जानिए 40 की उम्र पार करने वाली महिलाओं का डाइट चार्ट कैसा होना चाहिए। Diet Chart For 40 Year Old Indian Woman in Hindi

Login to Health मार्च 27, 2020 Womens Health 6557 Views

हिन्दी Tamil

Diet Chart For 40 Year Old Indian Woman Meaning in Hindi

महिलाओं के उम्र बढ़ने पर उनमे कमजोरी होने लगती है जिसके लिए उनको अपने आहार में पौष्टिक एव संतुलित आहार शामिल करना चाहिए। कई ऐसी महिलाएं भी होती है जो अपनी सेहत का सही से ध्यान नहीं रखती है तो बीमार जल्दी होती है। 40 की उम्र पार करने वाली महिलाओं को अपना डाइट कैसा रखना चाहिए इस बारे में इस लेख में बताने वाले है। इस डाइट से महिलाये अपने आप को शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत कर सकती है। जैसा की आपको पता है मनुष्य की उम्र जैसे जैसे बढ़ती है वैसे अनेको बीमारियों के जोखिम लगे रहे है साथ ही शरीर का मेटाबोलिज्म कम हो जाता है। इसके अलावा हार्मोन्स में कमी होने लगती है। महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी से जोड़ो और हड्डियों में अधिक कमजोरी आ जाती है। त्वचा रूखी होने के साथ वजन बढ़ने लगता और पाचन क्रिया धीमा हो जाता है आदि। महिला का वजन बढ़ रहा है तो उनको कम कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थ का अधिक सेवन करना चाहिए। कई महिला अपने परिवार की जिम्मेदारियों में इस कदर व्यस्त हो जाती है की उनको अपने सेहत के लिए समय नहीं मील पाता है। इन महिलाओं के लिए हम इस लेख के माध्यम से आहार डाइट के बारे में विस्तार से बताएंगे। 40 की उम्र पार करने वाली महिलाओं का

डाइट चार्ट कैसा होना चाहिए ? (Diet Chart For 40 Year Old Indian Woman in Hindi)

40 की उम्र पार करने वाली महिलाओं का भारतीय डाइट चार्ट के बारे में विस्तार से बताने वाले है।

40 की उम्र के बाद महिला को क्या बदलाव करना चाहिए – हमारे भारत की महिलाओं का जितना सम्मान किया जाये उतना कम है क्योकि अपनी बिना परवाह किये अपने बच्चें, पति, माँ-बाप ध्यान रखती है। ताकि उन लोगो का स्वास्थ्य अच्छा रहे। हालांकि महिलाएं जब 40 की उम्र से कम है तो उनको ज्यादा मालूम नहीं पड़ता है किंतु 40 के पार जाने पर स्वास्थ्य संबंधित समस्या शुरू होने लगती है। महिला के अधिक उम्र होने पर उनमे मेनापॉज की समस्या शुरू होने पर शारीरिक समस्या और बढ़ जाती है। बुढ़ापा आने पर अनेक बीमारिया बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है। इन सब समस्या से निजात पाने के लिए महिलाओं को 40 की उम्र होने पर भोजन में खास खाद्य पदार्थो को शामिल करना चाहिए। जैसे कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, फाइबर आदि। इससे कमजोरी दूर होगी एव प्रतिशा प्रणाली मजबूत होगी। (और पढ़े – मेनोपॉज़ की समस्या क्या है)

