वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) क्या हैं ? (Vasectomy Meaning in Hindi)

Login to Health नवम्बर 2, 2020 Mens Health 205 Views

English हिन्दी Bengali

वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) क्या हैं ? (Vasectomy Meaning in Hindi)

वासेक्टोमी को हिंदी में पुरुष नसबंदी कहा जाता है। यह एक चिकित्सा प्रक्रिया है जिसमे पुरुष की वो नली जो शुक्राणु ले जाते है उनको अलग कर दी जाती है या काट कर अलग कर दी जाती है। पुरुष नसबंदी होने के बाद वीर्य में कोई शुक्राणु नहीं होते है यानि पुरुष एक तरह बांझ बन जाता है। बहुत से विवाहित जोड़े आगे बच्चा नहीं चाहते है तो पुरुष नसबंदी करवाते है। लेकिन भविष्य में अगर आपको बच्चे की चाह हुई तो आप दोबारा अलग की हुई शुक्राणु नली को एक करवा सकते है, किंतु यह अधिक जोखिमों से भरा होता है और जरुरी नहीं आपको पूरी सफलता मिल पाएं। इसलिए पुरुष नसबंदी करवाने के बारे में सोचकर की निर्णय ले। हालांकि पुरुष नसबंदी गर्भपात को छोड़कर किसी अन्य गर्भनिरोधक विधि से बेहतर गर्भावस्था को रोकता है। पुरुष नसबंदी की प्रक्रिया होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है साथ ही दो हफ्तों तक आराम करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा सर्जरी के बाद जांच के लिए चिकिस्तक बुला सकते है ताकि आपके वीर्य में शुक्राणु है या नहीं पुष्टि कर सके। वैसे जन्म नियंत्रण के लिए पुरुष नसबंदी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। चलिए आज के लेख में आपको वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी ) क्या हैं के बारे में जानकारी देंगे। 

  • वासेक्टोमी क्यों किया जाता हैं ? (What are the Purpose of Vasectomy in Hindi)
  • वासेक्टोमी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of Vasectomy in Hindi)
  • वासेक्टोमी सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Vasectomy in Hindi)
  • वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) की जटिलताएं ? (What are the Risks of Vasectomy in Hindi)
  • भारत में वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) कराने का कितना खर्च लगता हैं ? (What is Cost of Vasectomy in Hindi)

वासेक्टोमी क्यों किया जाता हैं ? (What are the Purpose of Vasectomy in Hindi)

वासेक्टोमी यानि पुरुष नसबंदी उनके लिए होती है जो आगे महिला को गर्भवती नहीं करना चाहते है। इसके अलावा व्यक्ति को और बच्चें नहीं करना है तो वासेक्टोमी करवा सकते है। वासेक्टोमी होने पर पुरुष महिला को गर्भवती नहीं कर सकता है और एक तरह से पुरुष बांझ बन जाते है। हालांकि पुरुष नसबंदी थोड़े समय के लिए नहीं होती है बल्कि पुरुष नसबंदी पुरे जीवन के लिए हो जाती है। यदि कोई पुरुष दोबारा बच्चें की चाह रखता है और नसबंदी हटाने की सर्जरी करवाता है तो अधिक जोखिम रहता है। इसलिए यदि जन्म नियंत्रण करना है तो ही पुरुष नसबंदी करवाएं। (और पढ़े – एचवीपी क्या होता है)

वासेक्टोमी कैसे किया जाता हैं ? (What are the Procedure of Vasectomy in Hindi)

वासेक्टोमी प्रक्रिया शुरू करने मरीज को सामान्य एनेस्थीसिया देकर उस हिस्से को सुन्न किया जाता है जहा पर सर्जिकल प्रक्रिया करनी है। नसबंदी के दौरान, अंडकोश के ऊपरी हिस्से में एक चीरा लगाया जाता है। वास का एक हिस्सा जो कि वीर्य को खींचता है, उस क्षेत्र में कट लगा देते है जो अंडकोश में जुड़ जाता है उसे  हटा दिया जाता है। वैस डेफेरेंस के दो छोर अलग-अलग तरीकों का उपयोग करके बंधे और सील किए जाते हैं जैसे कि इलेक्ट्रोकॉटरी या सर्जिकल क्लिप। अंडकोश पर चीरा को बाद में टांके द्वारा बंद कर दिया जाता है। वासेक्टोमी की प्रक्रिया में लगभग आधे घंटे तक का समय लग सकता है। 

