जानिए पुरुषो में फंगल इन्फेक्शन होने के लक्षण। Fungal Infection in Men in Hindi.

Login to Health अक्टूबर 10, 2020 Mens Health 852 Views

English हिन्दी Tamil العربية

Fungal Infection in Men Meaning in Hindi. 

महिला हो या पुरुष फंगल संक्रमण किसी को भी हो सकता है। लेकिन अधिकतर मामले महिला में देखे जाते है जो फंगल संक्रमण से परेशान रहती हैं। इसके अलावा खमीर संक्रमण पुरुषो को भी प्रभावित करता है क्योंकि इसे थ्रश भी कहा जाता हैं। यह संक्रमण आम फंगल संक्रमण की तरह रहता है जो कैंडिडा अल्बिकन्‍स का कारण बन सकता हैं। पुरुषों में संक्रमण आमतौर पर त्वचा, मुंह, गले, जननांगो में विकसित होने लगता हैं। इन संक्रमण से बचने के लिए उचित समय पर उपचार करने की आवश्कयता हैं। चलिए इस लेख में हम आपको पुरुषो में फंगल इन्फेक्शन के बारे में जानकारी देंगे। 

  • पुरुषो में फंगल संक्रमण के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Fungal Infection in Men in Hindi. 
  • पुरुषो में फंगल संक्रमण के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Fungal Infection in Men in Hindi. 
  • पुरुषों में फंगल संक्रमण का उपचार क्या हैं ? (What are the Treatment for Yeast Infection in Hindi)

पुरुषो में फंगल संक्रमण के कारण क्या हैं ? (What are the Causes of Fungal Infection in Men in Hindi. 

पुरुषो में फंगल इन्फेक्शन होना एक आम बात है। लेकिन फंगल संक्रमण पुरुषो में होना सामान्य नहीं होता है। लेकिन कुछ लोगो का मानना है पुरुष अधिक मात्रा में बियर या डेरी युक्त पदार्थ का सेवन करने से फंगल संक्रमण को गति मिलती हैं। इस वजह से पुरुष के गुप्‍तांगों में फंगल संक्रमण फैलने लगता हैं। पुरुषो में फंगल संक्रमण होने का मुख्य कारण यौन संपर्क में आने से होता हैं। फंगल संक्रमण से ग्रस्त महिला के साथ यौन संपर्क बनाने से पुरुष को फंगल संक्रमण हो सकता हैं। खासतोर पर असुरक्षित यौन संबंध बनाने से अधिक खतरा रहता हैं। फंगल संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जा सकता हैं। हालांकि हस्‍तांतरित होने वाले संक्रमण कम होते है। इसलिए यौन संक्रमण एसटी आई नहीं होता हैं। (और पढ़े – नीम के फायदे संक्रमण दूर करने में)

पुरुषो में फंगल संक्रमण के लक्षण क्या हैं ? (What are the Symptoms of Fungal Infection in Men in Hindi)

महिलाओं में खमीर व कैंडिडा संक्रमण अधिक प्रभावित करता हैं। इसके अलावा पुरुष भी संक्रमण से प्रभावित हो सकता हैं। महिला और पुरुष में संक्रमण कुछ हमेशा शरीर में रहते है। संक्रमण अधिक होने पर महिला या पुरुष को प्रभावित करता है। हालांकि पुरुष में फंगल संक्रमण होने पर अनेक लक्षण का अनुभव होने लगता है। जैसे जननांग में होने वाले फंगल इन्फेक्शन खमीर संक्रमण हो सकते है। कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते है। 

  • गुप्तांगो से अधिक बदबू आना। 
  • संभोग करते समय परेशानी होना। 
  • लिंग में खुजली होना। 
  • लिंग के ऊपरी हिस्से में जलन होना। 
  • पेशाब करते समय जलन होना। 

बैलेनाइटिस फंगल इन्फेक्शन को खमीर संक्रमण का कारण माना जाता है। आपको बता दे, बैलेनाइटिस फंगल इन्फेक्शन के लक्षण भिन्न होते है। चलिए आगे बताते हैं। 

