को अपने चपेट में ले रहा है। टाइफाइड का मुख्य कारण संक्रमण के संपर्क में आना या दूषित पानी व भोजन है। इसके अलावा भूख न लगने की समस्या, थकान, कमजोरी, त्वचा पर रैसेश जैसी समस्या होने लगती है। कुछ अध्ययन के अनुसार टाइफाइड से गंभीर रूप से पीड़ित होने पर बच्चें की जान का जोखिम रहता है। टाइफाइड बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। पुरे विश्व के रिपोर्ट के अनुसार 21 मिलियन लोग टाइफाइड से बीमार होते है और 2 लाख लोग अपनी जान गवा देते है। टाइफाइड की समस्या से बचने के लिए उचित समय पर दवा व वैक्सीन का उपयोग चिकिस्तक के परामर्श से करना चाहिए। चलिए आज के लेख में आपको टाइफाइड वैक्सीन के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं। 

  • टाइफाइड टिका क्यों लगाया जाता हैं ? (Typhoid Vaccine kyo Lagaya Jata hai in Hindi)
  • टाइफाइड वैक्सीन की खुराक ? (Dosage of Typhoid Vaccine in Hindi)
  • टाइफाइड वैक्सीन किसे नहीं लगाना चाहिए ? (Who should not get typhoid vaccine in Hindi)
  • टाइफाइड वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं ? (What are the Side-effects of Typhoid Vaccine in Hindi)
  • भारत में टाइफाइड वैक्सीन की कीमत क्या हैं ? (What is cost of Typhoid Vaccine in India in Hindi)

टाइफाइड टिका क्यों लगाया जाता हैं ? (Dosage of Typhoid Vaccine in Hindi)

बच्चों में संक्रमण और वायरस का खतरा बड़ो की तुलना में अधिक रहता है। ऐसे ही टाइफाइड एक गंभीर बीमारी है इससे बचाव करने के लिए टाइफाइड टिका लगाया जाता है। टाइफाइड का सही समय पर टीकाकरण करने से जटिल समस्या से बचा जा सकता है। टाइफाइड टिका के अनेक प्रकार में उपलब्ध है। बच्चों के लिए टिका कितनी मात्रा में लेना आवश्यक है यह जानकारी आपको चिकिस्तक से लेना चाहिए। (और पढ़े – मलेरिया से बचने के उपाय)

टाइफाइड वैक्सीन की खुराक ? (Dosage of Typhoid Vaccine in Hindi)

टाइफाइड वैक्सीन उन लोगो को दी जाती है जो टायफाइड बुखार से अधिक प्रभावित होते है। इसके अलावा कुछ अन्य परिस्तिथि में टाइफाइड वैक्सीन दी जाती है। 

  • जैसे टाइफाइड पीड़ित के संपर्क में रहना। 
  • टाइफाइड के जोखिम वाली जगह जाना हो। 
  • टाइफाइड पर रिसर्च करने के लिए प्रयोगशाला में रहना हो। 
  • टाइफाइड वैक्सीन किसी भी उम्र के लोगो को दिया जा सकता है। इस वैक्सीन की पहली खुराक देने के बाद हर दो साल में इसकी डोज दी जा सकती है। 
  • टाइफाइड की मौखिक दवा 6 साल से अधिक उम्र के बच्चे व वयस्क को दिया जा सकता है। इन दवा की चार खुराक होती है जो सप्ताह में एक दिन छोड़कर एक दिन खुराक ली जाती है। 
  • कुछ मामलो में परिस्तिथि के मुताबिक चिकिस्तक दो साल से कम आयु वाले बच्चो को टाइफाइड वैक्सीन लगाने की सलाह दे सकते है। (और पढ़े – मिजिल्स रूबेला टीकाकरण)

टाइफाइड वैक्सीन किसे नहीं लगाना चाहिए ? (Who should not get typhoid vaccine in Hindi)

कुछ मामलो में चिकिस्तक टाइफाइड वैक्सीन न लेने की सलाह देते है। यदि शिशु या वयस्क किसी अन्य बीमारी से पीड़ित है तो ऐसे में टाइफाइड वैक्सीन को देना सही नहीं होता है। चलिए आगे बताते है। 

  • यदि कोई व्यक्ति पहले से बहुत बीमार है तो टाइफाइड वैक्सीन नहीं दिया जा सकता है। 
  • टाइफाइड वैक्सीन की पहली खुराक से व्यक्ति को अधिक परेशानी हुई है तो दूसरी खुराक नहीं दी जाती है। 
  • टाइफाइड की मौखिक दवा 6 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं देना चाहिए। 
  • टाइफाइड वैक्सीन से शरीर में गंभीर एलर्जिक रिएक्शन होता है तो यह वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए। 
  • टाइफाइड वैक्सीन की खुराक लेने के पहले बच्चा बीमार है तो ठीक होने के बाद ही ले सकते है। 
  • जिन लोगो की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है उनको टाइफाइड की मौखिक दवा की जगह वैक्सीन ही लगवाना चाहिए। 
  • टाइफाइड वैक्सीन लगवाने के पहले चिकिस्तक से परामर्श जरूर करें। (और पढ़े – चिकनगुनिया क्या होता हैं)

टाइफाइड वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं ? (What are the Side-effects of Typhoid Vaccine in Hindi)

आमतोर टाइफाइड वैक्सीन के कोई विशेष नुकसान नहीं होता है और कुछ दुष्परिणाम होते है तो कुछ दिनों में ठीक हो जाते है। कुछ मामलो में वैक्सीन लेने के बाद गंभीर दुष्प्रभाव नजर आ सकता है। चलिए आगे बताते हैं। 

टाइफाइड वैक्सीन के सामान्य दुष्परिणाम में शामिल है। 

  • सिरदर्द होना। 
  • शिशु , वयस्क में बुखार आना। 
  • इंजेक्शन वाली जगह सूजन व दर्द होना। 

टाइफाइड वैक्सीन के गंभीर मामले बहुत ही कम नजर आते है। हालांकि वैक्सीन के कारण कुछ लोगो में एलर्जी प्रतिक्रिया हो सकता हैं। 

टाइफाइड की मौखिक दवा के सामान्य दुष्परिणाम शामिल हैं। 

  • सिरदर्द होना। 
  • बुखार आना। 

कुछ मामलो में टाइफाइड की मौखिक दवा के अन्य दुष्परिणाम नजर आ सकते है। 

  • जैसे – पेट में दर्द होना। 
  • त्वचा पर रैशज आना। 
  • उल्टी आना। 

भारत में टाइफाइड वैक्सीन की कीमत क्या हैं ? (What is cost of Typhoid Vaccine in India in Hindi)

भारत में टाइफाइड वैक्सीन की कीमत लगभग INR 200 से INR 1500 तक लग सकता है। लेकिन भारत में टाइफाइड वैक्सीन की कई ब्रांड उपलब्ध है जिनकी मात्रा के आधार पर कीमत कम या अधिक हो सकती हैं। (और पढ़े – पेंटावेलेंट टीका क्या है)

हमें आशा है की आपके प्रश्न टाइफाइड वैक्सीन क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको टाइफाइड वैक्सीन के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो अपने (Child Specialist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Child Specialist in Delhi

Best Child Specialist in Mumbai

Best Child Specialist in Bangalore