योनि का संकुचन क्या हैं। Vaginismus in Hindi

Login to Health नवम्बर 22, 2020 Womens Health 58 Views

हिन्दी العربية

योनि का संकुचन क्या हैं

योनि में सकुंचन की समस्या को अंग्रेजी में वैजिनिज्मस कहा जाता है। योनि का संकुचन तब होता है जब महिलाएं संभोग करती है तो प्रवेश के दौरान उनकी योनि की दिवार में कठोरता आ जाती है। योनि की मांसपेशियो में संकुचन होने से संभोग के दौरान दर्द व पीड़ा का अनुभव होता है। इसके अलावा टैम्पोन लगाते समय या पैप टेस्ट के दौरान हो सकता है। चिकिस्तक के अनुसार योनि में किसी तरह के आधात से संक्रमण बढ़ने का जोखिम लगा रहता है। जब महिलाएं योनि में टैम्पोन या लिंग प्रवेश करवाते है तो उस समय श्रोणि तल की मांसपेशियो अनैच्छिक सकुंचन के वजह से योनि की दिवार कस जाती है। योनि की दिवार में कठोरता होने से योनि में दर्द, मांसपेशियो में ऐंठन व योनि का मुंह बंद हो सकता है। योनि में सकुंचन समस्या से पीड़ित होने पर कुछ मांसपेशिया प्रभावित होती है। समूह मांसपेशिया मल त्यागने, पेशाब, संभोग की क्रिया में सहायक होती है। योनि में सकुंचन यौन उत्तेजना के कारण नहीं होता है, लेकिन योनि में कठोरता ला सकता है। चिकिस्तक द्वारा योनि में सकुंचन का परीक्षण किया जाता है ताकि अन्य समस्या के बारे में जान सके। यौन रोग की समस्या महिलाओं को ही प्रभावित नहीं करते बल्कि पुरुषो को भी प्रभावित करते है। बहुत से लोग यौन से जुडी समस्या के बारे में बात करने में या उपचार करवाने में शर्म करते है। इस वजह से समस्या और जटिल बन सकती है। यदि महिलाएं में संभोग के दौरान योनि में अत्यधिक संकुचन का सामना कर रही है तो उनको स्त्री विशषज्ञ से बात करनी चाहिए। चलिए आज के लेख में योनि का संकुचन क्या हैं के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • योनि में संकुचन के कारण क्या है ? (Causes of Vaginismus in Hindi)
  • योनि में संकुचन के लक्षण क्या हैं ?(Symptoms of Vaginismus in Hindi)
  • योनि में संकुचन की जांच ? (Diagnoses of Vaginismus in Hindi)
  • योनि में सकुंचन का उपचार क्या हैं ? (Treatments for Vaginismus in Hindi)

योनि में संकुचन के कारण क्या है ? (Causes of Vaginismus in Hindi)

योनि में सकुंचन होने से कुछ निम्न कारण हो सकते है। 

  • जैसे – योनि में खमीर संक्रमण होने के कारण योनि में सकुंचन हो सकता है। 
  • मूत्र मार्ग में किसी अनियमियता के कारण योनि में सकुंचन होता है।  (और पढ़े – पेशाब में जलन की समस्या)
  • यौन शोषण भी योनि में सकुंचन का कारण बन सकता है। 
  • अत्यधिक तनाव लेने से योनि में सकुंचन हो सकता है। 
  • हाइमन को गलत तरीके से तोड़ने पर होने वाले दर्द के कारण योनि में सकुंचन हो सकता है। 

कुछ अन्य कारण 

  • जैसे – शरीर के आकर के बारे में सोचना या आत्म चेतना। 
  • अपने साथी के लिंग के बारे में सोचकर डर होना यह भी योनि में सकुंचन पैदा कर सकता हैं। 
  • अपने नियंत्रण को पूरी तरह खो देना योनि में सकुंचन का जिम्मेदार हो सकता है। 

जोखिम कारक –

  • यदि महिला पहले से किसी यौन समस्या से पीड़ित है उनको योनि संकुचन हो सकता है। 
  • सेक्स थेरेपी लेने वाली  महिला में सकुंचन की समस्या हो सकती हैं। (और पढ़े – सेक्स थेरेपी क्या है)

योनि में संकुचन के लक्षण क्या हैं ?(Symptoms of Vaginismus in Hindi)

योनि में सकुंचन होने के कुछ निम्न संकेत या लक्षण हो सकते है। 

  • यौन संबंध बनाने व टैम्पोन को डालने के दौरान योनि में संकुचन होता है। लेकिन लिंग व टैम्पोन बाहर निकालने के बाद सकुंचन कम होता है। 
  • परेशानी होना। 
  • सकुंचन का कोई सटीक शारीरिक लक्षण नजर नहीं आते है, किंतु महिलाएं प्रभावित होती है। 
  • यदि महिलाएं संभोग के दौरान हर बार योनि में दर्द या सकुंचन का सामना कर रही है तो उनको महिला चिकिस्तक से संपर्क कर उपचार करवाना चाहिए। 

योनि में संकुचन की जांच ? (Diagnoses of Vaginismus in Hindi)

योनि में सकुंचन की जांच करने के लिए आपके चिकिस्तक कुछ सवाल पूछ सकते है जैसे आप किस तरह के लक्षण का अनुभव करती है व दर्द और पेल्विक दर्द का पता लगाने के लिए जांच करते है। यदि शारीरिक जांच के दौरान कोई स्तिथि नहीं मिलती हैं तो प्रवेश द्वारा योनि में दर्द के साथ सकुंचन की समस्या होती है। चिकिस्तक आपको निम्न सुझाव दे सकते है ताकि योनि में सकुंचन जैसी समस्या न हो। इसके अलावा जननांगो की जांच करते हुए देखते है और जरूरत के अनुसार उपकरण की मदद पेल्विक जांच की जा सकती है। हालांकि योनि में संक्रमण या असामान्य कारण का पता लगाने के लिए लक्षण के आधार पर परीक्षण कर सकते है। योनि में सकुंचन किसी तरह असामान्यता जांच में नहीं पाया जाता है। (और पढ़े – योनि में बैक्टीरिया की समस्या)

योनि में सकुंचन का उपचार क्या हैं ? (Treatments for Vaginismus in Hindi)

योनि में सकुंचन का उपचार का उद्देश्य मांसपेशियों की स्वचालित जकड़न और दर्द के डर को कम करना होता है और किसी अन्य प्रकार के भय से निपटने के लिए अन्य तरीके अपनाये जा सकते है। हालांकि योनि में सकुंचन का सामान्य तौर कुछ निम्न उपचार कर सकते है। 

  • पेल्विक फ्लोर कंट्रोल एक्सरसाइज इनमें पेल्विक फ्लोर मसल्स को कंट्रोल करने के लिए मांसपेशियों में सिकुड़न और रिलैक्सेशन एक्टिविटीज या केगेल एक्सरसाइज शामिल हैं।
  • भावनात्मक व्यायाम यह व्यक्ति को किसी भी भावनात्मक कारकों को पहचानने, व्यक्त करने और हल करने में मदद कर सकता है जो उनकी योनि में योगदान दे सकते हैं।
  • सम्मिलन के प्रति संवेदनशीलता कम करना: महिला को हर दिन करीब जाने के बिना दर्द के कारण के बिना योनि के खुलने के करीब क्षेत्र को छूने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। जब वह योनि के आस-पास के क्षेत्र को छूने में सक्षम होती है, तो उसे योनि के होंठ, या लेबिया को छूने और खोलने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। 
  • शोध या फैलाव प्रशिक्षण –  एक बार जब कोई महिला बिना दर्द के ऐसा कर सकती है, तो वह प्लास्टिक डायलेटर, या शंकु के आकार का सम्मिलित उपयोग करना सीख जाएगी। अगर वह दर्द के बिना इसे सम्मिलित कर सकती है, तो अगला कदम इसे 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ना होगा, जिससे मांसपेशियों को दबाव में इस्तेमाल किया जा सके। अगला, वह एक बड़ी प्रविष्टि का उपयोग कर सकती है, और फिर वह अपने साथी को सिखा सकती है कि कैसे सम्मिलित करें।(और पढ़े – कंडोम के फायदे व उपयोग)
  • बहुत ही कम मामलो में योनि में सकुंचन को सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है। इसके अलावा कोई महिला योनि के सकुंचन के लक्षणो से प्रभावित हो रही है तो अपने चिकिस्तक से बात करनी चाहिए। 

हमें आशा है की आपके प्रश्न योनि का संकुचन क्या हैं ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको योनि का संकुचन अत्यधिक हो रहा है तो स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Gynecologists in Mumbai

Best Gynecologists in Bangalore

Best Gynecologists in Chennai

Best Gynecologists in Gurgaon