फीमेल फर्टिलिटी पैनल क्या हैं । Female Fertility Panel in Hindi

मई 26, 2021 Womens Health 2190 Views

English हिन्दी

फीमेल फर्टिलिटी पैनल का मतलब हिंदी में  (Female Fertility Panel Meaning in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल क्या हैं ?

आजकल बहुत से महिलाए असुरक्षित यौन संबंध के बाद माँ बनने में असमर्थ हो जाती है। प्रजनन क्षमता की कमी होने से महिला गर्भधारण नहीं कर पाती है। इसके अलावा शारीरिक समस्याएं, जीवनशैली, हार्मोनल समस्या, बढ़ती उम्र आदि जिम्मेदार होता है। फीमेल फर्टिलिटी की जांच करने के लिए चिकिस्तक टेस्टोरेन, प्रोजेस्ट्रोन, प्रोलेक्टिन, एलएच, थायरॉइड, ओएसस्ट्राडीओल टेस्ट आदि करते है। चलिए आज के लेख में आपको फीमेल फर्टिलिटी पैनल के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • फीमेल फर्टिलिटी पैनल क्यों किया जाता हैं ? (Purpose of Female fertility test in Hindi)
  • फीमेल फर्टिलिटी पैनल से पहले की तैयारी ? (Before Female fertility test in Hindi)
  • फीमेल फर्टिलिटी पैनल कैसे किया जाता हैं ? (During Female fertility test in Hindi)
  • फीमेल फर्टिलिटी पैनल के जोखिम ? (Risk of Female Fertility Test in Hindi)
  • फीमेल फर्टिलिटी पैनल का परिणाम क्या हैं ? (What Does Female Fertility test Result Mean in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल क्यों किया जाता हैं ? (Purpose of Female fertility test in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल शरीर की प्रजनन क्षमता में कमी को पता लगाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इनफर्टिलिटी के कारण अनियमित मासिकधर्म व अनियमित ओवुलेशन होने लगता है। तेजी से वजन बढ़ना या घटना महिलाओं में इनफर्टिलिटी का कारण बनता है। 

हार्मोनल समस्या होने पर निम्न लक्षण नजर आते है। 

  • जैसे – थकान महसूस करना, वजन अत्यधिक कम या अधिक होना, मुंहासे आना, बालों का झड़ना आदि। 
  • ओवरियन सिस्ट में महिलाओं की प्रजनन क्षमता में कमी होने से सिस्ट में गांठ में दर्द हो सकता है। 
  • गर्भाशय बढ़ना, श्रोणि में दर्द, अत्यधिक मासिक धर्म आदि। (और पढ़े – अनियमित मासिकधर्म की समस्या)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल से पहले की तैयारी ? (Before Female fertility test in Hindi)