पुरुष नसबंदी करने के दो तरीके से किया जाता है। 

  • कोई स्केलपेल वेसेक्टॉमी (No scalpel Vasectomy) इस प्रक्रिया में स्केलपेल के बजाय क्लैंप का उपयोग किया जाता है। क्योंकि इसमें कम रक्तस्राव व त्वचा में छोटे छिद्र होने के कारण कम जोखिम होता है इसलिए अधिक पसंद किया जाता है।
  • पारंपरिक नसबंदी (Traditional Vasectomy) इस प्रक्रिया में अंडकोश और वास डिफेरेंस का उपयोग करने के लिए एक स्केलपेल का उपयोग शामिल किया जाता है।(और पढ़े – कंडोम के फायदे व उपयोग)

वासेक्टोमी सर्जरी के बाद देखभाल ? (How to Care After Vasectomy in Hindi)

सर्जरी के बाद उसी दिन मरीज को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है। इसके साथ मरीज को निम्न बातों की सलाह दी जाती है, जिनमे शामिल है। 

  • पुरुष नसबंदी के बाद व्यक्ति को कम से कम 1 सप्ताह तक ज़ोरदार शारीरिक गतिविधियों से बचना चाहिए। 
  • दर्द और सूजन को कम करने के लिए आइस पैक का उपयोग करना चाहिए। 
  • व्यक्ति को 3 दिनों के लिए स्क्रोटल समर्थन की सलाह दी जाती है। 
  • आपको दर्द से बचाव करने के कुछ दर्द निवारक दवाएं की खुराक लेने की सलाह देते है। 
  • पुरुष नसबंदी के बाद ढीले अंडरवियर पहने चाहिए। 
  • पुरुष नसबंदी के बाद कम से कम एक हफ्ते तक संभोग करने से बचें। (और पढ़े – मेथी के फायदे पुरुषो की यौन शक्ति बढ़ाने)

वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) की जटिलताएं ? (What are the Risks of Vasectomy in Hindi)

वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) के बाद कुछ निम्न जटिला का सामना करना पड़ सकता है। 

  • जैसे – वीर्य में रक्त आना। 
  • अंडकोष की थैली नीली होना। 
  • दर्द होना। 
  • सूजन की समस्या। 
  • अंडकोष की थैली में रक्त जमना। 
  • अंडकोश में रक्तस्राव। 
  • बुखार आना। 
  • अंडकोश लाल होना। 
  • गले में खराश आना। (और पढ़े – गला साफ करना क्या है)

यदि आपको इन जटिलताओं का जोखिम है तो तुरंत अपने चिकिस्तक से संपर्क करें। 

भारत में वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) कराने का कितना खर्च लगता हैं ? (What is Cost of Vasectomy in Hindi)

भारत में वासेक्टोमी सर्जरी कराने का कुल खर्च लगभग INR 40000 से INR 50000 तक लग सकता है। हालांकि भारत में बहुत से बड़े अस्पताल के डॉक्टर है जो वासेक्टोमी का इलाज करते है। लेकिन सभी अस्पतालों में वासेक्टोमी का खर्च अलग-अलग है। अगर आप अच्छे अस्पतालों में वासेक्टोमी  के खर्च व डॉक्टर के बारे में जानकारी के लिए (और पढ़े – वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) का इलाज खर्च) 

अगर आप विदेश से आ रहे है तो आपकी वासेक्टोमी के इलाज के खर्च के अलावा होटल में रहने का खर्चा होगा, रहने का खर्चा होगा, लोकल ट्रेवल का खर्चा होगा। इसके अलावा सर्जरी के बाद मरीज को दो दिन होटल में रिकवरी के लिए रखा जाता है, इसलिए सभी खर्चे मिलाकर INR 63,187 होते है जो एक साथ अस्पताल में लिये जाते है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए (और पढ़े – वासेक्टोमी का इलाज खर्च) 

हमे आशा है की आपके प्रश्न वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको वासेक्टोमी (पुरुष नसबंदी) के बारे में अधिक जानकारी व इलाज करवाने के लिए (Urologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Urologist in Delhi

Best Urologist in Mumbai

Best Urologist in Chennai

Best Urologist in Bangalore