विटामिन बी 5 क्या हैं । Vitamin B5 in Hindi

मार्च 25, 2021 Lifestyle Diseases 2732 Views

हिन्दी Bengali

विटामिन बी 5 का मतलब हिंदी में,  (Vitamin B5 Meaning in Hindi)

विटामिन बी 5 क्या हैं। 

विटामिन बी 5 को पैंटोथेनिक एसिड भी कहा जाता हैं। विटामिन बी 5 एक महत्वपूर्ण विटामिन में से एक है जो शरीर में रक्त कोशिका बनाने में आवश्यक होता है। यह व्यक्ति द्वारा खाएं गए भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करता है। विटामिन बी 5 व्यक्ति के त्वचा, आंख, बाल, जिगर के लिए फायदेमंद होता हैं। हालांकि विटामिन बी 5 की कमी होने से व्यक्ति को अनेक समस्या का सामना करना पड़ता हैं। शरीर में अन्य विटामिन की तरह विटामिन बी 5 जरुरी होता है। बहुत से लोगो को पता नहीं होगा विटामिन बी  5 की कमी होने से क्या हो सकते है। चलिए आज के लेख में आपको विटामिन बी 5 के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं। 

  • विटामिन बी 5 की कमी के कारण ? (What are the Causes of Vitamin B5 Deficiency in Hindi)
  • विटामिन बी 5 की कमी के लक्षण ? (Symptoms of Vitamin B5 Deficiency in Hindi)
  • विटामिन बी 5 के फायदे ? (Benefits of Vitamin B5 in Hindi)
  • विटामिन बी 5 कितने मात्रा में लेना चाहिए ? (How much vitamin B5 should be taken in Hindi)

विटामिन बी 5 की कमी के कारण ? (What are the Causes of Vitamin B5 Deficiency in Hindi)

विटामिन बी 5 की कमी होना व्यक्ति के लिए एक दुर्लभ स्तिथि होती है। कुछ निम्न परिस्तिथियों में विटामिन बी 5 की कमी हो सकती है। 

  • जैसे कोई कुपोषण का शिकार है तो उनमे प्रोटीन की कमी के साथ विटामिन बी 5 की कमी रहती है। 
  • जिन सबंधित न्यूरोडीजेनेरेशन विकार होना। 
  • भोजन में अधिक विटामिन बी 5 की कमी होना। (और पढ़े – अत्यधिक खाने का विकार)

विटामिन बी 5 की कमी के लक्षण ? (Symptoms of Vitamin B5 Deficiency in Hindi)

विटामिन बी 5 कमी के कारण कोई विशेष नजर आ सकते है। लेकिन गंभीर रूप से कमी होने पर कुछ निम्न लक्षण का अनुभव हो सकता हैं। 

  • जैसे – थकान महसूस करना। 
  • पेट दर्द होना। 
  • उल्टी आना। 
  • हार्ट बर्न होना। 
  • भूख न लगना। 
  • मलती होना 
  • हाथ पैरो में जलन होना। 
  • दस्त होना। 
  • नींद पूरी न होना। 
  • व्यवहार में चिड़चिड़ापन आना। 
  • बेचैनी महसूस होना। 
  • सिरदर्द होना। (और पढ़े – सिरदर्द के घरेलु उपचार)

विटामिन बी 5 के फायदे ? (Benefits of Vitamin B5 in Hindi)

विटामिन बी 5 के निम्नलिखित स्वास्थ्य लाभ है। चलिए आगे विस्तार से बताते हैं। 

तनाव को कम करने में तनाव की समस्या व्यक्ति को बीमार बनाती है। इसके अलावा तनाव होने से व्यक्ति अपना कार्य ठीक से नहीं कर पाता है। कुछ मामलो में मनोदशा से संबंधित समस्या होने पर विटामिन बी 5 युक्त खाद्य पदार्थ व दवा का सेवन की सलाह दिया जा सकता है। चिकिस्तक तनाव को कम करने में विटामिन बी 5 की कमी का कारण का पता लगा कर बता सकते है। विटामिन बी 5 दिमाग को शांत करने व तनाव को कम करने में फायदेमंद होता हैं। (और पढ़े – तनाव कम करने में लाल मिर्च के फायदे)

हार्मोन उत्तेजित करने में विटामिन बी 5 में ऐसे गुण होते है जो ग्रंथियों में से निकलने वाले हार्मोन की क्रिया को सही करने में मदद करता है। विटामिन बी 5 हार्मोन को नियंत्रण करने में मदद करता है। इसके अलावा हार्मोन के कार्यो ठीक करने में सहायक होता है। शरीर में कुछ ऐसे एंजाइम होते है जो विटामिन बी 5 को प्रभावित कर सकते हैं। हार्मोन के स्तर को सामान्य करने में बी 5 फायदेमंद होता हैं। (और पढ़े – विटामिन डी की कमी के कारण)

  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में शरीर के कार्यो को बढ़ाने में मेटाबॉलिज्म महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। मेटाबॉलिज्म का मतलब शरीर में होने वाली रासायनिक व प्राकृतिक प्रतिक्रिया है। मेटाबोलिज्म के लिए बी 5 को आवश्यक होता है। (और पढ़े – मेटाबॉलिज्म क्या हैं)

हृदय के लिए फायदेमंद हृदय को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन बी 5 महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जैसा की आपको आगे बताया पैंटोथेनिक एसिड एंटीऑक्सीडेंट की तरह प्रभाव डालता है। यह हृदय रोग के शुरुवाती चरण के सूजन को कम करने में मदद करता है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए बी 5 फायदेमंद होता है। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से हृदय रोग का जोखिम होता है। हृदय के स्वस्थ रखने के लिए विटामिन की आवश्कयता होती हैं। (और पढ़े – कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलु उपचार)

  • इम्युनिटी को मजबूत करने में इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए विटामिन की जरूरत होती है उनमे से एक विटामिन बी 5 होता है। इम्युनिटी हमारे शरीर को रोगो से बचाव करने में मदद करता है। कुछ अध्ययन के अनुसार विटामिन में एंटीबैक्टीरियल गुण होने से विटामिन बी 5 संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। (और पढ़े – इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए)

विटामिन बी 5 कितने मात्रा में लेना चाहिए ? (How much vitamin B5 should be taken in Hindi)

विटामिन बी 5 कितनी मात्रा में लेना चाहिए आइए चिकिस्तक के मुताबिक आपको बताते है। 

  • 0 से 6 महीने के शिशु को1.7 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • 7 से12 महीने के शिशु  को 1.8 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • 1 से 3 साल के बच्चे को 2 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • 4 से 8 साल के बच्चे को 3 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • 9 से 13 साल के बच्चे को 4 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • 14 साल या उससे अधिक उम्र के पुरुष व महिला को 5 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • गर्भवती महिलाओं को 6 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। 
  • स्तनपान करने वाली महिलाओं को 7 मिलीग्राम रोजाना लेना चाहिए। (और पढ़े – विटामिन ए की कमी क्यों होती हैं)

हमें आशा है की आपके प्रश्न विटामिन बी 5 क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको विटामिन बी 5 के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी सामान्य चिकिस्तक (General Physician) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best General Physician in Delhi

Best General Physician in Mumbai

Best General Physician in Chennai

Best General Physician in Bangalore 


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox