अनियमित महामारी में जरुरी आहार। Foods to Eat in Your Period in Hindi.

Login to Health अक्टूबर 22, 2020 Womens Health 499 Views

हिन्दी

Foods to Eat to Regulate Your Period Meaning in Hindi. 

अनियमित महामारी में महिलाओं को स्वस्थ भोजन लेने की आवश्कयता होती है। लेकिन सभी महिला में अनियमित महामारी की समस्या नहीं होती है, यह महिला के मासिक चक्र पर निर्भर करता है। हालांकि महिला में सामान्य रूप से मासिक चक्र 21 से 35 दिनों तक होता है और महिला में महामारी 5 से 7 दिनों तक रहती है। कुछ महिला में असामन्य, लंबी, हल्की भारी अवधि का सामना करना पड़ सकता है। इस वजह से महिलाओं को अधिक पीड़ा और अन्य स्वास्थ्य संबंधित समस्या का जोखिम होने लगता हैं। किंतु आहार में संतुलित भोजन करने से इन समस्या को कम किया जा सकता है। बहुत सी महिला यह नहीं जानती होगी, अनियमित महामारी के दौरान भोजन में क्या लेना जरुरी और फायदेमंद है। इसलिए, इस लेख के माध्यम से अनियमित महामारी में जरुरी आहार के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • अनियमित महामारी क्या हैं ? What is irregular period in Hindi
  • अनियमित महामारी में क्या आहार लेना चाहिए ? What to eat to regulate your period in Hindi.

अनियमित महामारी क्या हैं ? (What is irregular period in Hindi)

महिलाओं में मासिक चक्र की अवधि सही है तो उनको मासिकधर्म सही समय पर आते है। इसे समान मासिकधर्म के रूप में अंकित किया जाता है। नियमित चक्र 21 से 35 दिन के भीतर होती है। अगर इससे अधिक दिन का होता है, या किसी महीने में नहीं आता है, तो इसे अनियमित मासिकधर्म कहा जाता है। अगर एक बार किसी महिला को मासिक धर्म अनियमित हुआ तो घबराने की बात नहीं है। अगर बहुत बार ऐसा हो रहा है तो आपको इसका उपचार करवाना चाहिए। हार्मोन्स थेरेपी का उपयोग करना और अपने जीवन शैली में परिवर्तन करना एक बेहतर उपचार हो सकता है। 

अनियमित महामारी में क्या आहार लेना चाहिए ? (What to eat to regulate your period in Hindi.)