  • लिंग की चमड़ी पर दर्द होना। 
  • लिंग में खुजली का अनुभव होना। 
  • संक्रमण से प्रभावित जगह पर सफेद परत बनना। 
  • फंगल इन्फेक्शन वाली जगह चमकदार व गोरा नजर आता है। (और पढ़े – कंडोम के फायदे)

पुरुषों में फंगल संक्रमण का उपचार क्या हैं ? (What are the Treatment for Yeast Infection in Hindi)

फंगल इन्फेक्शन बहुत से लोगो में अपने आप ठीक हो जाता है, उनको किसी उपचार की जरूरत नहीं पड़ती हैं। यदि शुरुवात में फंगल संक्रमण का उपचार किया जाए तो जल्दी ठीक हो जाता हैं। इसके अलावा सही समय पर उपचार नहीं किया तो संक्रमण अधिक फैलने का जोखिम हो सकता है। पुरुष में फंगल संक्रमण होने पर चिकिस्तक से जांच करवा लेना चाहिए। ताकि संक्रमण का सटीक उपचार हो सके। चिकिस्तक कुछ घरेलु उपचार की सलाह दे सकते है। यह घरेलू उपचार से घर पर कर फंगल संक्रमण से छुटकारा पा सकते हैं। चलिए इन घरेलु उपचार के बारे में आपको विस्तार से बताते हैं। 

  • दही का उपयोग मेल फंगल इन्फेक्शन में दही में प्राकृतिक रूप से प्रोबायोटिक होता है। पुरुषो में फंगल इन्फेक्शन होने पर भोजन में दही को शामिल करना चाहिए। यह पुरुष के लिए फायदेमन्द साबित होता है। स्वस्थ बैक्टीरिया हमेशा खराब बैक्टीरिया को मारने का काम करता है। इसलिए दही का उपयोग प्रभावित जगह पर सीधे भी कर सकते हैं। ऐसा करने पर फंगल संक्रमण से आराम मिलगा।
  • टी ट्री ऑयल का उपयोग अक्सर त्वचा में होने वाले संक्रमण को ठीक करने के लिए टी ट्री ऑयल का उपयोग किया जाता हैं। कुछ अध्ययन के अनुसार इस तेल में एंटी फंगल, एंटीवायरल, जीवाणुरोधी गुण मौजूद होता है। यह पुरुष के गुप्तांगो में होने वाले फंगल संक्रमण को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा टी ट्री ऑयल लिंग पर लगाने से फंगल संक्रमण ठीक होने लगता हैं। इस तेल में जैतून का तेल मिलाकर उपयोग में लाए। (और पढ़े – कोरोना वायरस क्या हैं)
  • सेब के सिरका का उपयोग मेल फंगल इन्फेक्शन में सेब के सिरका खमीर संक्रमण व कैंडिडा संक्रमण को रोकने में फायदेमन्द होता है। इसमें जीवाणुरोधी गुण व एंटीफंगल गुण पाया जाता है। हालांकि सेब के सिरके की गंध कुछ लोगो को पसंद नहीं आता है। लेकिन इसकी गंध अधिक समय तक नहीं रहती हैं। सेब के सिरके में पानी मिलाकर उपयोग में लाए। इससे आपको जलन का अनुभव नहीं होगा। (और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे)
  • लहसुन का उपयोग मेल फंगल संक्रमण में लहसुन में प्राकृतिक रूप से एंटी-फंगल व जीवाणुरोधी गण पाया जाता है। इसके अलावा बहुत से औषधीय गूण मौजूद होता है जो फंगल संक्रमण को रोकने में मदद करता हैं। कुछ अध्ययन के अनुसार अजवायन और लहसुन के मिश्रण का पेस्ट तैयार कर फंगल संक्रमण पर लगाने से संक्रमण से आराम पा सकते हैं। जिन पुरुष को फंगल संक्रमण नहीं है उनको अपने भोजन में लहसुन को जरूर शामिल करना चाहिए। 

अगर आपका फंगल संक्रमण घरेलू उपचार से ठीक नहीं हो रहा है, तो त्वचा विशेषज्ञ (Dermatology) संपर्क करें। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Dermatologist in Delhi

Best Dermatologist in Chennai

Best Dermatologist in Mumbai

Best Dermatologist in Bangalore