गर्भावस्था में किन चीजों से बचना चाहिए। Pregnancy me Kin Cheezo se Bachna Chahiye in Hindi

फ़रवरी 20, 2020 Womens Health 7725 Views

English हिन्दी Tamil

What to Avoid During Pregnancy Meaning in Hindi

महिलाएं जब गर्भधारण करती है तो उनको अपने सेहत और खानपान का बहुत ध्यान देना पड़ता है। गर्भधारण के पहले खानपान को लेकर कोई चिंता नहीं रहती है किंतु गर्भघारण के बाद शिशु का ध्यान रखना पड़ता है। बहुत सी महिलाओं को सारी जानकारी रहती है क्या करना है और क्या नहीं यह बहुत अच्छी बात है। हालांकि महिलाओं को यह नहीं पता होता है उनको किन चीजों से बचना चाहिए ताकि अपने और बच्चे दोनों का सेहत को जोखिम से दूर रख सके। इस लेख में हम आपको गर्भावस्था में किन चीजों से बचाव करना है इसके बारे में बताने का प्रयास कर रह है।

गर्भवती महिला को किन चीजों से दूर रहना चाहिए ? (Pregnant Mahila ko kin Cheezo se Door Rehna Chahiye

गर्भवती महिला को बहुत सी बातो का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है। जैसे की भोजन, नींद लेना, सुबह टहलना, सही समय पर चिकिस्तक से जांच करवाना आदि। कुछ अध्ययन के अनुसार बतलाया गया है महिलाओं को गर्भावस्था में कुछ चीजों को दूर रखना चाहिए जो महिलाओं को अच्छे से जानकारी नहीं होती है। इसी बारे में इस उत्तर में बता रहे है।

  • एक्सरसाइज कम करना चाहिए – महिलाएं यदि गर्भधारण से पहले एक्सरसाइज करती है तो कोई नुकसान की बात नहीं है बल्कि महिला के सेहत के लिए अच्छा होता है। इससे प्रशव पीड़ा में कमी आती है। लेकिन महिला अगर गर्भधारण कर चुकी है तो ऐसे में अत्यधिक एक्सरसाइज नहीं करना चाहिए। इसके अलावा ऐसे जोखिम वाले एक्सरसाइज न करे जिससे बच्चें को नुकसान पहुंचे। अगर गर्भधारण के बाद आप पहले जैसा एक्सरसाइज करना सोच रही है तो ऐसा बिलकुल भी न करे। यदि आपको गर्भावस्था में कौन सा एक्सरसाइज करना चाहिए इस बारे में जानकारी चाहिए तो किसी एक्सरसाइज एक्सपर्ट से बात करे। (और पढ़े – गर्भावस्था में थकान की समस्या)
  • तनाव मुक्त रहने का प्रयास करें – आमतौर तनाव किसी भी मनुष्य के लिए अच्छा नहीं होता है। खासतौर पर जब महिला गर्भवती हो ऐसी में तनाव सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। तनाव प्रजनन क्षमता को कम करता है। यदि महिला अपने शिशु को तनाव से मुक्त करना चाहती है तो खुद तनाव से दूर रहने का कोशिश करे। कुछ अध्ययन के अनुसार महिला जब तनाव मुक्त रहती है तो बहुत रिलैक्स महसूस करती है। कई महिला तनाव में रहने से गर्भधारण नहीं कर पाती है। तनाव से बाहर निकलने के लिए महिला को अपने आप को शांत करना चाहिए ताकि दिमाग में कोई तनाव वाली बात न याद आये। जो महिला माँ बनना चाहती है उनको अपना तनाव कम करने के लिए थोड़ी व्यायाम और अपने जीवनसाथी से अच्छे से बात करे और अपनी नींद को पूरी करे। इसके अलावा तनाव कम नहीं हो रहा है किसी अच्छे एक्सपर्ट की सलाह ले सकते है। (और पढ़े – एंजायटी क्या है)
  • वजन को संतुलित बनाये – अधिक वजन बढ़ना और कम वजन होना दोनों ही स्तिथि गर्भधारण महिला के सही नहीं होता है। कुछ अध्ययन के अनुसार बहुत वजन व अधिक वजन होने से प्रजनन क्षमता पर काफी प्रभाव पड़ता है जिसके कारण गर्भावस्था में भ्रूण पर असर होता है। शरीर का वजन संतुलित रखना बेहद जरुरी होता है। अधिक वजन बढ़ने से विभिन तरह की समस्या होने का जोखिम रहता है। यदि कोई महिला अपने वजन को सामन्य नहीं रख पा रही है, तो उन्हें किसी विशेष सलाहकार की सलाह लेनी चाहिए। वजन सामान्य रहने से शरीर स्वस्थ रहता है और माँ और बच्चे के लिए अच्छा होता है।
  • आधा पका हुआ अंडा खाने से बचे – अंडा सेहत के लिए लाभदायक होता है यह बात तो हम सब जानते है लेकिन कच्चा अंडा खास तौर उनके लिए सही नहीं है जो गर्भघारण करने की कोशिश कर रही है। अगर महिला कच्चा अंडे का सेवन करती है तो उसको साल्मोनेला संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। यह संक्रमण पेट में होता है जो पेट में दर्द, दस्त, पेडू में दर्द, बुखार होना, ठंडा लगना, सिरदर्द होना, मल में खून आना, मलती व उल्टी आदि समस्या होता है। अगर आप गर्भधारण का सोच रही है तो यह समस्या बाधा उत्पन्न कर सकती है। शायद बहुत लोगो पता नहीं रहता है अंडो में एंटीबायोटिक पाया जाता है, जो जानवरो में डाला जाता है। अगर संभव हो सके तो ऑर्गेनिक अंडो का सेवन करे।

कुछ अन्य सुझाव – महिला को गर्भावस्था के दौरान कच्चा पपीता का सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि इसमें कुछ हानिकारक एंजाइम पाए जाते है जो भ्रूण के लिए हानिकारक होता है। इसके अलावा यह गर्भपात का कारण बन सकता है।

  • महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इनके सेवन से होने वाले शिशु पर बहुत बुरा असर पड़ता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिला को कॉफी और चाय नही पीना चाहिए । इनमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को हानि पहुंच सकता है।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान महिला को कच्चा भोजन नही खाना चाहिए क्योंकि यह पेट में समस्या उत्पन्न करता है। उदाहरण जैसे कच्चे स्प्राउट्स या कच्चा नॉनवेज बिलकुल न खाएं बल्कि अच्छा पौष्टिक पकाया गया भोजन ही खाएं।
  • महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान गर्म चीजों के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि कोई गर्म चीज हो या किसी भी चीज की तासीर गर्म हो वह होने वाले बच्चे के सेहत के लिए नुकसानदायक होती है। (और पढ़े – गर्भवती महिला में तनाव की समस्या)

अगर महिलाओं को गर्भावस्था में किसी तरह की अनियमियता हो रही है, तो उनको बिना किसी देरी के किसी अच्छे स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से संपर्क करना चाहिए।

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। आपको अच्छी सलाह केवल एक चिकिस्तक ही दे सकता है। क्योंकि उनसे अच्छा दूसरा कोई नहीं होता है। 


Login to Health

Login to Health

लेखकों की हमारी टीम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्पित है। हम चाहते हैं कि हमारे पाठकों के पास स्वास्थ्य के मुद्दे को समझने, सर्जरी और प्रक्रियाओं के बारे में जानने, सही डॉक्टरों से परामर्श करने और अंत में उनके स्वास्थ्य के लिए सही निर्णय लेने के लिए सर्वोत्तम सामग्री हो।

Over 1 Million Users Visit Us Monthly

Join our email list to get the exclusive unpublished health content right in your inbox