ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्या है । Breast Lift Surgery in Hindi

Login to Health फ़रवरी 26, 2021 Womens Health 29 Views

हिन्दी Bengali

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी का मतलब हिंदी में,   (Breast Lift Meaning in Hindi)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्या है ?

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी को मास्टोपेक्सी व ढीले स्तनों को आकार देने वाली सर्जरी कहा जाता है। यह एक ऐसी सर्जिकल प्रक्रिया है जिसमे स्तनों के आकार में बदलाव किया जाता है। स्तनों के अधिक ऊपर रहने पर ब्रैस्ट की अतिरिक्त त्वचा को हटा दिया जाता है। ब्रेस्ट को ऊपर उठाने के लिए ब्रेस्ट को नया आकार दिया जाता है। हालांकि मुख्य रूप से स्तनो के ढीलेपन दूर करने व स्तनों के आकार को आकर्षक बनाने के लिए किया जाता है। ब्रेस्ट लिफ्ट प्रक्रिया में स्तन के आकार को कम या बढ़ाया जा सकता है। चलिए आज के लेख में आपको ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्या है ? के बारे में विस्तार से बताएंगे। 

  • ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्यों की जाती हैं ? (What are the Purpose of Breast Lift in Hindi)
  • ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी कैसे की जाती हैं ? (What are the Procedure of Breast Lift Surgery in Hindi)
  • ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बाद देखभाल कैसे करें ? (How to Care After Breast Lift Surgery in Hindi)
  • ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बाद क्या जटिलताएं आ सकती हैं ?(What are the Risks of Breast Lift Surgery in Hindi)
  • भारत में ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी कराने का कितना खर्च लगता हैं ? (What is Cost of Breast Lift Surgery in India in Hindi)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्यों की जाती हैं ? (What are the Purpose of Breast Lift in Hindi)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी निम्न स्तिथियो के आधार पर की जा सकती हैं। 

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी कैसे की जाती हैं ? (What are the Procedure of Breast Lift Surgery in Hindi)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी  के पहले चिकिस्तक निदान हेतु निम्न जांच करते है। सबसे पहले शारीरिक करते है जिमे स्तनों के आकार व निप्पल की स्तिथि देखते है। यदि सर्जरी की जरूत है तो मरीज को धूम्रपान व दवाओं का सेवन न करने की सलाह देते है। यदि कोई दवा लेते है तो चिकिस्तक दवा बदल सकता है। सर्जरी के बाद कुछ हफ्तों तक कोई भारी काम नहीं करना है केवल आराम करना चाहिए। 

  • ब्रेस्ट लिफ्ट के प्रक्रिया के दौरान मरीज को सामान्य एनेस्थीसिया दिया जाता है। सामान्य तौर पर यह प्रक्रिया आउट पेशेंट होती है यानि महिला इलाज के दिन घर जा सकती है। कुछ निम्न मामलो में एक दिन अस्पताल में रखा जा सकता है। सर्जरी के दौरान आपकी सुरक्षा के लिए, आपके दिल, रक्तचाप, नाड़ी और आपके रक्त में घूमने वाले ऑक्सीजन की मात्रा की जांच के लिए विभिन्न मॉनिटर का उपयोग किया जाएगा। स्तनों के आकार में बदलाव करने के लिए स्तन की त्वचा को हटाई जाती है। यह प्रक्रिया महिला के ब्रैस्ट आकार व निप्पल की स्तिथि पर निर्भर करता है। 
  • सर्जरी की प्रक्रिया में चिकिस्तक निप्पल के आस पास एक गहरा चीरा लगाता है और ब्रेस्ट के निचे ओर चीरा लगा सकता है। स्तनों के ऊतक में बदलाव होने के बाद स्तनों में टांके लगा देते है। आइसोले के आकार को कम करने के लिए स्तन की बड़ी हुई त्वचा हटाकर निप्पल को उसकी जगह पर लगा देते है। चीरे लगाए गए स्थानों को टांके लगा कर बंद कर देते है या चिपकने वाले गोंद से त्वचा को बंद कर दिया जाता है। 
  • सर्जरी के बाद एक भारी धुंध ड्रेसिंग (पट्टी) आपके स्तनों और छाती के चारों ओर लपेटी जाएगी या आप एक सर्जिकल ब्रा पहन सकती हैं। ड्रेनेज ट्यूब आपके स्तनों से जुड़ी हो सकती हैं।(और पढ़े – गर्भावस्था में तनाव की समस्या)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बाद देखभाल कैसे करें ? (How to Care After Breast Lift Surgery in Hindi)

सर्जरी के बाद मरीज को रिकवरी रूम में शिफ्ट किया जाता है और चिकिस्तक व नर्स की टीम देखरेख करती है। मरीज की स्तिथि के आधार पर अस्पताल से छुट्टी दी जाती है। अच्छी रिकवरी के लिए चिकिस्तक निम्नलिखित सलाह देते हैं। 

  • सर्जरी के बाद मरीज को अधिक आराम करना चाहिए। 
  • सर्जरी के बाद कुछ महीनो तक किसी तरह का भारी वजन न उठाएं। 
  • जब तक चिकिस्तक न कहे तब तक कोई भी झुकने व कूदने वाले व्यायाम न करें। 
  • सर्जरी के बाद कुछ दिनों तक स्तनों में कठोरता व गले में दर्द का अनुभव हो सकता है जो सामान्य होता है। 
  • स्तनों पर दबाव न पडे, इसलिए चिकिस्तक पीठ के बल सोने का निर्देश देते हैं। 
  • स्तनों की देखभाल के लिए स्पोर्ट ब्रा पहने का निर्देश दिया जाता है। 
  • तीन सप्ताह के समय के बाद चिकिस्तक टांके हटा सकते है। 
  • अगर नौकरी वाले है, तो आपके रिकवरी पर निर्भर करता है की एक हफ्ता या दो हफ्ता बाद दोबारा नौकरी पर जा सकते है। 
  • अगर स्तनों में अधिक कठोरता व दर्द का अनुभव हो रहा है, तो चिकिस्तक से संपर्क करें। (और पढ़े – स्तनों में दर्द के घरेलु उपचार)

ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बाद क्या जटिलताएं आ सकती हैं ?(What are the Risks of Breast Lift Surgery in Hindi)

किसी भी तरह की सर्जिकल प्रक्रिया में जोखिम की संभावना होती है, उसी तरह ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बाद निम्न जोखिम हो सकता हैं। चलिए आगे बताते हैं। 

  • सूजन आना। 
  • सुन्न हो जाना। 
  • नीला पड़ जाना। 
  • निशान पड़ना। 
  • कुछ दिनों तक ब्रेस्ट या निप्पल में उत्तेजना लगना। 
  • निप्पल को क्षति पहुंचना। 
  • स्तनों में बदलाव होना। 
  • स्तनपान करवाने में परेशानी होना। (और पढ़े – स्तनपान कराने के फायदे)
  • रक्तस्राव होना। 
  • संक्रमण का खतरा होना। 
  • सर्जरी प्रक्रिया साम्रगी से एलर्जी होना। 

अगर किसी महिला को सर्जरी के बाद अधिक समस्या का अनुभव होता है तो तुरंत चिकिस्तक से संपर्क करें। 

भारत में ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी कराने का कितना खर्च लगता हैं ? (What is Cost of Breast Lift Surgery in India in Hindi)

भारत में ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी कराने का कुल खर्च लगभग INR 1,50,000 से INR 2,00,000 तक लग सकता है। हालांकि भारत में बहुत से बड़े अस्पताल के डॉक्टर है जो ब्रेस्ट लिफ्ट का इलाज करते है। लेकिन सभी अस्पतालों में ब्रेस्ट लिफ्ट का खर्च अलग-अलग है।  (और पढ़े – ब्रेस्ट सर्जरी का इलाज खर्च कितना है)

हमें आशा है की आपके प्रश्न ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी क्या है ? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं। 

अगर आपको ब्रेस्ट लिफ्ट सर्जरी के बारे में अधिक जानकारी व इलाज के लिए (Gynecologist and obstetrician) से संपर्क कर सकते हैं। 

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है।


Best Gynecologist and Obstetrician in Delhi

Best Gynecologist and Obstetrician in Mumbai

Best Gynecologist and Obstetrician in Chennai

Best Gynecologist and Obstetrician in Bangalore