मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय । How To Increase Metabolism in Hindi

Login to Health अप्रैल 7, 2021 Lifestyle Diseases, Liver Section 10 Views

हिन्दी

मेटाबॉलिज्म का मतलब हिंदी में,  (Metabolism Meaning in Hindi)

मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय

मेटाबॉलिज्म को हिंदी में चयापचय कहा जाता है, ये एक ऐसी क्रिया है जिसमे शरीर का भोजन ऊर्जा के रूप में परिवर्तित हो जाता है। व्यक्ति द्वारा रोजाना के कार्यो में इन ऊर्जा को खर्च किया जाता है। हालांकि शरीर में होने वाले अधिकतर केमिकल रिएक्शन मेटाबॉलिज्म के जरिए किये जाते है। शरीर के सभी भागो में ऑक्सीजन व प्रोटीन पहुंचाने में मदद करता है। मेटाबॉलिज्म के दो प्रकार होते है जिनमे केटाबोलिज़्म व एनाबोलिज़्म शामिल है। मेटाबॉलिज्म उदहारण के तौर पर कहे तो ट्रैन चलाने के लिए एक इंजन की आवश्कयता होती है उसी तरह शरीर के कार्यो को चलाने के लिए ऊर्जा यानि मेटाबॉलिज्म की आवश्कयता होती है। हालांकि मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार के साथ जीवनशैली में बदलाव जरुरी होता है। चलिए आज के लेख में आपको मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के उपाय के बारे में बताने वाले हैं।

  • मेटाबॉलिज्म क्या हैं ? (What is Metabolism in Hindi)
  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय ? (How to Increase Metabolism in Hindi)

मेटाबॉलिज्म क्या हैं ? (What is Metabolism in Hindi)

मेटाबॉलिज्म एक केमिकल प्रक्रिया है जो शरीर में भोजन को ऊर्जा के रूप में बदल देती है। यह शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती है साथ ही हमारे शरीर को कार्य करने के लिए ऊर्जा की आवश्कयता होती है। जिन व्यक्ति के शरीर में मेटाबॉलिज्म अधिक होता है उन्हें अधिक भूख लगती है। इसके अलावा जिनके शरीर में कम मेटाबॉलिज्म होता है उनको अधिक थकान व कमजोरी का अनुभव होता है। ऐसा इसलिए शरीर में अधिक चर्बी जमने लगती है और भूख नहीं लगती है। (और पढ़े – मेटाबॉलिज्म के स्वास्थ्य लाभ)

मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय ? (How to Increase Metabolism in Hindi)

मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए निम्न उपाय अपना सकते है। चलिए आगे विस्तार से बताते हैं। 

  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में फायदेमंद ताजे फल कुछ अध्ययन के अनुसार मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए ताजे फल का सेवन करना चाहिए। फलो में अच्छी मात्रा में पोषक तत्व व मिनरल्स होते है जो शरीर को प्रोटीन प्रदान करते है। फलों में कैलोरी कम होती है जो वसा को कम कर मोटापा को बढ़ने नहीं देता है। मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है। फाइबर की अच्छी मात्रा फलों में होती है जो पाचन क्रिया को मजबत बनाते है। लेकिन डायबिटीज से पीड़ित है तो ऐसे फल का चुनाव करे जिनमे शुगर की मात्रा कम हो या अधिक जानकारी के लिए चिकिस्तक से बात करें। (और पढ़े – डायबिटीज के घरेलु उपचार)
  • अधिक व्यायाम करने से बढ़ाए मेटाबॉलिज्म अधिक तीव्र वाले व्यायाम करने से शरीर के फैट को कम करने से मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में मदद मिलती है। कुछ अध्ययन के अनुसार वर्कआउट करने से मेटाबॉलिज्म के स्तर को बढ़ाने के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा सुबह शाम टहलने से मेटाबोलिज्म को ठीक किया जा सकता है। (और पढ़े – सुबह व्यायाम करने के फायदे) 
  • ग्रीन टी बढ़ाए मेटाबॉलिज्म ग्रीन टी में बहुत से आयुर्वेदिक गुण उपस्तिथ है जो शरीर की चर्बी को घटाने में मदद करता है और मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है। कुछ अध्ययन के मुताबिक वजन कम करने के लिए चाय की जगह ग्रीन टी शामिल करना चाहिए। यह आपके शरीर में ऊर्जा को बढ़ाता है और मेटाबॉलिज्म शक्ति को दुगुना करता है। डायबिटीज पीड़ित व्यक्ति ग्रीन टी का सेवन कर सकता है और मेटाबोलिज्म के स्तर को बढ़ा सकता है। (और पढ़े – ग्रीन टी के फायदे)
  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में नारियल तेल नारियल तेल में भरपूर मात्रा में पोषक होता है जो शरीर के कई तरह की बीमारियों को रोकथाम करने में मदद करता है। इसमें कम वसा होता है जो शरीर में वसा को कम करता है और मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है। कुछ वैज्ञानिको के अनुसरा नारियल शरीर में तेजी से मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है। (और पढ़े – कच्चे नारियल खाने के फायदे)
  • अच्छी नींद मेटाबॉलिज्म बढ़ाए व्यक्ति के लिए कम से कम सात से आठ घंटा सोना जरुरी होता है। लेकिन कुछ लोग अपनी नींद ठीक से पूरी नहीं कर पाते है जिसके कारण मेटाबोलिज्म का स्तर कम हो जाता है व्यक्ति को कमजोरी व थकान महसूस होने लगता है। काम के साथ व्यक्ति को आराम की जरूरत होती है इसलिए अच्छी नींद ले और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाए। बहुत से लोगो में अच्छी नींद न लेने से तनाव व चिंता की समस्या का जोखिम बना रहता है। कुछ लोगो में अधिक मोटापा होने से नींद न आने की समस्या होती है और मेटाबॉलिज्म का स्तर कम हो जाता है। ऐसे वजन कम करे और नींद पूरी अच्छे से ले ताकि आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ने मे मदद मिल सके। (और पढ़े – नींद न आने का कारण क्या हैं)
  • मसालेदार भोजन बढ़ाए मेटाबॉलिज्म मसालेदार भोजन में मिर्ची का उपयोग किया जाता है और मिर्ची में कैप्साईसिन पदार्थ मौजूद है जो शरीर में मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करता है। कई लोगो में मसाले वाले भोजन अधिक नहीं करना चाहिए बल्कि जितनी मात्रा की जरूरत हो उतना ही करना चाहिए। मिर्च फैट को कम करने में मदद करता है और साथ ही मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देता है। यदि वजन अधिक बढ़ा हुआ है तो वजन कम करने के लिए डाइट में कम मसाले तेल युक्त भोजन शामिल करें। (और पढ़े – मसालेदार भोजन के फायदे)
  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में कॉफी फायदेमंद कॉफी का सेवन करने से शरीर की चर्बी कम होती है और मेटाबॉलिज्म बढ़ने लगता है। मेटाबॉलिज्म बढ़ने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। वजन कम करने वाले लोग कॉफी का सेवन करते है उनमे 10 प्रतिशत फैट कम हुआ है। मेटाबॉलिज्म बढ़ने व फैट कम होने से वजन संतुलित होने में प्रभावी होता है। (और पढ़े – कॉफी पीने के फायदे)

हमें आशा है की आपके प्रश्न मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के बारे में अधिक जानकारी के लिए (Endocrinologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Endocrinologist in Delhi

Best Endocrinologist in Mumbai

Best Endocrinologist in Chennai

Best Endocrinologist in Bangalore