अनियमित महामारी में महिलाओं को पोषक तत्व की जरूरत होती है, इसलिए अपने भोजन में संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए। ताकि, इस समस्या से निजात मिल सके। चलिए आगे अनियमित महामारी में जरुरी आहार के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • एलोवेरा के घरेलु उपचार से अनियमित महामारी को दूर करें एलोवेरा बहुत सी बीमारियों को ठीक करने के लिए घरेलू उपचार में उपयोग किया जाता है। इसलिए महिलाओं से जुडी समस्या में भी एलोवेरा बहुत फायदेमंद माना गया है। ऐसा कहा गया है एलोवेरा अनियमित महामारी के लक्षणो को कम करने में मदद करता है। लेकिन महामारी के दौरान एलोवेरा का उपयोग नहीं होना चाहिए, किंतु अनियमित को नियमित करने के लिए केवल उपयोग में लाना चाहिए। एलोवेरा की ताजा पत्तियों से जेल निकाल कर, उसमे एक चम्मच शहद का मिश्रण कर ले और नाश्ता के पहले इसका सेवन कर ले। कुछ दिन इस प्रक्रिया को करने पर अनियमित की समस्या ठीक होने लगती हैं। (और पढ़े – एलोवेरा के स्वास्थ्य लाभ)
  • अदरक का उपयोग अनियमित महामारी में महिलाओं में मासिकधर्म से जुडी समस्या अक्सर हार्मोन के अनियंत्रण होने के कारण उत्पन्न होता है। अनियमित महामारी को ठीक करने के लिए कारगर घरेलू उपाय का उपयोग जरुरी होता है। अदरक ऐसा ही घरेलू उपचार है, इसमें कई तरह के औषधीय गुण का समावेश होता है जो स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने के साथ महामारी को नियमित करने में मदद करता है। अदरक का उपयोग के लिए पानी में अदरक के टुकड़े डालकर उबाल ले और ठंडा होने के बाद स्वाद के लिए चीनी मिलाकर सेवन कर सकते हैं। इस बात का ध्यान रहे भोजन के बाद ही पीये। (और पढ़े – अदरक के फायदे क्या है)
  • साबुत अनाज का उपयोग कुछ शोध के अनुसार साबुत अनाज का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। साबुत अनाज में अच्छी मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन बी अच्छी मात्रा में होती है। यह महिला के शरीर के लिए आवश्यक माने जाते है, क्योंकि हार्मोन के घटक में सुधार करने में मदद करता है। इसके अलावा अनियमित महामारी के लक्षणो को कम करता है। जिन महिला को अनियमित महामारी की समस्या है, उनको ओटमील, ब्राउन राइस, साबुत अनाज का सेवन करना चाहिए। (और पढ़े – ओट्स के फायदे क्या हैं)
  • अनियमित महामारी में अलसी का उपयोग अलसी के बीज का उपयोग अनियमित महामारी की समस्या को ठीक करने में कारगर साबित होते है। अलसी के बीज में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व और ओमेगा फटिक एसिड व फाइबर की अच्छी मात्रा होता है। इसके अलावा कुछ ऐसे घटक उपस्थित है जो हार्मोन को संतुलन करने में मदद करता है। कुछ शोधकर्ता के अनुसरा अलसी के बीज एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए मासिकधर्म से जुडी परेशानियों को ठीक करने के लिए अलसी के बीज का उपयोग करना चाहिए। (और पढ़े – अलसी के बीज के फायदे)
  • अनियमित महामारी से छुटकारा दिलाए मछली मछली में सैल्मन में बहुत तरह के पोषक तत्व और विटामिन होते है जो महिला के अनियमित महामारी की समस्या को ठीक करने में मदद करता है। बहुत से लोग अनियमित की समस्या से राहत पाने के लिए मछली के सेवन करने की सलाह देते हैं। इनमे अच्छी मात्रा में ओमेगा फैटिक एसिड है जो मासिकधर्म के ऐंठन को रोकने में मदद करती है और हार्मोन को नियंत्रित करती है। बहुत सी महिलाओं में अनियमित की समस्या नियमित देखी गयी है। इसलिए सैल्मन मछली को अपने आहार में शामिल जरूर करें। (और पढ़े – मछली के फायदे और नुकसान)
  • अनियमित महामारी से बचने के लिए फल और सब्जियां खाएं –  यदि महिला को अनियमित महामारी से गुजर रही है, तो ऐसे में, बहुत सारे पोषक तत्वों की जरूरत होती है। पोषक तत्व पाने के लिए फलो और सब्जियों का सेवन आहार में करना चाहिए। इससे महिला के शरीर को अच्छी मात्रा में पोषक तत्व मिलेगा और हार्मोन का संतुलन बराबर होने लगता है और महामारी नियमित होने लगता है। इसलिए हमेशा स्वस्थ भोजन करना चाहिए। (और पढ़े – अनियमित महामारी के लक्षण)

अगर आपको अनियमित महामारी की समस्या अधिक समय से हो रही है, तो स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से संपर्क करें। 

हमारा उद्देश्य है आपको जानकारी प्रदान करना है। ना की किसी तरह के दवा, इलाज, घरेलु उपचार की सलाह दी जाती है। आपको चिकिस्तक अच्छी सलाह दे सकते है क्योंकि उनसे अच्छी सलाह कोई नहीं देता है।


Best Gynecologist in Delhi

Best Gynecologist in Mumbai

Best Gynecologist in Chennai

Best Gynecologist in Bangalore