प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन की समस्या। Swollen Feet During Pregnancy in Hindi

Login to Health नवम्बर 19, 2020 Womens Health 114 Views

हिन्दी العربية

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन का मतलब हिंदी में

माँ बनने इच्छा हर महिला को होती है क्योंकि बच्चें का मोह ही ऐसा होता है। गर्भावस्था में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन बच्चें के प्यार के लिए महिला सब सहन कर लेती है। गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिला के पैरो में सूजन की समस्या होने लगती है। इस वजह से पैर को हिलाने में कठिनाई आने लगती है। इसके अलावा यदि महिला को चक्कर, मलती व उल्टी जैसी समस्या हो रही है तो इसे हल्के में न ले बल्कि चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए। यदि उचित समय पर उपचार न करवाया गया तो माँ और बच्चे दोनों को समस्या हो सकती है। हालांकि गर्भावस्था का समय ही ऐसा होता है जिसमे महिलाएं कुछ न कुछ परेशानियों का सामना करती है। चलिए आज के लेख के माध्यम से आपको प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन की समस्या के बारे में बताने वाले है। 

  • प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन क्यों होता है ? (What are the Causes of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)
  • प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन के लक्षण ? (What are the Symptoms of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)
  • प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन का इलाज ? (What are the Treatments for Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)
  • प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन क्यों होता है ? (What are the Causes of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था में अक्सर महिलाओं के पैर में सूजन की समस्या देखने को मिलती है। पैरो में सूजन तब होता है जब द्रव या तरल पदार्थ ऊतकों में जमा होने लगती है। हालांकि पैरो में सूजन की समस्या के कुछ अन्य कारण भी हो सकते है। 

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन के लक्षण ? (What are the Symptoms of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन के कारण कई लक्षण का अनुभव कर सकती है। 

  • जैसे – पेरो में दर्द महसूस होना। 
  • पेरो में भारीपन लगना। 
  • सूजन वाली जगह पर गर्म लगना। 
  • पैर का उपयोग करने में असमर्थ हो जाना। 
  • पैर हिलाने में कठिनाई आना। 
  • पेरो को दबाने पर गड्ढा पड़ना। (और पढ़े – गर्भावस्था में तनाव की समस्या)

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन का इलाज ? (What are the Treatments for Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन का इलाज निम्न तरीको से किया जा सकता है। 

  • गर्भावस्था में पैरो में सूजन की समस्या होने पर चिकिस्तक सूजन वाली जगह पर मालिश करने की सलाह देते है। मालिश करने से सूजन से राहत मिलती है। 
  • चिकिस्तक बैंडेज का उपयोग कर पेरो की सूजन का उपचार करते है। इसके लिए गर्भवती महिला के सूजन वाले पैर में बैंडेज को बांध दिया जाता है, ताकि दर्द व सूजन से आराम मिल सके। 
  • गर्भवती महिला के पेरो के सूजन को कम करने के लिए रेफ्लेक्सोलॉजी यानि एक तरह की मालिश का उपयोग किया जा सकता है। इस प्रक्रिया में पेरो पर दबाव डालकर सूजन को कम किया जाता है जो काफी प्रभावकारी हो सकती है। 
  • अधिक पेरो में सूजन होने पर चिकिस्तक महिला को बिस्तर पर लेटकर पैर ऊंचाई पर रखने की सलाह देते है। इसके लिए दो तकियो को पैर के निचे रखा जाता है, ताकि सूजन से आराम मिल सके। 
  • पेरो पर दबाव को बनाए रखने के लिए इलास्टिक मोज़े पहनने की सलाह दे सकते है, ताकि पैरो की सूजन की समस्या को कम किया जा सके। 

चिकिस्तक कुछ घरेलु उपचार की सलाह दे सकते है। 

  • खीरे में प्राकृतिक रूप से ठंडक होती है जो जलन को कम करने में मदद करते है। इसलिए पैरो में सूजन को कम करने के लिए खीरे का उपयोग कर सकते है। इसके लिए खीरे के पतले टुकड़े कर सूजन वाली जगह पर बांध ले। इस प्रक्रिया से सूजन व जलन से आराम मिलता है। 
  • केला में बहुत से पौष्टिक तव का समावेश होता है। यह पैरो की सूजन व जलन से आराम दिलाता है। इसका उपयोग करने के लिए एक केले के छिलके की अंदर की परत निकालकर पेस्ट बना ले और प्रभावित जगह पर लगा ले।   (और पढ़े – डिलीवरी के बाद पेट को कैसे कम करे)

प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन से बचाव कैसे करें ? (Prevention of Swollen Feet During Pregnancy in Hindi)

महिलाएं कुछ बातों का ध्यान रख प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन से बचाव कर सकती है। चलिए आगे बताते है। 

  • गर्भवती महिलाएं एक ही जगह पर अधिक देर तक न बैठे बल्कि थोड़ा चलना फिरना चाहिए। 
  • टाइट कपडे की जगह ढीले कपडे पहने चाहिए। 
  • भोजन में जितना हो सके कम मात्रा में नमक का उपयोग करें। 
  • पैरो में दर्द होने पर हल्के हाथो से मसाज करना चाहिए। इसके अलावा तकिये पर पैर रख कर आराम कर सकते है। 
  • यदि पैरो में सूजन दर्द अधिक पीड़ादायक हो रहा है तो अपने चिकिस्तक से बात करनी चाहिए, ताकि आपको सही परामर्श दे सके। इसके अलावा आपके स्तिथि के अनुसार कुछ व्यायाम करने की सलाह भी दे सकते है जिससे पैर में दर्द व सूजन को कम किया जा सके।  (और पढ़े – पेरो में दर्द के आयुर्वेदिक उपचार)

हमें आशा है की आपके प्रश्न प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन की समस्या ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको प्रेगनेंसी में पैरों में सूजन की समस्या अधिक हो रही है, तो स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से संपर्क करें। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Gynecologist in  Delhi

Best Gynecologist in Chennai

Best Gynecologist in Mumbai

Best Gynecologist in Bangalore