40 की उम्र के बाद भोजन में कैलोरी कितना रखे – महिलाओं के अधिक उम्र होने पर वजन बढ़ने लगता है जिसे कम करने के लिए कैलोरी का समझ होना जरुरी है। जैसे आपको भोजन मे कितना कैलोरी लेना चाहिए कितना नहीं। महिला को ब्रेकफ़ास्ट में कम से कम 400 कैलोरी ले, मिड मॉर्निंग में 140 कैलोरी, दोपहर के भोजन में 500 से 600 शामिल करे, शाम के समय हल्का कैलोरी में 100 ले, इसके बाद आप 120 कैलोरी ले सकती है। रात के भोजन में दोपहर से कम कैलोरी लेना है जिसमे 500 से अधिक न ले। ऐसे करने से आपका वजन संतुलित रहेगा और वजन नहीं बढ़ेगा। (और पढ़े – मोटापा कम करने के घरेलू उपचार) 40 के बाद महिला को क्या सावधानी रखनी चाहिए – महिला की उम्र 40 से अधिक होने लगती है तो उसे पहले से कम खाना चाहिए। क्योंकि बढ़ती उम्र में शरीर का मेटाबोलिज्म बहुत धीमा हो जाता है। इसलिए कम कैलोरी लेना शरीर के लिए अच्छा होता है। 40 की उम्र होने पर महिला को कैफीन व अल्कोहल कम कर देना चाहिए। क्योंकि कैफीन व अल्कोहल मीनोपॉज की स्तिथि को बढ़ावा देते है। अल्कोहल दिल व लिवर की समस्या को बढ़ाता है। इसके अलावा मीठा चीजे कम लेना चाहिए ताकि शुगर न हो। अक्सर महिला को 40 के पार होने पर रक्तचाप की समस्या होने का जोखिम रहता है इसलिए कम नमक लेना चाहिए। ताकि ह्रदय, गुर्दे, धमनियों पर असर ना पड़े। (और पढ़े – मेटाबॉलिज्म क्या है)

40 की उम्र पार करने वाली महिलाओं को क्या ध्यान रखना जरुरी है – महिला की उम्र 40 होने के बाद पेट में चर्बी अधिक हो जाती है जिसे बेली फैट कहते है। बेली फैट बढ़ने से मधुमेह, ह्रदय रोग, डिमेंशिया व कैंसर रोग का जोखिम लगा रहता है। अगर आप सही डाइट करते है तो चिकिस्तक से सलाह जरूर ले सकते है। 40 की उम्र पार करने पर महिला पुरुषो की तुलना में अधिक कमजोर हो जाती है। उनकी मांसपेसियों व जोड़ो में दर्द होने लगता है। ऐसे में पौष्टिक आहार सही कैलोरी को फॉलो करना चाहिए। भारतीय महिलाओं को अपना डाइट भारतीय भोजन से रखना चाहिए जो की बहुत फायदेमन्द होता है। अपने उम्र के इस पड़ाव में महिला को अपने जीवन शैली में बदलाव जरूर करे और स्वास्थ्य को मजबूत बनाये। (और पढ़े – बदन दर्द के घरेलू उपचार)

भारतीय डाइट प्लान कैसे करना चाहिए – भारतीय महिला को अपने डाइट में भारतीय भोजन शामिल करने के लिए निम्नलिखित चीजे कर सकती है। अक्सर महिला के 20 से 40 की उम्र होने पर उनको बहुत प्रोटीन, वसा, मिनरल्स की जरूरत होती है। जैसे सुबह के नाश्ते में दूध, ओट्स या फल में पपीता, अनार, सेब आदि। इसके अलावा ग्रीन टी उबला अंडा, रागी, इटली, उपमा का सेवन कर चाय ले सकती है। नाश्ते के बाद 10 बजे महिला को खीरा, नींबू, प्याज, टमाटर, स्प्रॉउड, सलाद, संतरा या दो बिस्कुट खा सकती है। दोपहर के भोजन में चपाती या मेथी के थेपले, चावल दाल, दही, भुना पापड़, खजूर बेसन का लड्डू आदि। शाम 4 बजे दूध, चाय या दो नमकीन बिस्कुट खाएं। शाम के 6 बजे दो ढोकला दही खा सकते है। रात के भोजन में एक कटोरो राजमा, एक कटोरी सब्जी, दो चपाती या चिकन सुप, मीठे ताजे फलो का सलाद या रस ले सकती है।

महिलाओं को किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या हो रही है तो जानकारी व उपचार के लिए स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से संपर्क करना चाहिए।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।