  • फीमेल फर्टिलिटी टेस्ट के लिए किसी तरह की विशेष तैयारी करने की जरूरत नहीं पड़ती है। लेकिन टेस्ट के पहले मरीज को पूरी जानकारी देना आवश्यक होता है, जैसे – किसी तरह की दवा का सेवन करते है या किसी बीमारी से पहले से पीड़ित हो चुके है या गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन, अनियमित मासिकधर्म चक्र धूम्रपान की लत आदि छिपाना नहीं चाहिए। यह आदते आपके जांच के परिणाम को प्रभावित करती है। 
  • टेस्ट करवाने के लिए हाफ बांह के कपडे पहनकर जाएं ताकि ब्लड सैंपल लेने में आसानी हो सके। एलएच टेस्ट के लिए चिकिस्तक गर्भनिरोधक गोली न सेवन की सलाह देते है। मासिकधर्म के समय चिकिस्तक ब्लड सैंपल ले सकता है। किसी तरह की दवा लेने के बारे में चिकिस्तक से बात कर ले। 
  • प्रोलैक्टिन व टेस्टोरेन टेस्ट के लिए मरीज के बांह से सुबह सैंपल लिया जाता है और इसके लिए मरीज को रात में कुछ खाने की सलाह दी जाती है। ऐस इसलिए सुबह के समय प्रोलैक्टिन, टेस्टोररेंन के स्तर अधिक रहते है। हालांकि इन टेस्ट से पहले आपको हार्मोन दवाएं, एंटीफंगल दवा न लेने की सलाह देते है। यह परिणाम को  प्रभावित करता हैं। 
  • यदि प्रोजेस्ट्रोन, एलएसएच की जांच के लिए चिकिस्तक महिला को गर्भनिरोधक गोली न लेने की सलाह देता हैं। यह दवाएं परिणाम को अधिक प्रभावित करती है। इसलिए कोई भी दवा का सेवन करती है तो चिकिस्तक से खुलकर बात करें। ताकि चिकिस्तक आपको सही सुझाव दे सकें। (और पढ़े – प्रोजेस्ट्रोन टेस्ट क्या हैं)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल कैसे किया जाता हैं ? (During Female fertility test in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी के दौरान मरीज के बांह की नस से ब्लड का सैंपल लिया जाता है। हालांकि यह सामान्य तौर पर ब्लड टेस्ट की तरह होता है। इस प्रक्रिया को करने के लिए सबसे पहले बांह पर टुनिकेट बाधा जाता है। अब सुई लगाने वाली जगह को साफ करेंगे ताकि संक्रमण का खतरा न हो, एक सिरिंज के जरिये बांह से ब्लड का सैंपल लिया जाता है। सुई लगने पर हल्का दर्द का अनुभव होता है जो की बाद अपने आप चला जाता है। जब चिकिस्तक सैंपल ले लेते है तब टुनिकेट को भी हटा देते है। ब्लड को रोकने के लिए रुई लगा देते हैं। ब्लड सैंपल को जांच के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया जाता हैं। (और पढ़े – कोलेस्ट्रॉल टेस्ट क्या हैं)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल के जोखिम ? (Risk of Female Fertility Test in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी टेस्ट के कोई विशेष जोखिम नहीं होता है, लेकिन कुछ मामलो में निम्न जोखिम हो सकते हैं। 



फीमेल फर्टिलिटी पैनल का परिणाम क्या हैं ? (What Does Female Fertility test Result Mean in Hindi)

फीमेल फर्टिलिटी पैनल का लिंग, उम्र, पिछली बीमारी इतिहास व जांच प्रक्रिया के आधार पर परिणाम भिन्न -भिन्न आ सकते हैं। परिणाम चाहे सामान्य हो या असामान्य इसके बारे में आपके चिकिस्तक विस्तार से चर्चा करते हैं।  

  • सामान्य परिणाम – फीमेल फर्टिलिटी पैनल के सामान्य परिणाम निम् आ सकते है। जैसे प्रोलैक्टिन 20 mcg/l से कम, प्रोजेस्ट्रोन में मासिकधर्म की अवस्था में 0. 1 -0. 7 ng/ml, अंतिम अवस्था में 2 -25 ng/ml, एलएसएच में फॉलिक्युलर फेस में 1. 4 – 9. 9 lu /ml, मासिकधर्म अंतिम चरण – 1. 1 – 9 2 Iu/ml, ओवुलटरी की अवस्था – 6. 2 – 17. 2  lu /ml, एलएच में मासिकधर्म की शुरुवात में – 1. 68 -15 iu/l, चक्र के मध्य में 21. 9 -56. 6 iu/l (और पढ़े – फीमेल फर्टिलिटी क्या हैं)
  • असामान्य परिणाम – ब्लड टेस्ट के परिणाम नेगेटिव आने पर इनफर्टिलिटी के कारण की ओर संकेत करता है। यदि महिला को नियमित रूप से मासिकधर्म नहीं होते है। इस वजह से एफएसएच के स्तर कम हो सकते है। इसके अलावा चिकिस्तक अन्य जांच करने की सिफारिश कर सकते है। जिनमे शामिल है एक्स रे, हिस्टोरोसलपीनगोग्राम, अल्ट्रासाउंड, ट्रांसवजाइनल आदि हैं। (और पढ़े – एंडोस्कोपी क्या हैं)

हमें आशा है की आपके प्रश्न फीमेल फर्टिलिटी पैनल क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको फीमेल फर्टिलिटी टेस्ट से जुडी किसी तरह की जानकारी चाहिए तो (Gynecologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Gynecologist in Delhi

Best Gynecologist in Mumbai

Best Gynecologist in Chennai

Best Gynecologist in Bengaluru


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox


    captcha